Urdu Shayari in Hindi | हिंदी में उर्दू शायरी | अध्याय 1


Patthar Samajh Kar Paanv Se Thokar Laga Dee,
Aphasos Teri Aankh Ne Parkha Nahi Mujhe,


Kya Umeeden Baandh Kar Aaya Tha Saamane,
Usane To Aankh Bhar Ke Dekha Nahin Mujhe.


पत्थर समझ कर पाँव से ठोकर लगा दी,
अफसोस तेरी आँख ने परखा नहीं मुझे,


क्या उमीदें बांध कर आया था सामने,
उसने तो आँख भर के देखा नहीं मुझे।


Meree Kismat Mein To Kuchh Yoon Likha Hai,
Kisee Ne Vakt Guzaarane Ke Lie Apana Banaaya,
To Kisee Ne Apana Banaakar Vakt Gujaar Liya !


मेरी किस्मत में तो कुछ यूँ लिखा है,
किसी ने वक्त गुज़ारने के लिए अपना बनाया,
तो किसी ने अपना बनाकर वक्त गुजार लिया !


Jab Ki Tujh Bin Nahin Koee Maujood
Phir Ye Hangaama Ai Khuda Kya Hai


जब कि तुझ बिन नहीं कोई मौजूद
फिर ये हंगामा ऐ ख़ुदा क्या है


Ek Muskaan Too Mujhe Ek Baar De De,
Khvaab Mein Hee Sahee Ek Deedaar De De,


एक मुस्कान तू मुझे एक बार दे दे,
ख्वाब में ही सही एक दीदार दे दे,


Qaasid Ke Aate-Aate Khat Ik Aur Likh Rakhoon
Mai Jaanata Hoon Jo Vo Likhenge Javaab Mein


क़ासिद के आते-आते ख़त इक और लिख रखूँ
मै जानता हूँ जो वो लिखेंगे जवाब में


Aap Khud Nahee Jaanatee Aap Kitanee Pyaaree Ho,
Jaan To Hamaaree Par Jaan Se Pyaaree Ho,


Dooriyon Ke Hone Se Koee Fark Nahin Padata,
Aap Kal Bhee Hamaaree Thee Aaj Bhee Hamaaree Ho!


आप खुद नही जानती आप कितनी प्यारी हो,
जान तो हमारी पर जान से प्यारी हो,


दूरियों के होने से कोई फ़र्क नहीं पड़ता,
आप कल भी हमारी थी आज भी हमारी हो!


Kisee Mod Par Tera Deedaar Ho Jaaye,
Kaash Tujhe Mujh Par Aitabaar Ho Jaaye,


Teree Palaken Jhuke Aur Ikaraar Ho Jaaye,
Kaash Tujhe Bhee Mujhase Pyaar Ho Jaaye.


किसी मोड़ पर तेरा दीदार हो जाये,
काश तुझे मुझ पर ऐतबार हो जाये,


तेरी पलकें झुके और इकरार हो जाये,
काश तुझे भी मुझसे प्यार हो जाये।


Sirph Ishaaron Mein Hotee Mahobbat Agar,
In Alaphaajon Ko Khubasooratee Kaun Deta?


सिर्फ इशारों में होती महोब्बत अगर,
इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता?


Bheegee Huyee Aankhon Ka Ye Manjar Na Milega,
Ghar Chhod Kar Mat Jao Kaheen Ghar Na Milega.


भीगी हुयी आँखों का ये मंजर न मिलेगा,
घर छोड़ कर मत जाओ कहीं घर न मिलेगा।


Aansoo Hain Ye Inhen Os Ka Katara Na Samajhana,
Kaheen Aisa Tumhen Chaahat Ka Samandar Na Milega.


आंसू हैं ये इन्हें ओस का कतरा न समझना,
कहीं ऐसा तुम्हें चाहत का समन्दर न मिलेगा।


Bichhada Is Kadar Kee Rut Hee Badal Gayee,
Ek Shakhs Sare Shahar Ko Veeran Kar Gaya!


बिछड़ा इस कदर की रुत ही बदल गयी,
एक शख्स सारे शहर को वीरान कर गया!


Sukoon Mil Gaya Mujhko Badanaam Hokar,
Aapake Har Ek Ilzaam Pe Yoon Bejubaan Hokar,


Log Padh Hee Lengen Aapki Aankhon Mein Mohabbat,
Chaahe Kar Do Inakaar Yoon Hee Anajaan Hokar.


