Maa Shayari अध्याय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Maa Ke Liye Shayari | Maa Shayari | माँ शायरी | अध्याय 9

जनवरी 09, 2020



Kya Likhoo Apni Maa Ke Baare Me  Mai Jab Khud Hee Unaki Likhawat Hoon  Maa Ke Liye Shayari | Maa Shayari | माँ शायरी
क्या लिखू अपनी माँ के बारे मे 
मै जब खुद ही उनकी लिखावट हूँ 

Kya Likhu Apni Maa Ke Baare Me 
Mai Jab Khud Hee Unaki Likhawat Hoon


तेरी मां तेरे पास में,
और तू प्यार की तलाश में

Teri Maa Tere Paas Mein,

Aur Too Pyaar Ki Talash Mein


Usake Palloo Ne Na Jaane Kitane Tuphaano Ko Mod Diya  Chhan Ke Jahar Ko Palloo Se Amrat Kar Diya..    Kal Aaya Tha Samandar Mujhe Bhee Dubaane  Maan Ne Use Bhee Palloo Mein Sameta Aur Nichod Diya. | POEM BY YOGESH KUMAR
छान के जहर को पल्लू से अमृत कर दिया..

कल आया था समंदर मुझे भी डुबाने
माँ ने उसे भी पल्लू में समेटा और निचोड़ दिया..

Usake Palloo Ne Na Jaane Kitane Tuphaano Ko Mod Diya
Chhan Ke Jahar Ko Palloo Se Amrat Kar Diya..

Kal Aaya Tha Samandar Mujhe Bhee Dubaane
Maan Ne Use Bhee Palloo Mein Sameta Aur Nichod Diya.


मां तू जन्नत का फूल है 
प्यार करना उसका उसूल है 
दुनिया की मोहब्बत फिजूल है 
मां की हर दुआ कबूल है 
मां को नाराज करना इंसान तेरी भूल है

Maan Too Jannat Ka Phool Hai 

Pyaar Karna Uska Usool Hai 
Duniya Ki Mohabbat Phijool Hai 
Maa Ki Har Dua Qubool Hai 
Maa Ko Naaraaj Karna Insaan Teri Bhool Hai



जन्नत में भी ख़ुशियाँ कम हो जातीं हैं ।
गर मां की आंखें नम हो जातीं हैं ।

Jannat Mein Bhi Khushiyan Kam Ho Jati Hain.
Gar Maan Ki Aankhen Nam Ho Jati Hain.


Read More

माँ की तारीफ में शायरी, Maa Shayari, माँ शायरी | अध्याय 8

नवंबर 20, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
प्यार की बात भले ही करता हो जमाना
मगर प्यार आज भी “माँ “से शुरू होता हैं

Pyaar Ki Baat Bhale Hi Karta Ho Jamaana
Magar Pyaar Aaj Bhi Maa Se Shuru Hota Hai


मां तो वो है जो अगर खुश होकर सर पर हाथ रख दे,
तो दुश्मन तो क्या काल भी घबरा जाए।


Maan To Vo Hai Jo Agar Khush Hokar Sar Par Haath Rakh De,
To Dushman To Kya Kaal Bhee Ghabara Jae.


ना आसमां होता ना जमीं होती,
अगर मां तुम ना होती।


Na Aasamaan Hota Na Jameen Hotee,
Agar Maan Tum Na Hotee.


जो सब पर कृपा करे उसे ईश्वर कहते है,
जो ईश्वर को भी जन्म दें उसे मां कहते है।

Jo Sab Par Krpa Kare Use Eeshvar Kahate Hai,
Jo Eeshvar Ko Bhee Janm Den Use Maan Kahate Hai.


हादसों की गर्द से ख़ुद को बचाने के लिए
माँ !
हम अपने साथ बस तेरी दुआ ले जायेंगे

Haadso Ki Gard Se Khud Ko Bachaane Ke Liye
Maa!
Ham Apne Saath Bas Teri Dua Le Jaayenge


लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो मुझसे ख़फ़ा नहीं होती

Labo Pe Uske Kabhi Baddua Nahi Hoti
Bas Ek Maa Hai Jo Mujhse Khafaa Nahi Hoti


तकिए बदले हमने बेशुमार लेकिन 
तकिए हमें सुलाते नहीं,

बेखबर थे हम कि तकिए में 

मां की गोद को तलाशते नहीं।

Takie Badale Hamane Beshumaar Lekin

Takie Hamen Sulaate Nahin,

Bekhabar The Ham Ki Takie Mein 

Maan Kee God Ko Talaashate Nahin।


मुश्किल घड़ी में ना पैसा काम आया,
ना रिश्तेदार काम आये,
आँख बंद की तो सिर्फ मां याद आयी।


Mushkil Ghadee Mein Na Paisa Kaam Aaya,
Na Rishtedaar Kaam Aaye,
Aankh Band Kee To Sirph Maan Yaad Aayee.


