Showing posts with label 2 Lines Shayari. Show all posts

Latest Two Line Shayari In Hindi | अध्याय 2

April 05, 2022

Latest Two Line Shayari In Hindi 

two line shayari, two line hindi shayari, two line shayari hindi, two line shayari in hindi, two line love shayari, two line shayari for love, two line shayari love, two line shayari on love, two line sad shayari, two line shayari sad, two line shayari romantic, two line shayari urdu, two line urdu shayari, two line shayari in urdu, two line shayari collections hindi, two line shayari in hindi font, two line shayari on zindagi, two line shayari on life, two line shayari of ghalib, two line shayari in punjabi, two line shayari attitude, two line shayari dp, two line shayari on nature, two line shayari in hindi on love, two line shayari on muskan

आज तो हम खूब रुलायेंगे उन्हें,
सुना है उसे रोते हुए लिपट जाने की आदत है!


Aaj To Ham Khoob Rulaayenge Unhen,
Suna Hai Use Rote Hue Lipat Jaane Kee Aadat Hai!


कोई ठुकरा दे तो हँसकर जी लेना,
क्यूँकि मोहब्बत की दुनिया में ज़बरजस्ती नहीं होती!

Koee Thukara De To Hansakar Jee Lena,
Kyoonki Mohabbat Kee Duniya Mein Zabarajastee Nahin Hotee!


कोई ?
माल में खुश है कोई सिर्फ ?
दाल में खुश हैखुशनसीब है वो लोग..
जो हर हाल में खुश है|

Koee?
Maal Mein Khush Hai Koee Sirph ?
Daal Mein Khush Haikhushanaseeb Hai Vo Log..
Jo Har Haal Mein Khush Hai|



किस मुँह से इल्ज़ाम लगाएं बारिश की बौछारों पर,
हमने ख़ुद तस्वीर बनाई थी मिट्टी की दीवारों पर !

Kis Munh Se Ilzaam Lagaen Baarish Kee Bauchhaaron Par,
Hamane Khud Tasveer Banaee Thee Mittee Kee Deevaaron Par !



तूफान भी आना जरुरी है जिंदगी में 
तब जा कर पता चलता है की
कौन हाथ छुड़ा कर भागता है 
और कौन हाथ पकड़ कर

Toophaan Bhee Aana Jaruree Hai Jindagee Mein 

Tab Ja Kar Pata Chalata Hai Kee
kaun Haath Chhuda Kar Bhaagata Hai 
Aur Kaun Haath Pakad Kar

तेरी गली में आकर के खो गये हैं दोंनो.!
मैं दिल को ढ़ूँढ़ता हुँ दिल तुमको ढ़ूँढ़ता है.!


Teree Galee Mein Aakar Ke Kho Gaye Hain Donno.!
Main Dil Ko Dhoondhata Hun Dil Tumako Dhoondhata Hai.!



Rehte Hain Aas-Paas Hi Lekin Saath Nahi Hote..
Kuch Log Jalte Hain Mujhse Bus Qaakh Nahi Hote!



मैंने कहा बहुत प्यार आता है तुम पर..
वो मुस्कुरा कर बोले और तुम्हे आता ही क्या है।

Mainne Kaha Bahut Pyaar Aata Hai Tum Par..
Vo Muskura Kar Bole Aur Tumhe Aata Hee Kya Hai.



Kaisa Ajeeb Rishta Hai Dil Ka,
Dil Aaj Bhi Dhoke Mein Hai Or Dhokebaaz Aaj Bhi Dil Mein.



भूल कर भी अपने दिल की बात किसी से मत कहना,
यहाँ कागज भी जरा सी देर में अखबार बन जाता है!

Bhool Kar Bhee Apane Dil Kee Baat Kisee Se Mat Kahana,
Yahaan Kaagaj Bhee Jara See Der Mein Akhabaar Ban Jaata Hai!



जादू वो लफ़्ज़ लफ़्ज़ से करता चला गया
और हमने बात बात में हर बात मान ली

Jaadoo Vo Lafz Lafz Se Karata Chala Gaya

Aur Hamane Baat Baat Mein Har Baat Maan Lee



टूट जायेगी तुम्हारी ज़िद की आदत उस दिन,
जब पता चलेगा की याद करने वाला अब याद बन गया..

Toot Jaayegee Tumhaaree Zid Kee Aadat Us Din,
Jab Pata Chalega Kee Yaad Karane Vaala Ab Yaad Ban Gaya..



Aye Dil!
Qasam Se Koi Nahi,
Koi Nahi,
Koi Nahi,
Yaqeen Maano Darwaza Faqat Hawa Se Khula



Ek Bewafa Ke Naam Kar Di Thi Zindagi
Us Bewafa Ne Ham Se Zindagi Hi Cheen Li!



Kal Ki Raat Ka Aalam Is Kadar Tha Yaaro,
Uski Yado Ne Meri Ankho Ko Sone Na Diya..



Woh Kab Ka Bhool Chuka Ho Ga Hamari Wafa Ka Qissa..!!
Bichar Kar,
Kisi Se,
Kisi Ko,
Kisi Ka,
Khayal Kab Rehta Hai..!



वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते..
कसूर हर बार गल्तियों का नही होता..

Vaham Se Bhee Aksar Khatm Ho Jaate Hain Kuchh Rishte..
Kasoor Har Baar Galtiyon Ka Nahi Hota..



जिंदगी सफ़र पर निकल चुकी है…
मंजिल कब मिलेगी तू ही बता ये मेरे खुदा..!

Jindagee Safar Par Nikal Chukee Hai…

Manjil Kab Milegee Too Hee Bata Ye Mere Khuda..!



आंखों देखी कहने वाले,
पहले भी कम-कम ही थे

अब तो सब ही सुनी-सुनाई बातों को दोहराते हैं।

Aankhon Dekhee Kahane Vaale,
Pahale Bhee Kam-Kam Hee The

ab To Sab Hee Sunee-Sunaee Baaton Ko Doharaate Hain.

मंज़िलों से गुमराह भी कर देते हैं कुछ लोग
हर किसी से रास्ता पूछना अच्छा नहीं होता.

Manzilon Se Gumaraah Bhee Kar Dete Hain Kuchh Log

Har Kisee Se Raasta Poochhana Achchha Nahin Hota.



Udne De Inn Parindon Ko Ae Dost,
Jo Tere Honge Laut Hi Aayenge Kisi Roz!

मजबूर नही करेंगे तुझे वादे निभानें के लिए,
बस एक बार आ जा,
अपनी यादें वापस ले जाने के लिए..