सुकून मिल गया मुझको बदनाम होकर,
आपके हर एक इल्ज़ाम पे यूँ बेजुबान होकर,


लोग पढ़ ही लेंगें आपकी आँखों में मोहब्बत,
चाहे कर दो इनकार यूँ ही अनजान होकर।


Tera Intezaar Mujhe Har Pal Rahata Hai,
Har Lamha Mujhe Tera Ehasaas Rahata Hai,


Tujh Bin Dhadakne Rkk See Jaati Hai,
Kee Too Mere Dil Mein Meree Dhadakan Banake Rahata Hai.,


तेरा इंतज़ार मुझे हर पल रहता है,
हर लम्हा मुझे तेरा एहसास रहता है,

तुझ बिन धड़कने रुक सी जाती है,

की तू मेरे दिल में मेरी धड़कन बनके रहता है.


Meri Yaadon Mein Tum Ho Ya Mujh Mein Hee Tum Ho,
Mere Khayaalon Mein Tum Ho Ya Khayal Hee Tum Ho,


Dil Mera Dhadak Ke Baar Baar Ye Poochhe,
Meree Jaan Mein Tum Ho Ya Meree Jaan Hee Tum Ho!



मेरी यादों में तुम हो या मुझ में ही तुम हो,
मेरे ख़यालों में तुम हो या ख़याल ही तुम हो,


दिल मेरा धड़क के बार बार ये पूछे,
मेरी जान में तुम हो या मेरी जान ही तुम हो!


Vo Kitaab Lautaane Ka Bahana To Lakhon Mein Tha,
Log Dhoodhate Rahe Saboot Paigaam To Aankhon Mein Tha.


वो किताब लौटाने का बहाना तो लाखों में था,
लोग ढूढ़ते रहे सबूत पैगाम तो आँखों में था।


Ye Waqt Hame Mehsoos Karaata Hai,
Ke Kaun Hamara Dil Dukhaata Hai,


Vakt Ke Saath Kuchh Zakhm Kam Ho Jaate Hai,
Lekin Un Zakhmo Par Phir Se Koi Namak Lagaata Hai.


ये वक्त हमे महसूस कराता है,
के कौन हमारा दिल दुखाता है,


वक्त के साथ कुछ ज़ख्म कम हो जातें है,
लेकिन उन ज़ख्मो पर फिर से कोई नमक लगाता है।


Bas Patthar Ban Ke Rah Jaata Taaj Mahal
Agar Ishq Ise Apanee Pahachaan Na Deta.


बस पत्थर बन के रह जाता ताज महल
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता।


Bheegee Huyee Aankhon Ka Ye Manjar Na Milega,
Ghar Chhod Kar Mat Jao Kaheen Ghar Na Milega.


भीगी हुयी आँखों का ये मंजर न मिलेगा,
घर छोड़ कर मत जाओ कहीं घर न मिलेगा।


Tere Chehare Mein Mera Noor Hoga,
Phir Too Na Kabhee Mujhase Door Hoga,


Soch Kya Khushee Milegee Jaan Us Pal,
Jis Pal Teree Maang Mein,
Mere Naam Ka Sindoor Hoga!


तेरे चेहरे में मेरा नूर होगा,
फिर तू ना कभी मुझसे दूर होगा,


सोच क्या ख़ुशी मिलेगी जान उस पल,
जिस पल तेरी माँग में,
मेरे नाम का सिंदूर होगा!


Naya Ye Daur Hai Lekin,
Vahee Kisse Puraanen Hain,


Mohabbat Ke Jamaane The,
Mohabbat Ke Jamaanen Hain,


Mere Geeton Mein Jo Tumane,
Sune Yaadon Ke Kisse Hai,


Mohabbat Ke Taraanen To,
Abhee Tumako Sunaane Hain.,


नया ये दौर है लेकिन,
वही किस्से पुरानें हैं,


मोहब्बत के जमाने थे,
मोहब्बत के जमानें हैं,


मेरे गीतों में जो तुमने,
सुने यादों के किस्से है,


मोहब्बत के तरानें तो,
अभी तुमको सुनाने हैं।


Zarooree Kaam Hai Lekin Rozaana Bhool Jaata Hoon,
Mujhe Tum Se Mohabbat Hai Bataana Bhool Jaata Hoon,


Teree Galiyon Mein Phirana Itana Achchha Lagata Hai,
Main Raasta Yaad Rakhata Hoon Thikaana Bhool Jaata Hoon,

ज़रूरी काम है लेकिन रोज़ाना भूल जाता हूँ,
मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूँ,


तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है,
मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूँ,


Ab Yoon Hee Khaamosh Nahin Hoon Mai
Apanee Khaamoshiyon Ko Jalaaya Hai


अब यूँ ही खामोश नहीं हूँ मै
अपनी ख़ामोशियों को जलाया है


Lipat Jao Ek Baar Phir Gale Hamaare,
Koee Deevaar Na Rahe Beech Hamaare Tumhaare,


Lipat Jaatee Zaroor Agar Jamaane Ka Dar Na Hota,
Basa Letee Main Tumako Agar Seene Mein Ghar Hota!


