Zindagi Shayari अध्याय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Zindagi Shayari, ज़िन्दगी शायरी, Shaandaar Zindagi Shayari | अध्याय 3

नवंबर 12, 2019



Positive Zindagi Shayari
zindagi shayari,zindagi,urdu shayari,hindi shayari,shayari on life,zindagi par shayari,new zindagi shayari,good zindagi shayari,love zindagi shayari,best zindagi shayari,zindagi shayari video,zindegi ki shayari,zindagi shayari in hindi,yeh zindagi hindi shayari,positive zindagi shayari

Yeh Zindagi Hindi Shayari
हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि, हर ख़्वाहिश पे दम निकले
बहुत निकले मेरे अरमान, लेकिन फिर भी कम निकले

-ग़ालिब

Hazaaron Khvaahishen Aisee Ki Har Khwahish Pe Dam Nikle
Bahut Nikle Mere Armaan Lekin Phir Bhi Kam 
Nikle
-Ghalib


Zindagi Par Shayari
ज़िन्दगी की जरूरतें समझिए 
वक्त कम है , फरमाइश लम्बी हैं 

झूठ-सच, जीत- हार की बातें छोड़िये,
दास्तान बहुत लम्बी है.


Zindagi Ki Jarooraten Samajhiye Waqt Kam Hai 
Pharamaish Lambi Hain Jhooth-Sach,

Jeet- Haar Kee Baaten Chhodiye,
Dastaan Bahut Lambi Hai.


Zindagi Shayari
ज़िन्दगी एक हसीन ख्वाब है 
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये 

गम खुद ही खुशी में बदल जायेंगे 
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये

Zindagi Ek Haseen Khwab Hai 
Jisamen Jeene Ki Chahat Honee chaahiye 

Gam Khud Hee Khushee Mein Badal Jaayenge 
Sirph Muskuraane Kee Aadat Honeechaahiye


Shayari on Life
किस तरफ जाऊं,
किधर देखूं,
किसे आवाज़ दूं
ऐ हुजूमे-नामुरादी 

जी बहुत घबराये है
- अज्ञात

Kis Taraf Jaoon,
Kidhar Dekhoon,
Kise Awaaz Doon


Ai Hujoome-Naamuraadee 

Jee Bahut Ghabaraaye Hai
- Agyaat

New Zindagi Shayari
ख़ामोशी से मुसीबत और भी संगीन होती है,
तड़प ऐ दिल तड़पने से ज़रा तस्कीन होती है

- अज्ञात

Khamoshi Se Musibat Aur Bhi Sangeen Hoti Hai,
Tadap Ai Dil Tadapane Se Zara Taskeen Hotee Hai

- Agyaat

Zindagi Shayari in Hindi
मौत ही इंसान की दुश्मन नहीं
ज़िंदगी भी जान लेकर जाएगी

- 'जोश' मलासियानी

Maut Hi Insaan Ki Dushman Nahi
Zindagi Jaan Lekar Jaegee

- Josh Malaasiyaanee

डूबती हैं ज़िन्दगी,
ग़म के सागर में कभी

बच निकलने की तुम्ही,
बस आस लगते हो मुझे

Doobti Hain Zindagi,
Gam Ke Saagar Mein Kabhee


Bach Nikalane Kee Tumhee,

Bas Aas Lagate Ho Mujhe


Good Zindagi Shayari
आरज़ू,
हसरत,
तमन्ना और ख़ुशी कुछ भी नही,
ज़िन्दगी में तू नही तो ज़िन्दगी कुछ भी नही…


Aarzoo,
Hasarat,
Tamanna Aur Khushi Kuchh Bhi Nahi,
Zindagi Mein Too Nahin To Zindagi Kuchh Bhi Nahi…


Love Zindagi Shayari
रोशनी जिनसे हुई दुनिया में,
उनकी कब्र पर
आज इतना भी नहीं जाकर कोई रख दे चिराग़