Majaboor Nahee Karenge Tujhe Vaade Nibhaanen Ke Lie,
Bas Ek Baar Aa Ja,
Apanee Yaaden Vaapas Le Jaane Ke Lie..!



मैं उसकी ज़िंदगी से चला जाऊं यह उसकी दुआ थी,
और उसकी हर दुआ पूरी हो,
यह मेरी दुआ थी।

Main Usakee Zindagee Se Chala Jaoon Yah Usakee Dua Thee,
Aur Usakee Har Dua Pooree Ho,
Yah Meree Dua Thee.



Na Tha Koi Hamara Na Ham Kisi Ke Hain,
Bus Ek Khuda Hai Aur Hum Usi Ke Hain..



दिल से पूछो तो आज भी तुम मेरे ही हो
ये ओर बात है कि किस्मत दग़ा कर गयी।

Dil Se Poochho To Aaj Bhee Tum Mere Hee Ho

Ye Or Baat Hai Ki Kismat Daga Kar Gayee.



चेहरा बता रहा था कि मारा है भूख ने,
सब लोग कह रहे थे कि कुछ खा के मर गया।

Chehara Bata Raha Tha Ki Maara Hai Bhookh Ne,
Sab Log Kah Rahe The Ki Kuchh Kha Ke Mar Gaya.



Teri Judai Ke Shikwey Mai Kis Se Karoon!
Yaha Her Koi Ab Bhi Tujhe Mera Samjhta Hai!



सुनो एक बार और मोहब्बत करनी है तुमसे,
लेकिन इस बार बेवफाई हम करेंगे.


Suno Ek Baar Aur Mohabbat Karanee Hai Tumase,
Lekin Is Baar Bevaphaee Ham Karenge.



कुछ लोग जमाने में ऐसे भी तो होते हैं..
महफिल में तो हंसते हैं तन्हाई में रोते हैं !

Kuchh Log Jamaane Mein Aise Bhee To Hote Hain..
Mahaphil Mein To Hansate Hain Tanhaee Mein Rote Hain !



सिलसिला ये चाहत का दोनो तरफ से था,
वो मेरी जान चाहती थी और मैं जान से ज्यादा उसे।

Silasila Ye Chaahat Ka Dono Taraph Se Tha,
Vo Meree Jaan Chaahatee Thee Aur Main Jaan Se Jyaada Use.



बहुत कुछ खरीदकर भी..
बहुत कुछ बचा लेता था..


आज के जमाने से तो,
वो बचपन का जमाना अच्छा था..

Bahut Kuchh Khareedakar Bhee..
Bahut Kuchh Bacha Leta Tha..

Aaj Ke Jamaane Se To,
Vo Bachapan Ka Jamaana Achchha Tha..



मौत से तो दुनिया मरती हैं...
आशिक तो बस प्यार से ही मर जाता हैं.

Maut Se to Duniya Maratee Hain...
Aashik to Bas Pyaar Se Hee Mar Jaata Hain.



मैने जो पुछा उनसे कि..
यूँ बात बात पे रूलाते क्युँ हो..
वो बङे प्यार से बोली,
मुझे बहता हुआ पानी बेहद पंसद है।

Maine Jo Puchha Unase Ki..
Yoon Baat Baat Pe Roolaate Kyun Ho..
Vo Bane Pyaar Se Bolee,
Mujhe Bahata Hua Paanee Behad Pansad Hai.



तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है,
पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है..!

Tamannao Kee Mahafil To Har Koee Sajaata Hai,
Pooree Usakee Hotee Hai Jo Takadeer Lekar Aata Hai..!



ऐ दिल थोड़ी सी हिम्मत कर ना यार,
चल दोनों मिल कर उसे भूल जाते है।

Ai Dil Thodee See Himmat Kar Na Yaar,
Chal Donon Mil Kar Use Bhool Jaate Hai.



आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक,
कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक..!

Aah Ko Chaahie Ik Umr Asar Hote Tak,
Kaun Jeeta Hai Tiree Zulf Ke Sar Hote Tak..


जिन्दगी की राहों में मुस्कराते रहो हमेशा,
उदास दिलों को हमदर्द तो मिलते हैं,
हमसफ़र नहीं !


Jindagee Kee Raahon Mein Muskaraate Raho Hamesha,
Udaas Dilon Ko Hamadard To Milate Hain,
Hamasafar Nahin !



Main Uske Khyaal Se Niklu Toh Kese Niklu
Woh Meri Soch Ke Har Raste Par Aata Hai!



काश तू बस इतनी सी मोहब्बत निभा दे..
जब मैं रूठूँ तो तू मुझे मना ले…!

Kaash Too Bas Itanee See Mohabbat Nibha De..
Jab Main Roothoon To Too Mujhe Mana Le.



जिन्हें पता है कि अकेलापन क्या होता है,
वो लोगदूसरों के लिए हमेशा हाजिर रहते हैं..

Jinhen Pata Hai Ki Akelaapan Kya Hota Hai,
Vo Logdoosaron Ke Lie Hamesha Haajir Rahate Hain..



ये झूठ है… 
के मुहब्बत किसी का दिल तोड़ती है ,
लोग खुद ही टुट जाते है,
मुहब्बत करते-करत|

Ye Jhooth Hai… 

Ke Muhabbat Kisee Ka Dil Todatee Hai ,
Log Khud Hee Tut Jaate Hai,
Muhabbat Karate-Karat|



तुम बदले तो मज़बूरिया थी
हम बदले तो बेवफा हो गए !

Tum Badale To Mazabooriya Thee

Ham Badale To Bevapha Ho Gae !


अजब मुकाम पे ठहरा हुआ है काफिला जिंदगी का,
सुकून ढूढनें चले थे,
नींद ही गवा बैठे”..!

Ajab Mukaam Pe Thahara Hua Hai Kaaphila Jindagee Ka,
Sukoon Dhoodhanen Chale The,
Neend Hee Gava Baithe”..!



वहां तक तो साथ चलो जहाँ तक साथ मुमकिन है,
जहाँ हालात बदलेंगे वहां तुम भी बदल जाना.


Vahaan Tak To Saath Chalo Jahaan Tak Saath Mumakin Hai,
Jahaan Haalaat Badalenge Vahaan Tum Bhee Badal Jaana.



ये जो छोटे होते है ना दुकानों पर होटलों पर और वर्कशॉप परदरअसल ये बच्चे अपने घर के बड़े होते है
Ye Jo Chhote Hote Hai Na Dukaanon Par Hotalon Par Aur Varkashop Pardarasal Ye Bachche Apane Ghar Ke Bade Hote Hai



चलते रहेगें शायरी के दौर मेरे बिना भी…
एक शायर के कम हो जाने से शायरी खत्म नहीं हो जाती।

Chalate Rahegen Shaayaree Ke Daur Mere Bina Bhee…

Ek Shaayar Ke Kam Ho Jaane Se Shaayaree Khatm Nahin Ho Jaatee.