लिपट जाओ एक बार फिर गले हमारे,
कोई दीवार ना रहे बीच हमारे तुम्हारे,


लिपट जाती ज़रूर अगर जमाने का डर ना होता,
बसा लेती मैं तुमको अगर सीने में घर होता!


Yaadon Kee Dhundh Mein Aapakee Parachhaee See Lagatee Hai,
Kaano Mein Goonjatee Shahanaee See Lagatee Hai,


Aap Kareeb Hai To Apanaapan Hai,
Varana Seene Mein Saans Bhee Paraee See Lagatee Hai!


यादों की धुंध में आपकी परछाई सी लगती है,
कानो में गूँजती शहनाई सी लगती है,


आप करीब है तो अपनापन है,
वरना सीने में साँस भी पराई सी लगती है!


Tujhase Ru-Ba-Ru Hokar Baaten Karoo,
Nigaahen Milakar Vafa Ke Vaade Karoo,


Thaam Kar Tera Haath Baith Jaoon Tere Saamane,
Teree Haseen Soorat Ke Nazaare Karoo!


तुझसे रु-ब-रु होकर बातें करू,
निगाहें मिलकर वफ़ा के वादे करू,


थाम कर तेरा हाथ बैठ जाऊं तेरे सामने,
तेरी हसीन सूरत के नज़ारे करू!


Qaaphee achchha Lagata Hai,
Jab Bhee Too‍ Hansatee Hai,


Kyonki Tere Ek 
smile Mein 
Meree Jaan Basatee Hai.

क़ाफी अच्छा लगता है,
जब भी तू‍ हँसती है,


क्योंकि तेरे एक smile में 

मेरी जान बसती है.


Usako Chaaha To
Mohabbat Kee Takaleeph Najar Aayee,


Varna Is Mohabbat Kee
Bas Taareeph Suna Karate The.


उसको चाहा तो
मोहब्बत की तकलीफ नजर आयी,

वर्ना इस मोहब्बत की

बस तारीफ सुना करते थे.


Khuda Kee Rahamat Mein Arjiyaan Nahin Chalateen,
Dilon Ke Khel Mein Khud-Garjiyaan Nahin Chalateen.


Chal Hee Pade Hain To Ye Jaan Leejie Hujur,
Ishq Kee Raah Mein Man-Marjiyaan Nahin Chalateen.,


खुदा की रहमत में अर्जियाँ नहीं चलतीं,
दिलों के खेल में खुद-गर्जियाँ नहीं चलतीं।


चल ही पड़े हैं तो ये जान लीजिए हुजुर,
इश्क़ की राह में मन-मर्जियाँ नहीं चलतीं।


Tadap Kar Dekho Kisee Kee Chaahat Mein,
Pata Chalega Ki Intazaar Kya Hota Hai,


Agar Yoonhee Mil Jaata Bina Tadape Koee Kisee Ko,
To Kaise Pata Chalata Ki Pyaar Kya Hota Hai..!


तड़प कर देखो किसी की चाहत में,
पता चलेगा कि इंतज़ार क्या होता है,

अगर यूँही मिल जाता बिना तड़पे कोई किसी को,

तो कैसे पता चलता कि प्यार क्या होता है..!


‘Gaalib’ Chhutee Sharaab Par Ab Bhee Kabhee-Kabhee
Peeta Hoon Roz-I-Abr O Shab-I-Maahataab Mein


‘ग़ालिब’ छुटी शराब पर अब भी कभी-कभी
पीता हूँ रोज़-इ-अब्र ो शब्-इ-माहताब में


Dooriyon Se Rishton Mein Fark Nahee Padata,
Baat To Dil Kee Nazadeekiyon Kee Hotee Hai,


Paas Rahane Se Bhee Rishte Nahee Ban Paate,
Varana Mulaaqaaten To Roz Kitanon Se Hotee Hain!


दूरियों से रिश्तों में फ़र्क नही पड़ता,
बात तो दिल की नज़दीकियों की होती है,


पास रहने से भी रिश्ते नही बन पाते,
वरना मुलाक़ातें तो रोज़ कितनों से होती हैं!