- हाफिज़

Roshanee Jinase Huee Duniya Mein,
Unakee Kabr Par
Aaj Itana Bhee Nahin Jaakar Koee Rakh De Chiraag

Haafiz

Best Zindagi Shayari
ज़माना बड़े शौक़ से सुन रहा था
हमीं सो गए दास्तां कहते-कहते

- साकिब लखनवी

Zamaana Bade Shauq Se Sun Raha Tha
Hameen So Gae Dastan Kahate-Kahate

- Saqib Lakhnavi


Positive Zindagi Shayari
ये ना थी हमारी क़िस्मत के विसाल-ए-यार होता 
अगर और जीते रहते, यही इंतजार होता
- ग़ालिब
Ye Na Thee Hamari Qismat Ke Visaal-Yaar Hota
Agar Aur Jeete Rehte Yehi Intezaar Hota

Ghalib

Zindegi Ki Shayari
इन्हीं पत्थरों पे चलकर अगर आ सको तो आओ
मेरे घर के रास्ते में कोई कहकशां नहीं है

- मुस्तफ़ा ज़ैदी

Inheen Pattharon Pe Chal Kar Agar Aa Sako To Aao
Mere Ghar Ke Raaste Mein Koi Kahakashaan Nahi Hai

- Mustafa Zaidee


कोई दम का मेहमां हूं ऐ अहले-महफ़िल
चिराग़े-सहर हूं,
बुझा चाहता हूं

- इक़बाल

Koi Dam Ka Mehma Hoon Aye Ahle-Mehfil
Chiraag-e-Sahar Hoon,
Bujha Chahta Hoon

- Iqabaal


ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही,
कभी अकेले में मिले तो हिसाब करूँ


Ye Zindagi Jo Mujhe Karzdaar Karti Rahi,
Kabhi Akele Mein Mile To Hisaab Karoon


लम्हों की खुली किताब हैं ज़िन्दगी,
ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी,


Lamhon Ki Khuli Kitaab Hai Zindagi,
Khayalon Aur Saanson Ka Hisab Hai Zindagi,


Read More

Zindagi Hindi Shayari ज़िन्दगी हिंदी शायरी | अध्याय 2

नवंबर 09, 2019


जीवन की सुबह में कभी सांझ न हो
जो मिल न सके रब से वो मांग न हो


खूब चमकें सितारे खुशियों के
ज़िन्दगी कभी अमावस का चाँद न हो


Jeevan Ki Subah Mein Kabhi Saanjh Na Ho
Jo Mil Na Sake Rab Se Vo Maang Na Ho


Khoob Chamke Sitare Khushiyon Ke
Zindagi Kabhi Amavas Ka Chand Na Ho


“दहशत” सी होने लगी है इस सफ़र से अब तो…
ए-ज़िन्दगी___ कहीं तो पहुँचा दे„„„

ख़त्म होने से पहले…

“Dahashat” See Hone Lagee Hai Is Safar Se Ab To…
E-Zindagee___ Kaheen To Pahuncha De„„„

Khatm Hone Se Pahale…


हमने माना कि तगाफुल न करोगे लेकिन
खाक हो जाएंगे हम तुमको खबर होने तक

- ग़ालिब

Hamane Maana Ki Tagaaphul Na Karoge Lekin
Khaak Ho Jaenge Ham Tumako Khabar Hone Tak

Ghalib


कोई आज तक न समझा कि शबाब है तो क्या है
यही उम्र जागने की,
यही नींद का ज़माना

- नुसूर वाहिदी

Koee Aaj Tak Na Samajha Ki Shabaab Hai To Kya Hai
Yahi Umar Jagane Ki,
Yahi Neend Ka Zamaana
- Nusoor Vaahidee

सुबह तो खुशनुमा थी,
क्यों शाम मुझे फिर तनहा छोड़ गयी,


मंजिल दिखी ही थी,
कि ज़िन्दगी फिर रास्ता मोड़ गयी..!