माँ खुद भूखी होती है,
मुझे खिलाती है,


खुद दुःखी होती है,
मुझे चेन की नींद सुलाती है।


Maan Khud Bhookhee Hotee Hai,
Mujhe Khilaatee Hai

,
Khud Duhkhee Hotee Hai,
Mujhe Chen Kee Neend Sulaatee Hai.


माँ कर देती है पर गिनाती नहीं है,
वो सह लेती है पर सुनाती नहीं है।


Maan Kar Detee Hai Par Ginaatee Nahin Hai,
Vo Sah Letee Hai Par Sunaatee Nahin Hai.


कुछ नहीं होगा तो आँचल में छुपा लेगी मुझे
माँ कभी सर पे खुली छत नहीं रहने देगी


Kuchh Nahi Hoga To Aanchal Mein Chhupa Legi Mujhe
Maa Kabhi Sar Pe Khuli Chhat Nahi Rahne Degi


मेरी तक़दीर में एक भी गम ना होता
अगर तक़दीर लिखने का हक़ मेरी माँ को होता

Meri Taqdeer Mein Ek Bhi Gam Na Hota
Agar Taqdeer Likhane Ka Haq Meri Maa Ko Hota


मैंने रोते हुए पोंछे थे किसी दिन आँसू
मुद्दतों माँ ने नहीं धोया दुपट्टा अपना


Maine Rote Hue Ponchhe The Kisi Din Aansoo
Muddaton Maa Ne Nahi Dhoya Dupatta Apna


TAG:
maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

Read More

माँ की ममता पर शायरी | Maa Shayari, माँ शायरी | अध्याय 7

नवंबर 19, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
आँख खोलू तो चेहरा मेरी माँ का हो
आँख बंद हो तो सपना मेरी माँ का हो


मैं मर भी जाऊं तो भी कोई गम नहीं
लेकिन कफ़न मिले तो दुपट्टा मेरी माँ का हो


Aankh Kholu To Chehara Meri Maa Ka Ho
Aankh Band Ho To Sapna Meri Maa Ka Ho


Main Mar Bhi Jaaun To Bhi Koi Gam Nahin
Lekin Kafan Mile To Duptta Meri Maa Ka Ho


माँ ना होती तो वफ़ा कौन करेगा
ममता का हक़ भी कौन अदा करेगा


रब हर एक माँ को सलामत रखना
वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा


Maa Na Hoti To Wafa Kaun Karega
Mamta Ka Haq Bhi Kaun Adaa Karega


Rab Har Ek Maa Ko Salaamat Rakhna
Varna Hamaare Liye Dua Kaun Karega


खाने की चीज़ें माँ ने जो भेजी हैं गाँव से
बासी भी हो गई हैं तो लज़्ज़त वही रही

Khaane Ki Chhezein Maa Ne Jo Bheji Hai Gaanv Se
Baasi Bhi Ho Gai Hai To Lazzat Wahi Rahi


मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ
माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊँ

Meri Khwaahish Hai Ki Main Phir Se Farishta Ho Jaaun
Maa Se Is Tarah Lipat Jaaun Ki Baccha Ho Jaaun


चलती फिरती आँखों से अज़ाँ देखी है
मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है


Chalti Phirti Aankho Se Ajaan Dekhi Hai
Maine Jannt To Nahi Dekhi Hai Maa Dekhi Hai


किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता
शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता

Kisi Bhi Mushkil Ka Ab Kisi Ko Hal Nahi Milta
Shaayad Ab Ghar Se Koi Maa Ke Pair Chhukar Nahi Nikalta


बिना हुनर के भी वो चार ओलाद पाल लेती है,
कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।


Bina Hunar Ke Bhee Vo Chaar Olaad Paal Letee Hai,
Kaise Kah Doon Ki Maan Anapadh Hai Meree.


किसी का दिल तोडना आज तक नही आया मुझे
प्यार करना जो अपनी ‪माँ‬ से सीखा है मैंने

Kisi Ka Dil Todna Aaj Tak Nahi Aaya Mujhe
Pyaar Karna Jo Apni Maa Se Seekha Hai Maine


कहीं भी चला जाऊं दिल बेचैन रहता है,
जब घर जाता हूं तो माँ के आंचल में ही सुकून मिलता है।


Kaheen Bhee Chala Jaoon Dil Bechain Rahata Hai,
Jab Ghar Jaata Hoon To Maan Ke Aanchal Mein Hee Sukoon Milata Hai.


