Desh Bhakti Shayari अध्याय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

50+ Desh Bhakti Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी | अध्याय 1

अगस्त 16, 2019



desh bhakti shayari, desh bhakti shayari in hindi, desh bhakti, heart touching desh bhakti shayari, deshbhakti shayari, heart touching desh bhakti shayari in hindi, desh bhakti shayari hindi, desh bhakti shayari hindi mai,  deshbhakti shayri in hindi, deshbhakti shayari in hindi 2019, desh bhakti shayari video, desh bhakti geet, shayari in hindi, desh bhakti shayari image, patriotic shayari in hindi
देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमें
अखंड भारत के सपने का जूनून है हमें

 Desh Ke Lie Mar Mitana Kubool Hai Hamen
Akhand Bhaarat Ke Sapane Ka Joonoon Hai Hamen


लड़े जंग वीरों की तरह,
जब खून खौल फौलाद हुआ |

मरते दम तक डटे रहे वो, 
तब ही तो देश आजाद हुआ ||

Lade Jang Veeron Kee Tarah,
Jab Khoon Khaul Faulaad Hua |
Marte Dam Tak Date Rahe Vo,
Tab Hee to Desh Aajaad Hua ||


चूमा था वीरों ने फांसी का फंदा
यूँ ही नहीं मिली थी आजादी खैरात में

Chooma Tha Veeron Ne Phansi Ka Phanda
Yoon Hee Nahin Milee Thee Aajaadee Khairaat Mein


चैन ओ अमन का देश है मेरा, 
इस देश में दंगा रहने दो
लाल हरे में मत बांटो, 
इसे शान ए तिरंगा रहने दो

Chain O Aman Ka Desh Hai Mera, 
is Desh Mein Danga Rahane Do
Laal Hare Mein Mat Baanto, 
Ise Shaan E Tiranga Rehne Do


दिलों की नफरत को निकालो
वतन के इन दुश्मनों को मारो
ये देश है खतरे में ए -मेरे -हमवतन
भारत माँ के सम्मान को बचा लो

Dilon Ki Nafrat Ko Nikalo
Watan Ke in Dushmano Ko Maaro
Ye Desh Hai Khatre Mein E -mere -hamvatan
Bhaarat Maan Ke Samman Ko Bacha Lo


मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा
ये मुल्क मेरी जान है
इसकी रक्षा के लिए
मेरा दिल और जां कुर्बान है

Main Mulk Ki Hifazat Karunga
Ye Mulk Meree Jaan Hai
IshKi Raksha Ke Liye
Mera Dil Aur Jaan Kurbaan Hai


शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा

Shaheedon Ki Chitaon Par Lagenge Har Baras Mele,
Watan Pe Mar Mitne walon Ka Baakee Yahi Nishaan Hoga


अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

Anekata Mein Ekata Hee is Desh Kee Shaan Hai,
Isee liye Mera Bharat Mahaan Hai


हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम भारतीय हैं 
– जय भारत, वन्दे मातरम

Hamaaree Pahachaan to Sirph Ye Hai Ki Ham Bhaarateey Hain 
– Jay Bharat, Vande Mataram


मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

Main Bharat Varsh Ka Haradam Amit Sammaan Karata Hoon
Yahaan Kee Chaandanee Mittee Ka Hee Gunagaan Karata Hoon,
Mujhe Chinta Nahi Hai Swarg Jaakar Moksh Pane Kee,
Tiranga Ho Kafan Mera, Bas Yahi Armaan Rakhta Hoon.


 जो देश के लिए शहीद हुए
उनको मेरा सलाम है
अपने खूं से जिस जमीं को सींचा
उन बहादुरों को सलाम है..

 Jo Desh Ke Lie Shaheed Hue
Unako Mera Salaam Hai
Apane Khoon Se Jis Jameen Ko Seencha
Un Bahaaduron Ko Salaam Hai..