Subah To Khushnuma Thee,
Kyon Shaam Mujhe Phir Tanaha Chhod Gayee,


Manjil Dikhee Hee Thee,
Ki Zindagi Phir Raasta Mod Gayee..!


ज़िदगी से तो क्या शिकायत हो
मौत ने भी भुला दिया है हमें

- अज्ञात

Zindagi Se To Kya Shikayat Ho
Maut Ne Bhee Bhula Diya Hai Hamen

- Agyaat

शिकायत तो बहुत है तुझसे ऐ ज़िन्दगी,
पर चुप इसलिए हूं कि जो दिया

तूने वो भी बहुतों को नसीब नहीं होता

Shikaayat To Bahut Hai Tujhase Ai Zindagee,
Par Chup Isalie Hoon Ki Jo Diya 

Toone Vo Bhi Bahuton Ko Naseeb Nahi Hota


हम तुम मिले न थे तो जुदाई का था मलाल
अब ये मलाल है कि तमन्ना निकल गई

- जलील मानकपुरी

Hum Tum Mile Na The To Judai Ka Tha Malal
Ab Ye Malaal Hai Ki Tamanna Nikal Gayi

- Jaleel Manikpuri

मुख़ालफ़त से मेरी शख़्सियत संवरती है
मैं दुश्मनों का बड़ा एहतेराम करता हूं

- बशीर बद्र

Mukhalfat Se Meri Shakhsiyat Sanvaratee Hai
Main Dushmano Ka Bada Ehtram Karta Hoon

- Bashir Badr

दो रोज़ तुम मेरे पास रहो..
दो रोज़ मैं तुम्हारे पास रहुं..


चार दिन की ज़िन्दगी है..

ना तुम उदास रहो..
ना मैं उदास रहुं….


Do Roz Tum Mere Paas Raho..
Do Roz Main Tumhaare Paas Rahun..


Chaar Din Ki Zindagi Hai..

Na Tum Udaas Raho..
Na Main Udaas Rahun….


मुझे रात दिन ये ख्याल है
वो नज़र से मुझको गिरा ना दें

मेरी ज़िन्दगी का दिया कहीं
ये ग़मो की आंधी बुझा ना दें

Mujhe Raat Din Ye Khayal Hai

Vo Nazar Se Mujhe Gira Na Den

Meri Zindagi Ka Diya Kahin
Ye Gamo Kee Aandhee Bujha Na Den


होशो हवास,
ताबो-तबां 'दाग' जा चुके
अब हम भी जाने वाले हैं सामान तो गया

- 'दाग'
Hosho Hawaas,
Taabo-Tabaan Daag Ja Chuke
Ab Hum Bhi Jaane Wale Hain Saamaan To Gaya

- Daag

कुछ ऐसे सिलसिले भी चले ज़िंदगी के साथ
कड़ियां मिलीं जो उनकी तो ज़ंजीर बन गए

- यूसुफ़ बहजाद

Kuchh Aise Silsile Bhi Chale Zindagee Ke Saath
Kadiya Mileen Jo Unakee To Zanjeer Ban Gaye

- Yoosuf Bahajaad

जिस दिन से चला हूं मेरी मंजिल पे नज़र है
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा

- अज्ञात

Jis Din Se Chala Hoon Meri Manjil Pe Nazar Hai
Aankhon Ne Kabhee Meel Ka Patthar Nahin Dekha

- Agyaat

“ज़िन्दगी का फलसफा भी कितना अजीब है,
शामें कटती नहीं,
और साल गुज़रते चले जा रहे है… ”


“Zindagi Ka Falsafa Bhi Kitna Ajeeb Hai,
Shaamen Katati Nahi,
Aur Saal Guzarte Chale Ja Rahe Hai… ”


तेरी मुहब्बत की तलब थी तो हाथ फैला दिए वरना,
हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं करते…