माँ से रिश्ता कुछ ऐसा बनाया
जिसको निगाहों में बिठाया जाए


रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा की
वो अगर उदास हो तो हमसे भी मुस्कुराया न जाये

Maa Se Rishta Kucch Aesa Banaaya
Jisko Nigaahon Mein Bithaaya Jaaye


Rahe Uska Mera Rishta Kuchh Aesa Ki
Wo Agar Udaas Ho To Hamse Bhi Muskuraaya Na Jaye


ख़ुद को इस भीड़ में तन्हा नहीं होने देंगे
माँ तुझे हम अभी बूढ़ा नहीं होने देंगे

Khud Ko Is Bheed Mein Tanha Nahi Hone Denge
Maa Tujhe Ham Abhi Budha Nahi Hone Denge


मुझे माफ़ कर मेरे या खुदा
झुक कर करू तेरा सजदा


तुझसे भी पहले माँ मेरे लिए
ना कर कभी मुझे माँ से जुदा!


Mujhe Maaf Kar Mere Ya Khuda
Jhuk Kar Karoo Tera Sajada


Tujhase Bhee Pahale Maan Mere Lie
Na Kar Kabhee Mujhe Maan Se Juda!


मैंने कल शब चाहतों की सब किताबें फाड़ दीं
सिर्फ़ इक काग़ज़ पे लिक्खा लफ़्ज़—ए—माँ रहने दिया


Maine Kal Shab Chahton Ki Sab Kitaabein Phaad Di
Sirf Ek Kaagaz Pe Likha Lafz-E-Maa Rahne Diya


खूबसूरती की इंतहा बेपनाह देखी…
जब मैंने मुस्कराती हुई माँ देखी..


Khoobasooratee Kee Intaha Bepanaah Dekhee…
Jab Mainne Muskaraatee Huee Maan Dekhee..


मैं रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों
सुबह आँख खुली तो देखा मेरा सर माँ के कदमों में था


Main Raat Bhar Jannt Ki Sair Karta Raha Yaaro
Subah Aankh Khuli To Dekha Mera Sar Maa Ke Kadmo Mein Tha


TAG:
maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

Read More

माँ पर शायरी हिंदी में | Maa Shayari, माँ शायरी | अध्याय 6

नवंबर 16, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
पहले ये काम बड़े प्यार से माँ करती थी
अब हमें धुप जगाती है तो दुःख होता है


उम्र माँ की कभी बेटे से ना पूछी जाए
माँ तो जब छोड़ के जाती है तो दुःख होता

Pahle Ye Kaam Bade Pyaar Se Maa Karti Thi
Ab Hamein Dhoop Jagaati Hai To Dukh Hota Hai


Umar Maa Ki Kabhi Bete Se Na Pucchi Jaaye
Maa To Jab Chhod Ke Jaati Hai To Dukh Hota


सब कुछ मिल जाता है दुनिया में मगर
याद रखना की बस माँ-बाप नहीं मिलते


मुरझा कर जो गिर गए एक बार डाली से
ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते

Sab Kuchh Mil Jaata Hai Duniya Mein Magar
Yaad Rakhna Ki Bas Maa-Baap Nahi Milte


Murjha Kar Jo Gir Gaye Ek Baar Daali Se
Ye Aese Phool Hai Jo Phir Nahi Khilte


ऐ अँधेरे!
देख ले मुँह तेरा काला हो गया
माँ ने आँखें खोल दीं घर में उजाला हो गया


Ae Andhere!
Dekh Le Munh Tera Kaalaa Ho Gaya
Maa Ne Aankhein Khol Di Ghar Mein Ujaalaa Ho Gaya


रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये
चोट लगती है हमें और चिल्लाती है माँ


हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें
जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है माँ


Rooh Ke Rishto Ki Ye Gahraaiyan To Dekhiye
Chot Lagti Hai Hamein Aur Chillaati Hai Maa


Ham Khushiyon Mein Maa Ko Bhale Hii Bhool Jaaye
Jab Musbit Aa Jaaye To Yaad Aati Hai Maa


कोई सरहद नहीं होती,
कोई गलियारा नहीं होता,


अगर मां की बीच होती,
तो बंटवारा नहीं होता।


Koee Sarahad Nahin Hotee,
Koee Galiyaara Nahin Hota,


Agar Maan Kee Beech Hotee,

To Bantavaara Nahin Hota.


हर गली,
हर शहर,
हर देश-विदेश देखा,
लेकिन मां तेरे जैसा प्यार कहीं नहीं देखा।


Har Galee,
Har Shahar,
Har Desh-Videsh Dekha,
Lekin Maan Tere Jaisa Pyaar Kaheen Nahin Dekha.