वो जिनके हाथ में..
हर वक्त छाले रहते हैं..
आबाद उन्हीं के दम पर..
महल वाले रहते हैं|

Vo Jinake Haath Mein..
Har Vakt Chhaale Rahate Hain..
Aabaad Unheen Ke Dam Par..
Mahal Vaale Rahate Hain|



उन घरों में जहाँ मिट्टी के घड़े रहते हैं,
क़द में छोटे हों मगर लोग बड़े रहते हैं|

Un Gharon Mein Jahaan Mittee Ke Ghade Rahate Hain,
Qad Mein Chhote Hon Magar Log Bade Rahate Hain|



Ae Neend Aaja Ke Ab Koi Nahi Hai Paas Mere.!
Ke Jis Ke Liye Tujhe Chora Tha Woh To Kab Kii So Gaye



झूठ कहते हैं लोग कि मोहब्बत सब कुछ 
छीन लेती है,
मैंने तो मोहब्बत करके,
ग़म का खजाना पा लिया|

Jhooth Kahate Hain Log Ki Mohabbat Sab Kuchh 

Chheen Letee Hai,
Mainne To Mohabbat Karake,
Gam Ka Khajaana Pa Liya|



जो बात निकलती है दिल से कुछ उसका असर होता है..
कहने वाला तो रोता है सुनने वाला भी रोता है.


Jo Baat Nikalatee Hai Dil Se Kuchh Usaka Asar Hota Hai..
Kahane Vaala To Rota Hai Sunane Vaala Bhee Rota Hai.


 हर रिश्ते मे सिर्फ नूर बरसेगा..
शर्त बस इतनी है कि रिश्ते में शरारतें करो साजिशें नहीं।


Har Rishte Me Sirph Noor Barasega..
Shart Bas Itanee Hai Ki Rishte Mein Sharaaraten Karo Saajishen Nahin.



दिल मेरा भी कम खूबसूरत तो न था,
मगर मरने वाले हर बार सूरत पे ही मरे !

Dil Mera Bhee Kam Khoobasoorat To Na Tha,
Magar Marane Vaale Har Baar Soorat Pe Hee Mare !



Main Toh Bik Jaun Tere Naam Pe Maut Ki Tarah,
Tu Kabhi Kharidar To Ban,
Is Zingadi Ke Bazaar Mein..



जागना भी कबूल हैं तेरी यादों में रात भर,
तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहाँ |

Jaagana Bhee Kabool Hain Teree Yaadon Mein Raat Bhar,
Tere Ehasaason Mein Jo Sukoon Hai Vo Neend Mein Kahaan |


एक सिगरेट सी मिली तू मुझे.. 
ए आशिकी कश एक पल का लगाया था लत उम्र भर की लग गयी।

Ek Cigarette Se Mili Tu Mujhe..

E Aashiqui Kash Ek Pal Ka Lagaya Tha Lat Umr Bhar Kee Lag Gayee.



तुम भी अच्छे … 
तुम्हारी वफ़ा भी अच्छी,
बुरे तो हम है जिनका दिल नहीं लगता तुम्हारे बिना.


Tum Bhee Achchhe … 

Tumhaaree Vafa Bhee Achchhee,
Bure To Ham Hai Jinaka Dil Nahin Lagata Tumhaare Bina…




TAG:
two line shayari, two line hindi shayari, two line shayari hindi, two line shayari in hindi, two line love shayari, two line shayari for love, two line shayari love, two line shayari on love, two line sad shayari, two line shayari sad, two line shayari romantic, two line shayari urdu, two line urdu shayari, two line shayari in urdu, two line shayari collections hindi, two line shayari in hindi font, two line shayari on zindagi, two line shayari on life, two line shayari of ghalib, two line shayari in punjabi, two line shayari attitude, two line shayari dp, two line shayari on nature, two line shayari in hindi on love, two line shayari on muskan

Read More

Best 2 Lines Shayari in Hindi, दो लाइन के शेर | अध्याय 13

March 17, 2022


दो लाइन के शेर

Rulana Har Kisi Ko Aata Hai
Hasa Na Kisi Kisi Ko Aata Hai

Rula Ke Jo Manale Wo Sacha Yaar Hai
Aur Jo Rula Ke Khud Bhi Ansu Bahaye 

Woh Aap Ka Sacha Pyar Hai…


Best 2 Lines Shayari in Hindi

जिँदगी मेँ दोस्त नही,
बल्कि
दोस्त मेँ जिँदगी होनी चाहिए..


2 Lines Shayari

जीवन का हर पन्ना तो रंगीन नही होता,
हर रोने वाला तो गमगीन नही होता


एक ही दिल को कोई कब तक तोड़ता रहेगा
अब कोई जोड़ता भी है तो यकीन नही होता !



2 line shayari hindi

जीवन में अगर आप कामयाब हो तो सब माफ़ है ..
वर्ना सब आपके बाप है. . .


2 line shayari in hindi

Zakham Dene Ka Andaz Kuch Aisa Hai,
Zakham Dekar Puchte Hai Haal Kesa Hai..

Kisi Ek Se Gila Kya Karna Yaro,
Saari Duniya Ka Mizaj Ek Jesa Hai..



2 line shayari love

पलकों में आँसु और दिल में दर्द सोया है,
हँसने वालो को क्या पता,
रोने वाला किस कदर रोया है,

ये तो बस वही जान सकता है मेरी तनहाई का आलम,
जिसने जिन्दगी में किसी को पाने से पहले खोया है..



2 line shayari on love

लोग पूछते है ये शायरी कैसे बनी ?
मैं कहता हूँ- कुछ आँसू कागज़ पर गिरे और छप गए…



जींदगी गुझर गई सारी कांटो की कगार पर,
और फुलो ने मचाई है भीड़ हमारी मझार पर…..



लोग पूछते हैं..
कौन है वो जो तेरी ये हालत कर गया,

मैं मुस्कुरा के कहता हूँ..
उसका नाम हर किसी के लब पे अच्छा नहीं लगता !



Gum Hai Ya Khushi Hai Tu,
Meri Zindagi Hai Tu….


Meri Saari Umar Mein,
Ek Hi Kami Hai Tu….



“अजीब नींद मेरे नसीब में लिखी है ,
पलकें बंद होती हैं तो दिल जाग जाता है ……!



Main Khush Hu Ke Uski Nafrato’N Ka Akela Waris Hu…!
Mohabbat To Unko Bohat Se Logo’N Se Hai…!



यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे.,
खुशी है कि तुम उम्मीद पर खरे उतरे.!



सोचता हूँ इस दिल मे एक कब्रिस्तान बना लूँ ,
सारे ख्वाब मर रहे हैँ एक एक करके..



सिर्फ हम ही क्यूं रहे नशे में ए साकी..
एक जाम वहां भी दे ,
के मुहब्बत उन्हें भी थी…



जानत!
हूँ कि तुम्हारा होना है । आओ हँस लें कि फिर तो रोना है ।
हमको अपना पता भी याद नहीं,
तेरी आँखों का जादू – टोना है ।


हर तरफ़ प्यार,
प्यार,
प्यार उगे,
बीज ऐसा दिलों में बोना है ।


मौत और ज़िन्दगी का अर्थ है क्या,
साँस का जागना है,
सोना है ।


तू अभी तक बसा है साँसों में,
तुझसे महका ये कोना-कोना है



सांपो के मुक़द्दर में वो ज़हर कहाँ,
जो ईन्सान अदावत में उग़लता है….!



Mahobat Ke Hawale Se Tum Bahot Jaalim Ho
Tod Dete Ho Muje Bhi Apne Wade Ki Taraha..



रानी के बगेर बादशाह की सब चाल अधूरी होती है,
लेकिन मेरी ज़िन्दगी ताश के एक्के की तरह है,
ना तो रानी के आने से फरक पड़ता है या जाने से …



तैरी चाहत तो किसमत की बात है मिले या ना मिले…
पर दिल को राहत जरूर मिल जाती है तुझै अपना सोचकर…



बहुत भीड़ हो गई तेरे दिल में
“जालिम”…
अच्छा हुआ हम वक्त पर निकल
गए….



“जवाब” तो था मेरे पास उन के हर सवाल का…
पर खामोश रहकर मैंने उनको “लाजवाब” बना दिया…



टूटा तारा देखकर मांगते है कुछ न कुछ लोग,
पर अगर वो दे सकता तो खुद क्यूँ तूट जाता…



भरे बाज़ार से अक्सर मैं खाली हाथ आता हूँ,
कभी ख्वाहिश नहीं होती कभी पैसे नहीं होते..



“खुद को खो दिया हमने ,
अपनों को पाते पाते !

और लोग पूछते है ,
कोई तकलीफ तो नहीं” …..



भूख से बड़ा ‘मजहब’ और रोटी से बड़ा 
‘ईश्वर’ हो तो बताना……. ‘धर्म’ बदलना है।



तुम ना-हक नाराज़ हुए,
वरना मयखाने का पता,

हमने हर उस सख्स से पुछा,
जिसके नैन नशीले थे..


शौक पूरे कर लो …
ए दोस्त
ज़िन्दगी तो खुद
ही पूरी हो जाएगी एक
दिन…!



तुम्हें जब कभी मिले फ़ुरसतें मेरे दिल से बोझ उतार दो,
मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो…!



क्या बात है बड़े चुप चाप से बैठे हो,
कोई बात दिल पे लगी है या दिल लगा बैठे हो…



Jabh Suraj Dhalta Hei,
Toe Aashman Ka Rang


Badal Jata Hei;
Jabh Kismat Badalti Hei,


Toe Logo Ka Dhang
Badal Jata Hei.



बस यूँ ही लिखता हूँ,
वजह क्या होगी,

राहत ज़रा सी,
आदत ज़रा सी…



अपनी आदतों के अनुसार चलने में
इतनी गलतिया नहीं होतीं,
जितनी दुनिया का लिहाज रखकर चलने में होती हैं.



तेरी मोहब्बत तेरी वफ़ा तेरा इरादा तू जाने….
में करता हूँ सिर्फ और सिर्फ 
तुझसे ही मोहब्बत ये मेरा खुदा जाने…..

Teri Mohabbat Teri Wafa Tera Irada Tu Jaane….
Me Karta Hu Sirf Or Sirf 
Tujhse Hi Mohabbat Ye Mera Khuda Jaane…..



“तासीर इतनी ही काफी है की वो मेरा दोस्त है,
क्या ख़ास है उसमे ऐसा कभी सोचा ही नही”



Barbaad Karna Tha To Kisi Aur Tareeqe Se Karte….
Zindagi Ban Kar Zindagi Hi Chheen Lee Tum Ne…..



लोग दिखते है जो होते ही नही फिर भी विश्वास मेरी फितरत है ।।



तुझे याद कर लूं तो मिल जाता है सुकून दिल को,
मेरे गमों का इलाज भी कितना सस्ता है ….



मुद्दत का सफर भी था,
ओर बर्षो कि चाहत भी थी,

रुकते तो बिखर जाते,
चलते तो दिल टूट जाते,

यु समझ लो की ……
लगी प्यास गज़ब कि थी,

ओर पानी मे भी ज़हर था,
पीते तो मर जाते,

ओर न पीते तो भी मर जाते….!



जब से देखा है चाँद को तन्हा.,
तुम से भी कोई शिकायत ना रही.!



Jholi Faila Kar Manga Khuda Se
Unhe…
Par Khuda Ne Meri Fariyad Ko Suna Hi Nahi…
Maine Pucha Aakhir Kya Hai Wajah…
To Kaha Kyu Chuna Use Jo Tere Liye Bana Hi Nahi..



आज़ाद परिंदा बनने का मज़ा ह कुछ और है,
अपने शर्तो पे ज़िन्दगी जीने का नशा ही कुछ और हैं. .



तुम ने कहा था…आँख भरके देख लिया करो हमें,
अब आँख भर आती है पर तुम नजर नहीं आते….!



दिल तो सीने में दफ़्न हुआ करता है,
शायद इसलिये….
लोग चेहरे पर फ़िदा हुआ करते हैं…!



‪सबर कर बन्दे मुसीबत के दिन भी गुज़र जायेंगे…
हसी उड़ाने वालो के भी चेहरे उतर जायेंगे…



Car Me Verna Aur Pyar Me Marna Hum Aaj Bhi Pasand Karte Hai.,
Lekin Ford Me Figo Aur Ladki Me Ego Aaj Bhi Hame Pasand Nahi..



Galti Hui Ki Tujhe Jaan Se Bhi Jyada Chahne Lage Hum..
Kya Pata Tha Ki Meri Itni Parvah Tumjhe Laparvah Kar Degi..