Teree Mohabbat Ki Talab Thee To Hath Phaila Die Varana,
Ham To Apanee Zindagee Ke Lie Bhi Dua Nahin Karate…



चाहा है तुझ को तेरी तग़ाफ़ुल के बावजूद;
ए ज़िन्दगी तू याद करेगी कभी हमें


Chaaha Hai Tujh Ko Teree Tagaaful Ke Baavajood;
E Zindagee Too Yaad Karegee Kabhee Hamen


फटी जेब सी ज़िन्दगी,
सिक्को से दिन… लो आज फिर ..
इक गिर कर गुम हो गया..!


Phati Jeb See Zindagi,
Sikko Se Din… Lo Aaj Phir ..
Ik Gir Kar Gum Ho Gaya..!


कुछ इस तरह फ़कीर ने ज़िन्दगी की मिसाल दी,
मुट्ठी में धूल ली और हवा में उछाल दी !

Kuchh Is Tarah Fakeer Ne Zindagee Kee Misaal Dee,
Mutthee Mein Dhool Lee Aur Hava Mein Uchhaal Dee !


Read More

Zindagi Shayari in English | अध्याय 1

नवंबर 08, 2019


ज़िन्दगी की राहों में.
ऐसा अक्सर होता है.
फैसला जो मुश्किल हो वो ही बेहतर होता है..!

Zindagi Ki Raahon Mein..
Aisa Aksar Hota Hai.
Faisla Jo Mushkil Ho Vo Hee Behtar Hota Hai..!


अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी…
लोग तसल्लियां तो देते हैं ,
पर साथ नहीं…!


Akele Hi Guzarti Hai Zindagi…
Log Tasaliyan To Dete Hain ,
Par Saath Nahin…!


मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है,
आधी तुझे सताने से है,
आधी तुझे मनाने से है..


Meree Zindagee Mein Khushiyaan Tere Bahaane Se Hai,
Aadhee Tujhe Sataane Se Hai,
Aadhee Tujhe Manane Se Hai..


धीरे धीरे उम्र कट जाती है,
जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,


कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है 

और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है..

Dheere Dheere Umar Kat Jati Hai,
Jeevan Yaadon Ki Pustak Ban Jaati Hai,


Kabhi Kisi Ki Yaad Bahut Tadpati Hai 

Aur Kabhee Yaadon Ke Sahaare Zindagee Kat Jaatee Hai..


यादो की कसक..
साँसों की थकन..

आँखों में नमी सी है. 

ज़िन्दगी तुझमे सब है,
फिर काहे की कमी सी है…


Yaadon Ki Kasak..
Saanson Ki Thakan..
Aankhon Mein Nami Si Hai.


 Zindagi Tujhame Sab Hai,
Phir Kaahe Kee Kamee See Hai…


ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो,
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है।

Zarooree To Nahin Ke Shaayaree Vo Hee Kare Jo Ishq Mein Ho,
Zindagi Bhi Kuchh Zakhm Bemisaal Diya Karti Hai.


उम्र सारी तो कटी इश्के-बुतां में मोमिन
आख़री वक्त में क्या ख़ाक मुसलमां होंगे

- मोमिन
Umr Sari To Kati Ishke-Butaan Mein Momin
Aakhri Waqt Mein Kya Khak Musalma Honge

- Momin

मरता नहीं कोई किसी के बगैर ये हकीकत है
ज़िन्दगी की लेकिन सिर्फ सांसें लेने को `जीना` तो नहीं कहते!

Marta Nahi Koi Kisi Ke Bagair Ye Haqeeqat Hai
Zindagee Kee Lekin Sirph Saansen Lene Ko `Jeena` To Nahin Kahate!