जब जब कागज पर लिखा मैंने मां का नाम,
कलम अदब से बोल उठी हो गए चारों धाम।


Jab Jab Kaagaj Par Likha Mainne Maan Ka Naam,
Kalam Adab Se Bol Uthee Ho Gae Chaaron Dhaam.

काम से घर लौट कर आया तो सपने को क्या लाए,
बस एक मां ने पूछा बेटा कुछ खाया कि नहीं।


Kaam Se Ghar Laut Kar Aaya To Sapane Ko Kya Lae,
Bas Ek Maan Ne Poochha Beta Kuchh Khaaya Ki Nahin।

घर में धन,
दौलत,
हीरे,
जवाहरात सब आए,
लेकिन जब घर में मां आई तब खुशियां आई।


Ghar Mein Dhan,
Daulat,
Heere,
Javaaharaat Sab Aae,
Lekin Jab Ghar Mein Maan Aaee Tab Khushiyaan Aaee.


माँ तेरे दूध का हक मुझसे अदा क्या होगा!
तू है नाराज ती खुश मुझसे खुदा क्या होगा!


Maan Tere Doodh Ka Hak Mujhase Ada Kya Hoga!
Too Hai Naaraaj Tee Khush Mujhase Khuda Kya Hoga!


ये जो सख्त रस्तो पे भी आसान सफ़र लगता है
ये मुझ को माँ की दुआओ का असर लगता है


एक मुद्दत हुई मेरी मां नही सोई ‘ताबिश’
मैं ने इक बार कहा था मुझे डर लगता है

Ye Jo Sakht Raston Pe Bhi Aasaan Safar Lagta Hai
Ye Mujh Ko Maa Ki Duaaon Ka Asar Lagta Hai
Ek Muddat Hui Meri Maa Nahi Soi ‘Tabish’
Miane Ek Baar Kaha Tha Ki Mujhe Dar Lagta Hai


किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,
शायद अब घर से कोई मां के पैर छूकर नहीं निकलता।


Kisee Bhee Mushkil Ka Ab Kisee Ko Hal Nahin Milata,
Shaayad Ab Ghar Se Koee Maan Ke Pair Chhookar Nahin Nikalata.


जब तक रहा हूँ धूप में चादर बना रहा
मैं अपनी माँ का आखिरी ज़ेवर बना रहा


Jab Tak Raha Hoon Dhoop Mein Chaadar Bana Raha
Main Apni Maa Ka Aakhiri Jewar Bana Raha


दिया है माँ ने मुझे दूध भी वज़ू करके
महाज़े-जंग से मैं लौट कर न जाऊँगा


Diya Hai Maa Ne Mujhe Doodh Bhi Wajoo Karke
Mahaaze-Jang Se Main Laut Kar Na Jaaunga


हर मंदिर,
हर मस्जिद और हर चौखट पर माथा टेका,
दुआ तो तब कबूल हुई जब मां के पैरों में माथा टेका।


Har Mandir,
Har Masjid Aur Har Chaukhat Par Maatha Teka,
Dua To Tab Kabool Huee Jab Maan Ke Pairon Mein Maatha Teka.


TAG:
maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

Read More

माँ की ममता पर शायरी - Maa Shayari, माँ शायरी | अध्याय 5

नवंबर 14, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
यूं ही नहीं गूंजती किल्कारीयां‬ घर आँगन‬ के हर कोने में
जान ‎हथेली‬ पर रखनी‪ पड़ती है ‘माँ’ को ‘‪माँ‬’ होने में

Yun Hi Nahi Gunjti Kilkariyan Ghar Aangan Ke Har Kone Mein

Jaan Hatheli Par Rakhni Padti Hai Maa Ko Maa Hone Mein


उसकी डांट में भी प्यार नजर आता है,
माँ की याद में दुआ नजर आती है।


Usakee Daant Mein Bhi Pyar Najar Aata Hai,
Maan Ki Yaad Mein Dua Nazar Aati Hai.


इस लिए चल न सका कोई भी ख़ंजर मुझ पर
मेरी शह-रग पे मेरी माँ की दुआ रक्खी थी


Isliye Chal Na Saka Koi Bhi Khanjar Mujh Par
Meri Shah-Rag Par Meri Maa Ki Dua Rakhi Thi


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

तेरी डिब्बे की वो दो रोटिया कही बिकती नहीं
माँ,
महंगे होटलों में आज भी भूख मिटती नहीं

Tei Dibbe Ki Wo Do Rotiyan Kahi Bikti Nahi
Maa,
Mahnge Hotalon Mein Aaj Bhi Bhookh Mitati Nahi


गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी


Gin Leti Hai Din Bagair Mere Gujaar Hai Kitane
Bhala Kaise Kah Doon Ki Maa Anpadh Hai Meri


जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ,
में खुदा से पहले मेरी माँ को जानता हूँ।


Jiske Hone Se Main Khud Ko Mukammal Maanta Hoon,
Mein Khuda Se Pahle Meri Maa Ko Jaanta Hoon.