आदते अलग हे हमारी दुनिया वालो से,
कम दोस्त रखते हे मगर
लाजवाब रखते है-


क्योंकि बेशक हमारी माला छोटी है-
पर फूल उसमे सारे गुलाब रखते हे…



मुनासिब समझो तो सिर्फ इतना ही बता दो…
दिल बैचैन हैं बहुत,
कहीं तुम उदास तो नहीं…



विपरीत परस्थितियों में कुछ लोग टूट जाते हैं ,
तो कुछ लोग लोग रिकॉर्ड तोड़ते है



उम्र ए जवानी फिर न मुस्कुराई बचपन की तरह,

मेने साइकिल भी खरीदी,
और खिलोने भी खरीद कर देख लिये..



काँटों से कहाँ डर है फूलों से खौफ करिये
चुभन तो भूल जायेंगे खुशबू दिल से न जाएगी..



मुझे रुलाने की सारी कोशिशे नाकाम रही ना जिन्दगी तेरी ,
तुझे ये कोन समझाए कि दर्द से दोस्ती बेहिंतिआ हे मेरी।।।।



यह ग़लत कहा तुमने…..
कि मेरा पता नही हे,

मुझे ढुँढने की हद तक कोई ढुँढता ही नही..



तुम मेरे रूठने पर इस तरह मनाती हो…
कभी तो ज़ी चाहता है बे-वजह तुमसे रूठ जाऊं…!



Mukammal He Taqdir Teri…
Badalneki Koshish Mat Kar…
Mitti Ka Putla He Bas Tu….
Sirf Aajmaayis Kar…



फिर इश्क़ का जुनूं चढ़ रहा है सिर पे ,
मयख़ाने से कह दो दरवाज़ा खुला रखे !



मत किया कीजे दिन के उजालों की ख्वाहिशें
दोस्त…
ये आशिक़ों की बस्तियाँ हैं यहाँ सूरज से नहीं
दीदार से दिन निकलता है…..



श़राब और मेरा…
ब्रेकअप ..
सैकड़ों बार हो चुका है!

हर बार कमबख़्त….

मुझे मना लेती हे…….



मजा आता है किस्मत से लड़ने में,
किस्मत आगे बढ़ने नहीं देती
और मुझे रुकना आता नहीं..



एक निवाले के लिए मैंने जिसे मार दिया,
वह परिन्दा भी कई दिन का भूखा निकला ।



कोई बात तो है तुझमें ज़ुदा सी,
देखूँ जितना भी तुझे कम ही लगता है।



मत सोचना मेरी जान से जुदा है तू;
हकीकत में मेरे दिल का खुदा है तू।



जब गिला शिकवा अपनों से हो तो ख़ामोशी भली…,
अब हर बात पर जंग हो जरूरी तो नहीं,

इक मशवरा चाहिए था साहेब !
दिल तोड़ा है इक बेवफा ने ,
जान दे दूं या जाने दूं ।



चलता रहूँगा मै पथ पर,
चलने में माहिर बन जाउंगा,

या तो मंज़िल मिल जायेगी,
या मुसाफिर बन जाउंगा !



Naa Jane Q..
Magar Is Jhoothi Dunya K Jhootay Log,
Wafain Kar Nhi Saktay Waday Hazaar Kartay Hain…



तू जीद है दिल की वरना इन आँखों ने और भी चहरे देखे हैं..



रोज़ इक ताज़ा शेऱ कहां तक लिखूं तेरे लिए,
तुझमें तो रोज़ ही एक नयी बात हुआ करती है



Sookhe Patton Se Pyaar Kar Lenge
Hum To Tum Par Etbaar Kar Lenge
Tum Ye To Kaho,
Tum Humare Ho Sanam
Hum Zindagi Bhar Intezaar Kar Lenge..



Honth Mila Diye Usne Mere Hotho Se Ye Kehkar…
Cigarette Pina Chhod Do..

Kya Mere Hontho Me Nasha Nahi Hai!



लोग कहते है की दुनिया की सबसे सख्त सजा है इंतज़ार,
पर ये जिंदा रहने का एक बहाना भी तो है….



Wo Mere Liye Kuch Khaas Hai Yaaro,
Jinke Laut Aane Ki Na Koi Aas Hai Yaaro,

Wo Najro Se Door Hai To Kya Hua,
Banke Dil Ki Dhadkan Mere Paas To Hai Yaaro….



लोगों ने रोज़ कुछ नया मांगा खुदा से,
एक हम ही तेरे ख्यालों से आगे नहीं गये।!



मंज़िलों से गुमराह भी ,
कर देते हैं कुछ लोग ।।


हर किसी से ,
रास्ता पूछना ,
अच्छा नहीं होता ।



मैं खुद कभी बेचा करता था दर्दे दिल की दवा…
पर ए दोस्त…
“आज वक़्त मुझे अपनी ही दुकान पर ले आया…!



हमको तो बेजान चीज़ों पर भी प्यार आता है….यारा,
तुझमें तो फिर भी मेरी जान बसी है….



Mera Waqt B Qayamat Ki Tarah Hai. 
Yaad Rakhna Aayega Zarur.



Ajeeb Hai Mohabbat Ke Dastoor Bhi.,
Ruth Koi Jaata Hai,
Toot Koi Jaata Hai….



निगाहों से भी चोट लगती है
जब हमें कोई देखकर भी अनदेखा कर देतें हैं !



दिल-दिल से मिले या न मिले हाथ मिलाओ..
हमको ये सलीक़ा भी बड़ी देर से आया…



रात क्या ढली कि सितारे चले गये,
गैरों से क्या कहें हम जब अपने ही चले गये,

जीत तो सकते थे हम भी इश्क की बाज़ी,
पर तुम्हे जितने के लिए हम हारते चले गये



“बेवफा लोग बढ़ रहे हैं धीरे धीरे
इक शहर अब इनका भी होना चाहिए……!



“इन हसीनो से तो कफ़न अच्छा है,
जो मरते दम तक साथ जाता है,

ये तो जिंदा लोगो से मुह मोड़ लेती हैं,
कफ़न तो मुर्दों से भी लिपट जाता है.”



आज फिर तन्हा रात में इंतज़ार है उस शख्स का,
जो कहा करता था तुमसे बात न करूँ तो नींदनहीं आती…



एक नफरत ही हैं जिसे,
दुनिया चंद लम्हों में जान लेती हैं.


वरना चाहत का यकीन दिलाने में,
तो जिन्दगी बीत जाती हैं..



प्यार का तोफा हर किसी को नहीँ मिलता,
ये वो फूल है जो हर बाग मे नही खिलता,

इस फुल को कभी टूटने मत देना,
क्योकि तुटा हुआँ फुल वापीस नहीँ खिलता.



Bahut Haseen Tha,
Jahan Se Pyaara Tha,
Dil Ka Sukoon Tha,

Aankh Khuli To Pata Chala 

Woh To Mera Khwaab Tha…!