खून से खेलेंगे होली,
अगर वतन मुश्किल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना
अब हमारे दिल में है,,

Khoon Se Khelenge Holi,
Agar Vatan Mushkil Mein Hai
Sarfaroshi Ki Tamanna
Ab Hamare Dil Mein Hai,,


खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम-ए-वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है…

Khushnaseeb Hain Vo Jo Watan Par Mit Jaate Hain,
Marakar Bhee Vo Log Amar Ho Jaate Hain,
Karta Hoon Unhe Salaam-E-Watan Pe Mitne Walon,
Tumhari Har Saans Mein Tirange Ka Naseeb Basata Hai…


जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है

Jo Ab Tak Na Khaula, Vo Khoon Nahi Paani Hai,
Jo Desh Ke Kaam Na Aaye, Woh Bekar Jawani Hai


सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा
हम बुलबुलें हैं उसकी वो गुलसिताँ हमारा।
परबत वो सबसे ऊँचा
हमसाया आसमाँ का
वो संतरी हमारा वो पासबाँ हमारा ……

Saare Jahaan Se Achchha Hindustaan Hamaara
Ham Bulabulen Hain Usakee Vo Gulistan Hamara.
Parabat Vo Sab Se Ooncha
Hamasaaya Aasmaan Ka
Vo Santaree Hamaara Vo Paasabaan Hamaara ……


ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये….

Aye Mere Vatan Ke Logon Tum Khoob Laga Lo Nara
Ye Shubh Din Hai Hum Sab Ka Lahara Lo Tiranga Pyaara
Par Mat Bhoolo Seema Par Veeron Ne Hai Praan Ganvae
Kuchh Yaad Unhen Bhee Kar Lo Jo Laut Ke Ghar Na Aaye….


लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

Likh Raha Hoon Main Anjaam Jiska Kal Agaaj Aayega,
Mere Lahoo Ka Har Ek Katara Inqilab Layega
Main Rahoon Ya Na Rahoon Par Ye Vaada Hai Tumse Mera Ki,
Mere Baad Vatan Par Marne Walon Ka Sailaab Aayega


 मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये
* जय-हिन्द *

Mujhe Na Tan Chahiye, Na Dhan Chahiye
Bas Aman Se Bhara Yah Vatan Chahiye
Jab Tak Jinda Rahoon, is Maatr-bhoomi Ke Lie
Aur Jab Marun to Tiranga Kafan Chaahiye
* Jay-hind *


अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

Apni Azadi Ko Hum Hargiz Mita Sakte Nahin
Sar Kata Sakate Hain Lekin Sar Jhuka Sakate Nahin


इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना

Itanee See Baat Havaon Ko Bataaye Rakhana
Raushanee Hogee Chiragon Ko Jalaye Rakhna
Lahu Dekar Kee Hai Jiski Hiphaajat Hamane
Aise Tirange Ko Hamesha Dil Mein Basaye Rakhana


आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे

Aajadi Ki Kabhi Shaam Nahi Hone Denge
Shaheedon Ki Qurbani Badnaam Nahi Hone Denge
Bachee Ho Jo Ek Boond Bhee Lahoo Kee
Tab Tak Bharat Mata Ka Aanchal Neelaam Nahi Hone Denge


देशभक्तों से ही देश की शान है
देशभक्तों से ही देश का मान है
हम उस देश के फूल हैं यारों
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है

Deshabhakton Se Hi Desh Ki Shaan Hai
Deshabhakton Se Hee Desh Ka Maan Hai
Ham Us Desh Ke Phool Hain Yaaron
Jis Desh Ka Naam Hindustaan Hai


मेरे देश तुझको नमन है मेरा,
जीऊं तो जुबां पर नाम हो तेरा
मरूं तो तिरंगा कफन हो मेरा

Mere Desh Tujhko Naman Hai Mera,
Jeeoon to Jubaan Par Naam Ho Tera
Maroon to Tiranga Kaphan Ho Mera


ये दुनिया….एक दुल्हन
ये दुनिया….एक दुल्हन…
दुल्हन के माथे पे बिंदिया
I Love My India

Ye Duniya….ek Dulhan
Ye Duniya….ek Dulhan…
dulhan Ke Maathe Pe Bindiya
I Love My India


लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हिंदुस्तान पर

Laharaega Tiranga Ab Saare Aasamaan Par
Bhaarat Ka Hee Naam Hoga Sab Ki Jubaan Par
Le Lenge Uski Jaan Ya Khelenge Apni Jaan Par
Koi Jo Uthega Aankh Hindustan Par


गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन हैं करते
ये आजाद वतन जो दिलाया है

Ghulam Bane is Desh Ko Aazad Tumane Karaaya Hai
Surakshit Jeevan Dekar Tumane Karj Apana Chukaaya Hai
Dil Se Tumko Naman Hai Karate
Ye Aajaad Vatan Jo Dilaya Hai


कर जज्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी आवाम !
हर दुश्मन को मार गिराएंगे, जो हमसे देश बँटवाएंगे !!

Kar Jajbe Ko Buland Javaan, Tere Piche Khade Aavaam !
Har Dushman Ko Maar Giraenge, Jo Hamse Desh Batawaenge !!


 आन देश की, शान देश की, इस देश की हम संतान हैं !
तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है !!

Aan Desh Kee, Shaan Desh Kee, is Desh Ki Ham Santan Hai !
Teen Rangon Se Ranga Tiranga, Apanee Ye Pehchaan Hai !!


सीने में जूनून और आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ !
दुश्मन की सांसे थम जायें, आवाज में इतनी धमक रखता हूँ !!

Seene Mein Junoon Aur Aankhon Mein 
Desh Bhakti Ki Chamak Rakhta Hoon !
Dushman Ki Saanse Tham Jaye, 
Aawaz Mein Itanee Dhamak Rakhata Hoon !!


इस वतन के रखवाले हैं हम
शेर ए जिगर वाले हैं हम
मौत से हम नहीं डरते
मौत को बाँहों में पाले हैं हम
वन्दे मातरम…

is Watan Ke Rakhwale Hain Ham
Sher E Jigar Vaale Hain Ham
Maut Se Ham Nahi Darte
Maut Ko Baahon Mein Paale Hain Ham
Vande Mataram…


 जब देश में थी दिवाली,वो झेल रहे थे गोली
जब हम बैठे थे घरों में,वो खेल रहे थे होली
क्या लोग थे वो अभिमानी
है धन्य वो उनकी जवानी
जय हिन्द!!

Jab Desh Mein Thi Diwali, 
Vo Jhel Rahe the Goli
Jab Hum Baithe the Gharon Mein, 
Vo Khel Rahe the Holi
Kya Log the Vo Abhimaanee
Hai Dhanya Vo Unakee Javaanee
Jay Hind!!


खींच दो अपने ख़ूँ से जमीं पर लकीर
इस तरफ आने पाये ना रावण कोई
तोड़ दो अगर कोई हाथ उठने लगे
छू ना पाये सीता का दामन कोई
राम भी तुम तुम्हीं लक्ष्मण साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो

Kheench Do Apane Khoon Se Jameen Par Lakeer
Is Taraf Aane Paaye Na Ravan Koee
Tod Do Agar Koi Hath Uthane Lage
Chhoo Na Paaye Seeta Ka Daaman Koee
Raam Bhi Tum Tumhein Lakshman Saathiyo
Ab Tumhare Hawale Vatan Sathiyo


ऐ मेरे प्यारे वतन,
ऐ मेरे पिछड़े चमन
तुझ पे दिल कुर्बान

Aye Mere Pyare Watan,
Aye Mere Bichhade Chaman
Tujh Pe Dil Kurbaan


तेरे दामन से जो आये, उन हवाओं को सलाम
चूम लूँ मैं उस जुबां को जिस पे आये तेरा नाम
सबसे सुन्दर सुबह तेरी
सबसे सुन्दर तेरी शाम
तुझ पे दिल कुरबान
ऐ मेरे प्यारे वतन,
ऐ मेरे पिछड़े चमन
तुझ पे दिल कुर्बान।।

Tere Daaman Se Jo Aaye, Un Hawaon Ko Salaam
Choom Loon Main Us Jubaan Ko Jis Pe Aaye Tera Naam
Sabse Sundar Subah Teree
Sabse Sundar Teree Shaam
Tujh Pe Dil Kurabaan
Aye Mere Pyare Watan,
Aye Mere Bichhade Chaman
Tujh Pe Dil Kurbaan..