बर्तन माज कर माँ चार बेटो को पाल लेती है,
लेकिन चार बेटो से माँ को दो वक्त की रोटी नही दी जाती।


Bartan Maaj Kar Maan Chaar Beto Ko Paal Leti Hai,
Lekin Chaar Beto Se Maa Ko Do Waqt Ki Roti Nahi Dee Jaatee.


जिस के होने से मैं खुदको मुक्कम्मल मानता हूँ
मेरे रब के बाद मैं बस अपनी माँ को जानता हूँ

Jis Ke Hone Se Main Khud Ko Mukammal Maanta Hoon
Mere Rab Ke Baad Mein Bas Apni Maa Ko Jaanta Hoon


आँखों से माँगने लगे पानी वज़ू का हम
काग़ज़ पे जब भी देख लिया माँ लिखा हुआ

Aankhon Se Mmangane Lage Paani Wajoo Ka Ham
Kaagaz Pe Jab Bhi Dekh Liya Maa Likha Hua


माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ
थक गया हूँ मुझे अपने आँचल में सुलाओ


उँगलियाँ फेर कर बालों में मेरे
एक बार फिर से बचपन की लोरियाँ सुनाओ


Maa Teri Yaad Satati Hai Mere Paas Aa Jaao
Thak Gaya Hoon Mujhe Apne Aanchal Mein Sulaao


Ungliyan Pher Kar Baalon Mein Mere

Ek Baar Phir Se Bachpan Ki Loriyan Sunaaon


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

किताबों से निकल कर तितलियाँ ग़ज़लें सुनाती हैं
टिफ़िन रखती है मेरी माँ तो बस्ता मुस्कुराता है


कदम जब चूम ले मंज़िल तो जज़्बा मुस्कुराता है
दुआ लेकर चलो माँ की तो रस्ता मुस्कुराता है


Kitaabon Se Nikal Kar Titaliyan Gazalein Sunati Hai
Tiffin Rakhti Hai Meri Maa To Basta Muskurata Hai


Kadam Jab Choom Le Manzil To Jajba Muskurata Hai
Dua Lekar Chalo Maa Ki To Rasta Muskuraata Hai


बहुत बेचैन हो जाता है जब कभी दिल मेरा
मैं अपने पर्स में रखी अपनी माँ की तस्वीर को देख लेता हूँ

Bahut Bechain Ho Jaata Hai Jab Kabhi Dil Mera
Main Apne Pars Mein Rakhi Apni Maa Ki Tasveer Ko Dekh Leta Hoon


मैं रोया परदेस में भीगा माँ का प्यार
दुख ने दुख से बात की बिन चिट्ठी बिन तार

Main Roya Pardes Mein Bheega Maa Ka Pyaar
Dukh Ne Dukh Se Baat Ki Bin Chitthi Bin Taar


जब नींद नहीं आती,
तब मां की लोरी याद आती है।


Jab Neend Nahi Aati,
Tab Maan Kee Loree Yaad Aati Hai.

maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे ‘आसमां’ कहते हैं
इस जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे ‘माँ’ कहते हैं

Upar Jiska Ant Nahi Use Aasmaan Kehate Hai
Is Jahan Mein Jiska Ant Nahi Use Maa Kahte Hain


हजारो फूल चाहिए एक माला बनाने के लिए
हजारों दीपक चाहिए एक आरती सजाने के लिए


हजारों बून्द चाहिए समुद्र बनाने के लिए
पर “माँ “अकेली ही काफी है
बच्चो की जिन्दगी को स्वर्ग बनाने के लिए

Hazaaro Phool Chahiye Ek Maalaa Banane Ke Liye
Hazaaro Deepak Chaahiye Ek Aarti Sajaane Ke Liye


Hazaaro Bund Chaahie Samudr Banaane Ke Liye
Par Maa Akeli Hi Kaafi Hai
Baccho Ki Zindagi Ko Swarg Banane Ke Liye


TAG:
maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

Read More

माँ शायरी - Shayari On Maa - Hindi Shayari For Maa | अध्याय 4

नवंबर 11, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

माँ की आग़ोश में कल 
मौत की आग़ोश में आज
हम को दुनिया में ये 

दो वक़्त सुहाने से मिले

Maa Ki Aagosh Mein Kal,
Maut Ki Aagosh Mein Aaj
Ham Ko Duniya Mein Ye 

Do Waqt Suhaane Se Mile


जमाने ने इतने सितम दिए की रूह पर भी जख्म लग गया,
मां ने सर पर हाथ रख दिया तो मरहम लग गया।


Jamaane Ne Itane Sitam Die Kee Rooh Par Bhee Jakhm Lag Gaya,
Maan Ne Sar Par Haath Rakh Diya To Maraham Lag Gaya.