हमें तुमसे मोहब्बत न होती,
सिर्फ दो ही हालत में…


या “तुम” बने न होते,
या ये दिल बना न होता…



Muhabbatein Or Bhi Badh Jati Hain Juda Hone Se…
Tum Sirf Mere Ho Is Baat Ka Khayal Rakhna..



अजीब नींद मेरे नसीब में लिखी है ,
पलकें बंद होती हैं तो दिल जाग जाता है !



कुछ तो बात है उसकी फीतरत मै,
वरना उसे चाहने की खता हम बार-बार न करते…!



मेरे दोस्तों ने इकट्ठा किया मेरे ही कत्ल का सामान,
मैंने उनसे कहा,
यारो तुम्हारी नफरत ही काफी थी मुझे मारने के लिए……



तू चाँद और मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशियाना हमारा होता,

लोग तुम्हे दूर से देखते,
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता.



वजह पूछ मत तू मेरे रोने कि
तेरी मुस्कराहट पे ख़ुशी के दो आंसू गिर गए….



ना छेड़ किस्सा ए उल्फत ,
बड़ी लम्बी कहानी है ।।


मैं जमाने से नहीं हारा ,
बस किसी की बात मानी है…..



Ajab Aarzu Hei,
Anokhi Adaa Hei
Tuji Se Tuje Maagna Chaahta Hu..



लोग कहते हैं कि मेरा दिल पत्थर का है..
लेकिन कुछ लोग ऐसे भी थे..
जो इसे भी तोड़ गए..



तुझको देखा तो फिर उसको ना देखा ग़ालिब..
चाँद कहता रह गया,
मैं चाँद हूँ मैं चाँद हूँ….




TAG:
2 line shayari, 2 line shayari hindi, 2 line shayari in hindi, 2 line shayari love, 2 line shayari on love, 2 line shayari sad, 2 line shayari in hindi sad, 2 line shayari sad in hindi, 2 line shayari in hindi love, 2 line shayari love in hindi, 2 line shayari on love in hindi, 2 line shayari in urdu, 2 line shayari urdu, 2 line romantic shayari, 2 line english shayari, 2 line shayari in english, 2 line shayari on dosti, 2 line shayari on life, zindagi shayari 2 line, 2 line shayari on zindagi, 2 line zindagi shayari, 2 line shayari attitude, 2 line shayari on eyes

Read More

Best 2 Lines Shayari in Hindi, दो लाइन के शेर | अध्याय 2

March 17, 2022

Best 2 Lines Shayari in Hindi,


2 line shayari, 2 line shayari hindi, 2 line shayari in hindi, 2 line shayari love, 2 line shayari on love, 2 line shayari sad, 2 line shayari in hindi sad, 2 line shayari sad in hindi, 2 line shayari in hindi love, 2 line shayari love in hindi, 2 line shayari on love in hindi, 2 line shayari in urdu, 2 line shayari urdu, 2 line romantic shayari, 2 line english shayari, 2 line shayari in english, 2 line shayari on dosti, 2 line shayari on life, zindagi shayari 2 line, 2 line shayari on zindagi, 2 line zindagi shayari, 2 line shayari attitude, 2 line shayari on eyes
Faasle Aise Bhi Honge Yeh
Kabhi Socha Na Tha,

Saamne Betha Tha Mere 

Aur Woh Mera Na Tha.



Kitna Pyaar Karte Hum Unse,
Kaash Unhe Bhi Ye Ehsas Ho Jaye,


Kahi Aisa Na Ho Ki Woh Hosh Mein Tab Aaye
Jab Hum Kisi Aur Ke Ho Jaye.



क्यूँ शर्मिंदा करते हो रोज,
हाल हमारा पूँछ कर..
हाल हमारा वही है,
जो तुमने बना रखा है..



हमारे दरमियाँ कुछ तो रहेगा
चाहे वो फ़ासला ही सही …



जिंदगी बस इतना अगर दे तो काफी है …
सर से चादर न हटे ,
पांव भी चादर में रहे …



कर दिया कुर्बान खुद को हमने वफ़ा के नाम पर; 
छोड़ गए वो हमको अकेला मजबूरियों के नाम पर।



“हम तो फना हो गए उनकी आँखे देखकर,
ग़ालिब ना जाने वो आइना कैसे देखते होंगे”



“यूँ ही जिंदगी की कशमकश में थोड़ा उलझ गये हैं यारों,
वरना हम तो दुश्मनों को भी अकेला महसूस होने नहीं देते!”



मैं अगर चाहु भी तो शायद ना लिख सकूं उन लफ़्ज़ों को!
जिन्हे पढ़ कर तुम समझ सको की मुझे तुम से कितनी मोहब्बत है!!



मेरे अपने कहीं कम न हो जाएँ
इस डर से हमने मूसीबत में भी
किसी अपने को आजमाया नहीं ॥



साँसों का टूट जाना,
तो आम सी बात है दोस्तों
जहाँ अपने बदल जाये,
मौत तो उसे कहते है.



Jab Mein Nai Tha Peeta…
Mere Yaar Kehte They Pee Pee.


Ab Adat Ho Gai Peene Kee…
Tho Yaar Kehte Hai Chhee Chhee.



Har Pal Najre Unhe Dekhna Chahe To Aankho Ka Kya Kasoor ?
Har Pal Khusbu Unki Hi Aaye Toh Saanso Ka Kya Kasoor ?


Vaise Toh Sapne Kabhi Puch Kar Nahi Aate,
Par Agar Sapne Hi Unke Aaye Toh Raato Ka Kya Kasoor ?



कभी तुम मुझे अपना तो कभी गैर करते गये,
देख मेरी नादानी हम सिर्फ तुम्हे अपना कहते गये…!



दिल दुखाया करो इजाज़त है,
भूल जाने की बात मत करना .



Dafan Karna Mujhe Apni Ankhon Me.
Ye Meri Aakhri Wasiyat Hai..!



क्या खूब होता जो यादें भी रेत होतीं,
मुट्ठीसे गिरा देते पाँवों से उड़ा देते



कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है.!



खुशी कहाँ हम तो गम चाहते है,
खुशी उसको दे दो,
जिसको हम चाहते है .



Main Jo Chahu To Tod Du Naata Tumse
Par Mein Buzdil Hu
Maut Se Darr Lagta Hai …



तजुर्बे ने एक बात सिखाई है…
एक नया दर्द ही…
पुराने दर्द की दवाई है…!



वो कहते हैं हम उनकी झूठी तारीफ़ करते हैं
ऐ ख़ुदा एक दिन आईने को भी ज़ुबान दे दे..