सही वक़्त पर पिए गए “कड़वे घूंट”
अक़्सर ज़िन्दगी “मीठी” कर दिया करते है”

Sahi Waqt Par Pie Gae “Kadave Ghoont”
Aqsar Zindagi “Meethee” Kar Diya Karte Hai”


बाद मुद्दत के यह घडी आई आप आये तो ज़िन्दगी आई
इश्क मर-मर के कामयाब हुआ आज एक ज़र्रा आफताब हुआ


Baad Muddat Ke Yah Ghadi Aaye Aap Aaye To Zindagi Aaee
Ishk Mar-Mar Ke Kaamayaab Hua Aaj Ek Zarra Aaphataab Hua


इन्तिहा आज इश्क की कर दी,
आप के नाम ज़िन्दगी कर दी,


था अँधेरा गरीब खाने में,
आप ने आ के रोशनी कर दी,

Inteha Aaj Ishq Ki Kar Dee,
Aap Ke Naam Zindagi Kar Dee,


Tha Andhera Gareeb Khane Mein,
Aap Ne Aa Ke Roshanee Kar Dee,



तकदीरें बदल जाती हैं,

जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो;

वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती है 

‘तकदीर’ को इल्ज़ाम देते देते….

Taqdeere Badal Jaati Hain,
Jab Zindagi Ka Koi Maqsad Ho;


Varna Zindagee Kat Hee Jaatee Hai 

‘Takadeer’ Ko Ilzaam Dete Dete….


फिर कोई मोड़ लेने वाली है ज़िन्दगी शायद …
अब के फिर हवाओं में,
एक बे-करारी है….

Phir Koee Mod Lene Vaalee Hai Zindagee Shaayad …
Ab Ke Phir Hawaon Mein,
Ek Be-karaari Hai….


कुछ ज़रूरतें पूरी तो कुछ ख्वाहिशें अधूरी,
इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िन्दगी !


Kuchh Zarooraten Pooree To Kuchh Khwahishen Adhoore,
Inhee Sawalon Ke Jawab Hai Zindagi !


हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,


ना रोते हम यूँ तेरे लिये,
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता…


Haath Pakad Kar Rok Lete Agar,
Tujh Par Jara Bhi Zor Hota Mera,


Na Rote Hum Yoon Tere Liye,
Agar Hamari Zindagi Mein Tere Siva Koi Aur Hota…


ख़्वाबों से मुझको और न बहला सकेगी 
रहने दे ज़िन्दगी..!
तेरा जादू उतर गया..।।


Khwaabon Se Mujhako Aur Na Bahala Sakegee 

Rahane De Zindagi..!
Tera Jadoo Utar Gaya....


रास्ता तू ही और मंज़िल तू ही,
चाहे जितने भी चलूँ मैं कदम,


… … तुझसे ही तो मुस्कुराहटें मेरी,
तुझ बिन ज़िन्दगी भी है सूनी..!


Raasta Too Hee Aur Manzil Too Hee,
Chaahe Jitane Bhee Chaloon Main Kadam,


… … Tujhase Hee To Muskuraahaten Meree,

Tujh Bin Zindagi Bhi Hai Soonee..!


वो आए हैं पशेमां लाश पर अब
तुझे अय ज़िंदगी लाऊं कहां से

- मोमिन

Vo Aaye Hain Pashemaan Laash Par Ab
Tujhe Ay Zindagi Laoon Kahan Se

- Momin


मुझको उस वैद्य की विद्या पे तरस आता है
भूखे लोगों को जो सेहत की दवा देता है

- नीरज

Mujhako Us Vaidy Kee Vidya Pe Taras Aata Hai
Bhookhe Logon Ko Jo Sehat Ki Dava Deta Hai

- Neeraj


उस के चहरे पर लिखे है दिल के अफ़साने कई,
वो किताबे-ज़िन्दगी का इक सुनहरा बाब है.!


Us Ke Chahare Par Likhe Hai Dil Ke Afasaane Kaee,
Vo Kitaabe-Zindagee Ka Ik Sunahara Baab Hai.!


Read More