अभी ज़िन्दा है माँ मेरी मुझे कु्छ भी नहीं होगा
मैं जब घर से निकलता हूँ दुआ भी साथ चलती है


Abhi Zinda Hai Meri Maa Meri Mujhe Kuchh Bhi Nahi Hoga
Main Jab Ghar Se Nikalta Hoon Dua Bhi Saath Chalti Hai


जब तक रहा हूँ धूप में चादर बना रहा
मैं अपनी माँ का आखिरी ज़ेवर बना रहा


Jab Tak Raha Hoon Dhhop Mein Chadar Bana Raha
Main Apni Maa Ka Aakhiri Jewar Bana Raha


माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा,
माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा,


खुदा ने रख दी हो जिस के कदमो में जन्नत,
सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।


Maan Kee Ajamat Se Achchha Jaam Kya Hoga,
Maan Kee Khidamat Se Achchha Kaam Kya Hoga,


Khuda Ne Rakh Dee Ho Jis Ke Kadamo Mein Jannat,
Socho Usake Sar Ka Mukaam Kya Hoga.


बिन कहे आँखों में सब पढ़ लेती है,
बिन कहे जो गलती माफ़ कर दे वो माँ है।


Bin Kahe Aankhon Mein Sab Padh Letee Hai,
Bin Kahe Jo Galatee Maaf Kar De Vo Maan Hai.


Paiso Se Sab Kuch Milta Hai 
Par Maa Jaisa Payar Khi Nhi Milta

पैसो से सब कुछ मिलता है पर,
माँ जैसा प्यार कही नही मिलता।


पैसो से सब कुछ मिलता है पर,
माँ जैसा प्यार कहीं नहीं मिलता.

Paiso Se Sab Kuchh Milata Hai Par,
Maan Jaisa Pyaar Kahee Nahee Milata.


मां वो सितारा है जिसकी गोद में जाने के लिए हर कोई तरसता है,
जो मां को नहीं पूछते वो जिंदगी भर जन्नत को तरसता है।


Maan Vo Sitaara Hai Jisakee God Mein Jaane Ke Lie Har Koee Tarasata Hai,
Jo Maan Ko Nahin Poochhate Vo Jindagee Bhar Jannat Ko Tarasata Hai.


हर घड़ी दौलत कमाने में इस तरह मशरूफ रहा मैं,
पास बैठी अनमोल मां को भूल गया मैं।

Har Ghadee Daulat Kamaane Mein Is Tarah Masharooph Raha Main,
Paas Baithee Anamol Maan Ko Bhool Gaya Main.


चलती फिरती आंखों से अजां देखी है,
मैंने जन्नत तो नहीं देखी लेकिन मां देखी है।


Chalatee Phiratee Aankhon Se Ajaan Dekhee Hai,
Mainne Jannat To Nahin Dekhee Lekin Maan Dekhee Hai.


जन्नत का हर लम्हा,
दीदार किया था
गोद मे उठाकर जब मॉ ने प्यार किया था

Jannt Ka Har Lamha Deedar Kiya Tha
God Mein Uthaakar Jab Maa Ne Pyaar Kiya Tha


मां तुम्हारे पास आता हूं तो सांसें भीग जाती है,
मोहब्बत इतनी मिलती है की आंखें भीग जाती है।


Maan Tumhaare Paas Aata Hoon To Saansen Bheeg Jaatee Hai,
Mohabbat Itanee Milatee Hai Kee Aankhen Bheeg Jaatee Hai.


ऐसे तो उससे मोहब्बत में कमी होती है
माँ का एक दिन नहीं होता है सदी होती है


Aese To Usse Mohabbat Meion Kami Hoti Hai
Maa Ka Ek Din Nahin Hota Hai Sadi Hoti Hai


पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन
बस इक औलाद की तकलीफ़ से माँ टूट जाती है


Pahaado Jaise Sadme Jhelti Hai Umar Bhar Lekin
Bas Ik Aulaad Ki Taqleef Se Maa Toot Jaati Hai


हम खुशियों में मां को भले ही भूल जाए,
जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है मां।

Ham Khushiyon Mein Maan Ko Bhale Hee Bhool Jae,
Jab Museebat Aa Jae To Yaad Aatee Hai Maan.