काश फिर मिलने की वजह मिल जाए,
साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए,


चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें,
क्या पता ख़्वाबों में गुज़रा हुआ कल मिल जाए…



“उस दिन भि काहा था और
आज फिर सुन ले,
सिरफ उमर ही छोटी है.
लेकिन,
सलाम तो सारी दुनिया
ठोकती है….!



अपने अहंकार को काबु मे करना सीख लो
जीतना जल्दी सीखजाओगे उतना आगे बढपाओगे ॥



शराब को तब तक अन्दर जाने दो…
जब तक शराब बाहर ना आने लगे…



तमाम उम्र इसी बात का गुरुर रहा मुझे …
किसी ने मुझसे कहा था की हम तुम्हारे है !



जिस दिन भी तेरी याद टूट कर आती है “ऐ जान”
मेरी आँखों के साथ ये बारिश भी बरस जाती है…



लोग कहते हैं कि वक़्त किसी का ग़ुलाम नहीं होता,
फिर ‘तेरी मुस्कराहट’ पे वक़्त क्यूँ थम सा जाता है…!!



ग़म ने क्या खूब याद रखा है मेरे दिल का पता
बस ये खुशियाँ ही तो आवारा निकली…..!!



ज्यादा बोज लेकर चलनें
वाला अक्सर डुब ज़ाता है,
चाहे वो “सामान” का हो
या “अभीमान” का हो .



Itnaa To Rulaa Diya Hota Ke
Aansoo Hi Chalak Aate,
Palkon Mein Ruke Hue Aansoun
Ka Dard Saha Nai Jata……



फाँसी लगा ली गिरगिट ने खुदा से ये कहके…
दुनिया में रँग बदलने में इन्सान हमसे आगे हैं!!



फिर से ले जाये मेरी ज़ात से तू इश्क़ उधार
और मैं फिर से तेरे हुस्न पे बाक़ी हो जाऊँ…



Muhabbat Haar Ke Jeena Bohat Mushkil Hota Hai
Usse Bus Itna Bata Dena
Bhram Toda Nahi Karte..



तू इस कदर इन्सान को इतना बेबस ना बना मेरे खुदा!
की तेरा बन्दा तुजसे पहले किसी और के आगे झुक जाये!!



Tame Vaato Karo To Thodu Saru Lage,
Aa Dur Nu Aakash Mane Maru Lage…



“न जाने कब खर्च हो गये ,
पता ही न चला,
वो लम्हे ,
जो छुपकर रखे थे जीने के लिए”…



नजरों में दोस्तों की जो इतना खराब है,
उसका कसूर ये है कि वो कामयाब है।



तमन्नाओ की महफ़िल…..
तो हर कोई सजाता है,
पूरी उसकी होती है……
जो तकदीर लेकर आता है..!



Khuda Kare Jindagi Me Ye Makam Aaye
Tujhe Bhulne Ki Dua Karu Aur
Dua Me Tera Naam Aaye.



दर्द से जाने ये कैसा मेरा नाता है,,
इंतजार करू गर वक्त बदलने का,
वक्त से पहले दर्द बदल जाता है…



Kal Raat Khwab Me Aapki Tasveer Bana Dali,
Itni Achchi Lagi K Dil Se Laga Dali,


Jab Hua Khauf K Koi Chura Na Le Use,
To Itna Roye K Apane Aaansuo Se Hi Mita Daali….



बेटियां सब के मुक़द्दर में कहाँ होती हैं.
घर खुदा को जो पसंद आये वहां होती हैं..



अक्सर पूछते है लोग,
किसके लिए लिखते हो …?
अक्सर कहता है दिल…..
”काश कोई होता”…!



Ye Doriyan To Mita Doon Mein
Ek Pal Mein Magar !


Kabhi Kadam Nahi Chalte
To Kabhi Raste Nahi Milte !



वक़्त बहुत कुछ,
छीन लेता है …
खैर मेरी तो सिर्फ़ मुस्कुराहट थी ..



मेरी बहादुरी के किस्से मशहुर थे शहर में ,
तुझे खो देने के डर ने कायर बना दिया ।



कोई ताबीज ऐसा दो की मैं चालाक हो जाऊ
बहुत नुकसान देती है मुझे ये सादगी मेरी ।



हम भटक कर जुनूँ की राहों में।।
अक़्ल से इन्तक़ाम लेते हैं।।



लोग मन्जिल को मुश्किल समझते है,
हम मुश्किल को मन्जिल समझते है,


बडा फरक है लोगो मे ओर हम मै,
लोग जिन्दगी को दोस्त ओर
हम दोस्त को जिन्दगी समझते है.



देखते है अब किस की जान जायेगी;
उसने मेरी और मेने उसकी कसम खाई हैं!



पी लिया करते हैं जीने की तमन्ना में कभी,
डगमगाना भी जरूरी है संभलने के लिए।



फिक्रमंद हूँ आजकल तेरे बारे मेँ सोच के,
यूँ मुझपर गौर करोगे तो मुझसे मुहब्बत हो जाएगी!!



कोशिशें मुझको मिटाने की भले हों कामयाब
मिटते-मिटते भी मैं मिटने का मजा ले जाऊँगा


शोहरतें जिनकी वजह से दोस्त दुश्मन हो गये
सब यही रह जायेंगी मैं साथ क्या ले जाऊँगा



“कम से कम दो चार लोगों से रिश्ते बनाये रखिये,
क्युंकि
कब्र तक लाश को दौलत नहीं ले जाया करती ।”



Bhagvan Ne Cheezein Istemal Krne Aur
Log Mohabbat K Liye Bnaye Hain..

Magar Insaan Chezon Se Mohabbat Aur

Logon Ko Istemal Karte Hain.



हाथ में पैमाना ,
उँगलियों में सिगरेट फँसा है …


धुआँ धुआँ यादें हैं,
हकीकत बस नशा है….



तेरे जल्वो ने यह कैसी शर्त रख दी,
कि खुश्बु दैखने की शर्त रख दी..



Jaise Log Sharab Me Soda Aur Pani Milate He
Waise Hi Hum Teri Yaad Me
Sharab Milate He..



किसी को चोट पहुँचाकर माफी माँगना बहुत आसान है
लेकिन
खुद चोट खाकर किसी को माफ करना बहुत मुश्किल है



“Hum Baney Hi They Tabaah Hone K Liye!
Tera Milna To Ek Bahana Tha”



“दोनों आखों मे अश्क दिया करते हैं
हम अपनी नींद तेरे नाम किया करते है
जब भी पलक झपके तुम्हारी समझ लेना
हम तुम्हे याद किया करते हैं ”



Dilon Ka Khel Jo Khelo To Yeh Bhool Mat Jana,
K Khel Khel Main Aksar
Khilonay Toot Jate Hain.