Karj Kee Peete The May Lekin Samajhate The Ki Haan
Rang Laavegee Hamaaree Faaqa-Mastee Ek Din


कर्ज की पीते थे मय लेकिन समझते थे कि हाँ
रंग लावेगी हमारी फ़ाक़ा-मस्ती एक दिन


Raah-E-Vafa Mein Ik Aisa Muqaam Bhee Aaye,
Tere Siva Kisee Aur Kee Justajoo Bhee Na Rahe.


राह-ए-वफ़ा में इक ऐसा मुक़ाम भी आये,
तेरे सिवा किसी और की जुस्तजू भी न रहे।


Apanee Saanso Me Mahakata Paaya Hai Aapako,
Kyoo Na Kare Shiddat Se Yaad Aapako,


Jab Hamaare Pyaar Ke Lie Hee,
Khuda Ne Banaaya Hai Aapako!


अपनी सांसो मे महकता पाया है आपको,
क्यू ना करे शिद्दत से याद आपको,


जब हमारे प्यार के लिए ही,
खुदा ने बनाया है आपको!


Mohabbat Ek Ahasaason Kee,
Paavan See Kahaanee Hai,


Kabhee Kabira Deevaana Tha,
Kabhee Meera Deevaanee Hai,


Yahaan Sab Log Kahate Hain,
Meree Aankhon Mein Aansoo Hain,


Jo Too Samajhe To Motee Hai,
Jo Na Samajhe To Paanee Hai.
,


मोहब्बत एक अहसासों की,
पावन सी कहानी है,


कभी कबिरा दीवाना था,
कभी मीरा दीवानी है,


यहाँ सब लोग कहते हैं,
मेरी आंखों में आँसू हैं,


जो तू समझे तो मोती है,
जो ना समझे तो पानी है।


Agar Mujhe #Samajhana Chaahate Ho,
To Bas #Apana Samajho !


अगर मुझे #समझना चाहते हो,
तो बस #अपना समझो !


Hasarat Hai Sirph Tumhen Paane Kee,
Aur Koee Khvaahish Nahin Is Deevaane Kee,


Shikava Mujhe Tumase Nahin Khuda Se Hai,
Kya Zaroorat Thee Tumhen Itana Khoobasoorat Banaane Kee.,


हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की,
और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की,

शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है,

क्या ज़रूरत थी तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की.


Bas Ek Baar Kar De Too Aane Ka Vaada,
Phir Umr Bhar Ka Chaahe Intajaar De De.


बस एक बार कर दे तू आने का वादा,
फिर उम्र भर का चाहे इन्तजार दे दे।


Na Haara Hai Ishk Aur Na Duniya Thakee Hai,
Diya Bhee Jal Raha Hai Hava Bhee Chal Rahee Hai.


ना हारा है इश्क और न दुनिया थकी है,
दिया भी जल रहा है हवा भी चल रही है।


Phizao Ka Mausam Jaane Ke Baad Bahaaro Ka Mausam Aaya,
Gulaab Se Gulaab Ka Rang Tere Gaalon Par Aaya,


Tere Naino Ne Kaalee Ghata Ka Jab Kaajal Lagaaya,
Javaanee Jo Tum Par Aaee To Nasha Meree Aankhon Mein Aaya!

फिज़ाओ का मौसम जाने के बाद बहारो का मौसम आया,
गुलाब से गुलाब का रंग तेरे गालों पर आया,


तेरे नैनो ने काली घटा का जब काजल लगाया,
जवानी जो तुम पर आई तो नशा मेरी आँखों में आया!


Teree Aankhon Se Pyaar Karoon,
Teree Baaton Se Pyaar Karoon!


Teree Mohabbat Me Doob,
Tujhe Pyaar Mein Subah Shaam Karoon!


Tum Rahe Na Pao Hamaare Bina,
Is Tarah Toot Kar Tujhe Mein Pyaar Karoon!


तेरी आँखों से प्यार करूँ,
तेरी बातों से प्यार करूँ!


तेरी मोहब्बत मे डूब,
तुझे प्यार में सुबह शाम करूँ!


तुम रहे ना पाओ हमारे बिना,
इस तरह टूट कर तुझे में प्यार करूँ!


Agar Main Had Se Guzar Gayee To Mujhe Maaf Karana,
Tere Dil Mein Utaar Gayee To Mujhe Maaf Karana,


Raat Mein Tujhe Dekh Ke Tere Deedaar Kee Khaatir,
Pal Bhar Jo Thahar Gayee To Mujhe Maaf Karana!