TAG:
maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri

Read More

माँ शायरी - Maa Shayari in Hindi - हिंदी शायरी | अध्याय 3

नवंबर 09, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
कभी चाउमीन,
कभी मैगी,
कभी पीजा खाया लेकिन,
जब मां के हाथ की रोटी खायी तब ही पेट भर पाया।


Kabhee Chaumeen,
Kabhee Maigee,
Kabhee Peeja Khaaya Lekin,
Jab Maan Ke Haath Kee Rotee Khaayee Tab Hee Pet Bhar Paaya.


किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकाँ आई
मैं घर में सब से छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई

Kisi Ko Ghar Mila Hiosse Mein Ya Koi Dukaan Aai
Main Ghar Mein Sabse Chhota Tha Mere Hisse Mein Maa Aai


जब दवा काम नहीं आती है,
तब माँ की दुआ काम आती है।


Jab Dava Kaam Nahin Aatee Hai,
Tab Maan Kee Dua Kaam Aatee Hai.


ये ऐसा क़र्ज़ है जो 
मैं अदा कर ही नहीं सकता
मैं जब तक घर न लौटूं,
मेरी माँ सज़दे में रहती है


Ye Aesa Karz Hai Jo 

Main Adaa Kar Hi Nahi Sakta
Main Jab Tak Ghar Na Lautoon,
Meri Maa Sazde Mein Rahti Hai


माँ” की एक दुआ जिन्दगी बना देगी
खुद रोएगी मगर तुम्हे हँसा देगी


कभी भुल के भी ना “माँ” को रूलाना
एक छोटी सी गलती पूरा अर्श हिला देगी


Maa Ki Dua Zindagi Bana Degi
Khud Royegi Magar Tumhe Hansa Degi


Kabhi Bhool Ke Bhi Na Maa Ko Rulaana
Ek Chhoti Si Galti Poora Arsh Hila Degi


न तेरे हिस्से आयी न मेरे हिस्से आयी,
माँ जिसके जीवन में आयी उसने जन्नत पायी।

Na Tere Hisse Aayee Na Mere Hisse Aayee,
Maan Jisake Jeevan Mein Aayee Usane Jannat Paayee.


नींद भी भला इन आँखों में कहाँ आती है
एक अर्से से मैंने अपनी माँ को नहीं देखा

Neend Bhi Bhalaa In Aankh Mein Kahan Aati Hai
Ek Arse Se Maine Apni Maa Ko Nahi Dekha


बलाएं आकर मेरी चौखट से लौट जाती हैं
मेरी माँ की दुआएं भी कितना असर रखती हैं

Balaayen Aakar Meri Chaukhat Se Laut Jaati Hai
Meri Maa Ki Duaayen Bhi Kitana Asar Rakhti Hai


यहीं रहूँगा कहीं उम्र भर न जाउँगा
ज़मीन माँ है इसे छोड़ कर न जाऊँगा


Yahi Rahunga Kahin Umar Bhar Na Jaaunga
Jameen Maa Hai Ise Chhod Kar Na Jaaunga


रूह के रिश्तो की यह गहराइयां तो देखिए,
चोट लगती है हमें और दर्द मां को होता है।


Rooh Ke Rishto Kee Yah Gaharaiyaan To Dekhie,
Chot Lagatee Hai Hamen Aur Dard Maan Ko Hota Hai.

अब भी चलती है जब आँधी कभी ग़म की ‘राना’
माँ की ममता मुझे बाहों में छुपा लेती है


Ab Bhi Chalti Hai Jab Aandhi Kabhi Gam Ki ‘Rana’
Maa Ki Mamta Mujhe Baaho Mein Chhupa Leti Hai


मां की दुआ को क्या नाम दूं,
उसका हाथ हो सर पर तो मुकद्दर जाग उठता है।

Maan Kee Dua Ko Kya Naam Doon,
Usaka Haath Ho Sar Par To Mukaddar Jaag Uthata Hai.


मुक़द्दस मुस्कुराहट माँ के होंठों पर लरज़ती है
किसी बच्चे का जब पहला सिपारा ख़त्म होता है

Muqddas Muskuraahat Maa Ke Hontho Par Larzrti Hai
Kisi Bacche Ka Jab Pahla Sipaaraa Khatm Hota Hai


माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा
माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा


खुदा ने रख दी हो जिस के कदमों में जन्नत
सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा

Maa Ki Azmat Se Accha Jaam Kya Hoga
Maa Ki Khidmat Se Accha Kaam Kya Hoga


Khuda Ne Rakh Di Ho Jis Ke Kadmon Mein Jannat
Socho Uske Sar Ka Mukaam Kya Hoga


हजारो गम है जिन्दगी में,
फिर माँ मुस्कराती है,
तो हर गम भूल जाता हू।


Hajaaro Gam Hai Jindagee Mein,
Phir Maan Muskaraatee Hai,
To Har Gam Bhool Jaata Hoo.