तिरंगा है आन मेरी
तिरंगा ही है शान मेरी
तिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारा
तिरंगे से है धरती महान मेरी

Tiranga Hai Aan Meree
Tiranga Hee Hai Shaan Meree
Tiranga Rahe Sada Uncha Hamara
Tirange Se Hai Dharatee Mahan Meree


सुन्दर है जग में सबसे, नाम भी सबसे न्यारा है
वो देश हमारा है, वो देश हमारा है

जहाँ जाति भाषा से बढ़कर देशप्रेम की धारा है
वो देश हमारा है, वो देश हमारा है

Sundar Hai Jag Mein Sabase, Naam Bhi Sabse Nyara Hai
Vo Desh Hamara Hai, Vo Desh Hamara Hai

Jahaan Jaati Bhasha Se Badhkar Deshaprem Kee Dhaara Hai
Vo Desh Hamara Hai, Vo Desh Hamara Hai


जिंदगी है कल्पनाओं की जंग
कुछ तो करो इसके लिए दबंग
जियो शान से भरो उमंग
लहराओ सबसे दिलों में देश के लिए तिरंग

Zindagi Hai Kalpanao Ki Jang
Kuchh to Karo Isake Lie Dabang
Jiyo Shaan Se Bharo Umang
Laharao Sabse Dilon Mein Desh Ke Liye Tiranga


अधिकार मिलते नहीं लिए जाते हैं
आजाद हैं मगर गुलामी किये जाते हैं
वंदन करो उन सेनानियों को
जो मौत के आँचल में जिए जाते हैं

Adhikaar Milate Nahin Lie Jaate Hain
Azaad Hain Magar Ghulam Kiye Jaate Hain
Vandan Karo Un Senaaniyon Ko
Jo Maut Ke Aanchal Mein Jie Jaate Hain


उड़ जाती है नींद ये सोचकर
कि सरहद पे दी गयीं वो कुर्बानियां
मेरी नींद के लिए थीं

Ud Jaati Hai Neend Ye Soch Kar
Ki Sarhad Pe Dee Gayeen Vo Qurbaniyaan
Meri Neend Ke Liye Theen


इश्क तो करता है हर कोई
महबूब पे तो मरता है हर कोई
कभी वतन को महबूब बना के देखो
तुझ पे मरेगा हर कोई

Ishk to Karata Hai Har Koee
Mahaboob Pe to Marata Hai Har Koee
Kabhee Vatan Ko Mahaboob Bana Ke Dekho
Tujh Pe Marega Har Koee


 कर चले हम फ़िदा जान तन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो

Kar Chale Hum Fida Jaan Tan Saathiyo
Ab Tumhare Hawale Watan Sathiyo
ab Tumhare Hawale Watan Sathiyo


कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है….

Kuch Nasha Tirange Ki Aan Ka Hai,
Kuch Nasha Matrbhumi Ki Maan Ka Hai,
Ham Laharaayenge Har Jagah Ye Tiranga,
Nasha Ye Hindustan Ki Shaan Ka Hai….


उनके हौंसले का मुकाबला ही नहीं है कोई
जिनकी कुर्बानी का कर्ज हम पर उधार है
आज हम इसीलिए खुशहाल हैं क्यूंकि
सीमा पे जवान बलिदान को तैयार है….

Unake Haunsale Ka Muqabala Hee Nahi Hai Koi
Jinkee Qurbani Ka Karj Ham Par Udhaar Hai
Aaj Ham Isee liye Khushhaal Hai Kyunki
Seema Pe Javaan Balidaan Ko Taiyaar Hai….



TAGS:
desh bhakti shayari, desh bhakti shayari in hindi, desh bhakti, heart touching desh bhakti shayari, deshbhakti shayari, heart touching desh bhakti shayari in hindi, desh bhakti shayari hindi, desh bhakti shayari hindi mai,  deshbhakti shayri in hindi, deshbhakti shayari in hindi 2020, desh bhakti shayari video, desh bhakti geet, shayari in hindi, desh bhakti shayari image, patriotic shayari in hindi

Read More