अगर मैं हद से गुज़र गयी तो मुझे माफ़ करना,
तेरे दिल में उतार गयी तो मुझे माफ़ करना,


रात में तुझे देख के तेरे दीदार की खातिर,
पल भर जो ठहर गयी तो मुझे माफ़ करना!


Tera Intezaar Mujhe Har Pal Rahata Hai,
Har Lamha Mujhe Tera Ehasaas Rahata Hai,


Tujh Bin Dhadakane Ruk See Jaatee Hai,
Kee Too Mere Dil Me Meree Dhadakan Banake Rahata Hai!


तेरा इंतेज़ार मुझे हर पल रहता है,
हर लम्हा मुझे तेरा एहसास रहता है,


तुझ बिन धड़कने रुक सी जाती है,
की तू मेरे दिल मे मेरी धड़कन बनके रहता है!


Tanhaiyon Mein Muskuraana Ishq Hai,
Ek Baat Ko Sab Se Chhupaana Ishq Hai,


Yoon To Neend Nahin Aatee Hamen Raat Bhar,
Magar Sote-Sote Jaagana Aur,
Jaagate-Jaagate Sona Hee Ishq Hai.,


तन्हाइयों में मुस्कुराना इश्क़ है,
एक बात को सब से छुपाना इश्क़ है,


यूँ तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते-सोते जागना और,
जागते-जागते सोना ही इश्क़ है।


Lena Padega Ishk Mein Tark-E-Vafa Se Kaam,
Parahej Is Marz Mein Hai Behatar Ilaaj Se.


लेना पड़ेगा इश्क में तर्क-ए-वफ़ा से काम,
परहेज इस मर्ज़ में है बेहतर इलाज से।


Bevapha Tum Ho To Vaphaadaar Ham Bhee Nahin,
Besharam Tum Ho To Sharmasaar Ham Bhee Nahin,


Pyaar Ke Is Mod Par Kahate Ho Kee Shaadeeshuda Ho,
To Kya Hua Daarling Kunvaare Ham Bhee Nahin!


बेवफा तुम हो तो वफादार हम भी नहीं ,
बेशरम तुम हो तो शर्मसार हम भी नहीं,


प्यार के इस मोड़ पर कहते हो की शादीशुदा हो,
तो क्या हुआ डार्लिंग कुंवारे हम भी नहीं!


Aankhon Mein Teree Doob Jaane Ko Dil Chaahata Hai!
Ishk Mein Tere Barbaad Hone Ko Dil Chaahata Hai!


Koee Sambhaale Mujhe,
Bahak Rahe Hai Mere Kadam!
Vafa Mein Teree Mar Jaane Ko Dil Chaahata Hai!

आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है!
इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है!


कोई संभाले मुझे,
बहक रहे है मेरे कदम!
वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है!


Kabhee Pahaloo Me Aao To Bataenge Tumhe,
Haal-E-Dil Apana Tamaam Sunaenge Tumhe,


Kaatee Hain Kaise Hamane Tanhaee Kee Ye Raate,
Har Us Raat Kee Tadap Dikhaenge Tumhe!


कभी पहलू मे आओ तो बताएँगे तुम्हे,
हाल-ए-दिल अपना तमाम सुनाएँगे तुम्हे,


काटी हैं कैसे हमने तन्हाई की ये राते,
हर उस रात की तड़प दिखाएँगे तुम्हे!


Zindagee Na Pyaar Assee Tere To Jyaada Nahin Kara de,
Kise Hor Te Aitabaar Assee Tere To Jyaada Nahin Kara de,


Too Jee Sake Mere Bin Eh Ta Changee Gall Hai Sajjana,
Koee Kaard Ke Saath Assee Paar Lavangai Tere Bin Jee O.,


ज़िन्दगी न प्यार अस्सी तेरे तो ज्यादा नहीं करदा,
किसे होर ते ऐतबार अस्सी तेरे तो ज्यादा नहीं कर दे,

तू जी सके मेरे बिन एह ता चंगी गल्ल है सज्जना,

पर अस्सी जी लवंगे तेरे बिन यह वादा नहीं करदे.

Do Baaten Unase Kee To Dil Ka Dard Kho Gaya,
Logon Ne Hamase Poochha Ki Tumhen Kya Ho Gaya,


दो बातें उनसे की तो दिल का दर्द खो गया,
लोगों ने हमसे पूछा कि तुम्हें क्या हो गया,