Vicharto Nthi Hu,
Pan Koi Vicharva Majbur Kari Jay Chhe.


Aaj Sudhi Em Nthi Smjatu Ke,
Nankda Aa Dil Ma Aakhe Aakhi Vyakti Km Utri Jay Chhe.!!



काश आंसुओ के साथ यादे भी बह जाती …
तो एक दिन तस्सली से बैठ के रो लेते…



Na Pocho Ke Meri Manjil Kaha Hai
Abhi To Safar Ka Irada Kiya Hai
Na Haronga Hosla Umar Bhar
Ye Mene Kisi Se Nahi Khud Se Vadha Kiya Hai…



अगर इतनी नफरत है मूझसे तो कोई ऐसी दुआ कर की.
तेरी दुआ भी पुरी हो जाए और मेरी जिंदगी भी.



मिट्टी के खिलौने भी सस्ते ना थे मेले में,
माँ-बाप बहुत रोये घर आ के अकेले में!



यूँ गलत भी नहीं होती चेहरों की तासीर लेकिन
लोग वैसे भी नहीं होते,
जैसे नज़र आते है…

मोहबत किताबो में और
शायरी में ही अच्छी लगाती हे
ज़िन्दगी में नहीं…!



ज़िन्दगी मेरे कानों में अभी हौले से कह गई.
उन रिश्तों को थामे रखना जिन के बिना गुज़ारा नहीं …



आज वो काबिल हुए,
जो कभी काबिल ना थे,


और मंज़िलें उनको मिली,
जो दौड़ में शामिल ना थे



फिर नहीं बसते वो दिल जो एक बार टूट जाते हैं…!
कब्रे कितनी ही सवारो कोई ज़िंदा नहीं होते हे…!



Zidd Par Ishq Agar Aa Jaaye
Paani Chhidak Ke Aag Lagaaye..



वो कहते हैं न …
कि कुछ सोच लो बेहतर…
तो बेहतर होगा …


मैंने सोचा कि बेहतर है…
तुझे सोचूं ..
तुझसे बेहतर क्या होगा..!



Tu Saath Hokar Bhi Saath Nahi Hoti …
Ab Toh Rahat Mein Bhi Rahat Nahi Hoti…



“Ek Aur Shaam Beet Chali Hai Tujhe Chahte Huye.,!
Tu Aaj Bhi Bekhabar Hai Beete Huye Kal Ki Tarah.!



सो जाऊ के तेरी याद में खो जाऊ…
ये फैसला भी नहीं होता और सुबह हो जाती है…



मैं हूँ,
दिल है,
तन्हाई है
तुम भी होते,
अच्छा होता..



“ना वोह आ सके ना हम कभी जा सके,
ना दर्द दिल का किसी को सुना सके.


बस बैठे है यादों में उनकी,
ना उन्होंने याद किया और
ना हम उनको भुला सके.”



अजीब फितरत है उस समंदर की
जो टकराने के लिए पत्थर ढुंढता है..



बस इतना ही फर्क है तेरी बेरुखी के बाद।,
कि तुने खंजर मारा और हमने शायरी नवाजी।..



Kamaa Ke Itni Daulat Bhi
Main Apni Maa Ko De Na Paya..
Jitne Sikkon Se Maa Meri Nazar Utaara Karti Thi !



Aa Sikha De Mujhe Andaaz Mukar Jaane Ka…..
Waade Nibha Nibha Ke Thak Sa Gaya Hu Main…



आइना देखा जब ,
तो खुद को तसल्ली हुई…
ख़ुदग़र्ज़ी के ज़माने में भी
कोई तो जानता है हमें।



कांटे तो नसीब में आने ही थे.!
फूल जो हमने गुलाब चुना था.!



बदल जाती हो तुम !
कुछ पल साथ बिताने के बाद……
यह तुम मोहब्बत करती हो या नशा….



तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी मुझे,
मैं आज अपने पैरों की आहट से डर गया।।।



Ekka Chahe Kitna Bhi Bda Ho Magar
Rani Sirf Badshah Ki Hi Hoti Hai..



लम्हा-लम्हा बनता जीवन,
इस जीवन में कुछ लम्हे हैं!


इन लम्हों में से कुछ लम्हे,
तेरे मेरे संग गुज़रे हैं!!



तेरा ईगो तो दो दिन की कहानी है ..
लेकिन अपनी अकड़ तो बचपन से ख़ानदानी है..



“नामुमकिन” ही सही मगर,
“महोब्बत” तुजसे ही है..!



घांव इतना गहरा है बयां क्या करे,
हम खुद निशाना बन गये अब वार क्या करे,


जान निकल गयी मगर खुली रही आंखें,
अब इससे ज्यादा उनका इंतजार क्या करे.



हमारे अल्फाज़ को ना करो इतना पसंद…
के हमारे शायराना अंदाज से आपको मोहब्बत हो जाये..!



Roya Wo Aasman Bhi Kisi Ki Yaad Me..
Shayad Koi Kissa Uske Andar Hi Dafan Tha..



तुम मुझे अब याद नहीं आते…
तुम मुझे याद हो गये हो अब…



Kaha Jana Tha Or Kaha Aa Gaye,
Zindagi Me Mehman Bankar Aa Gaye,

Abhi Zindagi Ki Kitaab Kholi Thi Or

Na Jane Kitne Imtihaan Aa Gaye.



माना कि तेरे शहर में ग़रीब कम होंगे,
अगर बिकी तेरी दोस्ती तो पहले ख़रीददार हम होंगे ….


तुझे ख़बर न होगी तेरी क़ीमत पर,
पर तुझे पाकर सबसे अमीर होंगे!



आलम ये है कि उपवास में खाने के लिए
चिप्स खरीदने जाता हूँ तो लोगों को लगता है
कि आज घर में दारु पीने का कुछ प्लान है !



TAG:
2 line shayari hindi, 2 line shayari in hindi, 2 line shayari on love, 2 line shayari in hindi sad, 2 line shayari sad in hindi, 2 line shayari in hindi love, 2 line shayari love in hindi, 2 line shayari on love in hindi, 2 line shayari in urdu, 2 line shayari urdu, 2 line romantic shayari, 2 line english shayari, 2 line shayari in english, 2 line shayari on dosti, 2 line shayari on life, zindagi shayari 2 line, 2 line shayari on zindagi, 2 line zindagi shayari, 2 line shayari attitude, 2 line shayari on eyes

Read More