हालात बुरे थे मगर अमीर बना कर रखती थी,
हम गरीब थे यह बस हमारी मां जानती थी।

Haalaat Bure The Magar Ameer Bana Kar Rakhatee Thee,
Ham Gareeb The Yah Bas Hamaaree Maan Jaanatee Thee.


TAG:
maa shayari in gujarati, maa shayari in hindi, maa shayari in hindi download, maa shayari in hindi font, maa shayari in urdu 2 line, maa shayari in urdu images, maa shayari munawwar rana, maa shayari odia, maa shayari photo download, maa shayari pic, maa shayari sad, maa shayari sms, maa shayari song, maa shayari status, maa shayari urdu sms, maa yaad shayari, shayari for maa in english, shayari for maa in hindi, shayari for maa in urdu, shayari maa ke baare mein, shayari maa ke liye, shayari maa ke upar

Read More

माँ पर शायरी संग्रह - शायरी माँ के लिए | Maa Shayari | अध्याय 2

नवंबर 06, 2019


maa shayari, shayari, maa, munawwar rana maa shayari, hindi shayari, mother shayari, maa ki mamta shayari, maa per shayari, maa sad shayari, maa par shayari, munawwar rana shayari, maa urdu shayari, shayari status, maa ki yaad shayari, maa shayari 2 lines, sad shayari maa, maa baap par shayari, maa shayari in hindi, maa par sher o shayari, maa par shayari video, maa par shayari image, maa urdu shayri
बेसन की सोंधी रोटी पर,
खट्टी चटनी जैसी माँ
याद आती है चौका,
बासन,
चिमटा,
फूंकनी जैसी माँ
बीवी,
बेटी,
बहन,
पड़ोसन,
थोड़ी थोड़ी सब में
दिन भर इक रस्सी के ऊपर,
चलती नटनी जैसी माँ


Besan Ki Sondhi Roti Par,
Khatti Chatni Jasi Maa
Yaad Aati Hai Chuaka,
Baasanm Chimta,
Fukni Jaisi Maa
Bibi,
Beti,
Bahan,
Padosan,
Thodi Thodi Sab Mein
Din Bhar Ek Rassi Ke Upar,
Chalti Natani Jaisi Maa


वो उजला हो के मैला हो या मँहगा हो के सस्ता हो
ये माँ का सर है इस पे हर दुपट्टा मुस्कुराता है


सुहब उठते ही जब मैँ चूमता हूँ माँ की आँखोँ को
ख़ुदा के साथ उसका हर फरिश्ता मुस्कुराता है


Wo Ujala Ho Ke Maila Ho Ya Mahnga Ho Ki Sasta Ho
Ye Maa Ka Sar Hai Is Pe Har Dupatta Muskuraata Hai


Subah Uthte Hi Jab Main Choomta Hoon Maa Ki Aankhon Ko
Khuda Ke Saath Uska Har Farishta Muskuraata Hai


ऐ रात मुझे माँ की तरह गोद में ले ले
दिन भर की मशक़्क़त से बदन टूट रहा है


Ae Raat Mujhe Maa Ki Tarah God Mein Le Le
Din Bhar Ki Mashkkat Se Badan Toot Raha Hai


भूल जाता हूँ परेशानियां ज़िंदगी की सारी
माँ अपनी गोद में जब मेरा सर रख देती हैं
Bhool Jaata Hoon Pareshaaniyan Zindagi Ki Saari
Maa Apni God Mein Jab Mera Sar Rakh Deti Hai


मुसीबतों ने मुझे काले बादल की तरह घेर लिया,
जब कोई राह नजर नहीं आई तो मां याद आई।

Museebaton Ne Mujhe Kaale Baadal Kee Tarah Gher Liya,
Jab Koee Raah Najar Nahin Aaee To Maan Yaad Aaee.


रब से करू दुआ बार-बार
हर जन्म मिले मुझे माँ का प्यार


खुदा कबूल करे मेरी मन्नत
फिर से देना मुझे माँ के आंचल की जन्नत।


Rab Se Karoo Dua Baar-Baar
Har Janm Mile Mujhe Maan Ka Pyaar


Khuda Kabool Kare Meree Mannat

Phir Se Dena Mujhe Maan Ke Aanchal Kee Jannat.


तन्हाई क्या होती उस माँ से पूछो,
जिसका बेटा घर लोट कर नही आया।

Tanhaee Kya Hotee Us Maan Se Poochho,
Jisaka Beta Ghar Lot Kar Nahee Aaya.


एक मुद्दत से मिरी माँ नहीं सोई ‘ताबिश’
मैं ने इक बार कहा था मुझे डर लगता है

Ek Muddat Se Meri Maa Nahi Soi ‘Tabish’
Main Ne Ik Baar Kaha Tha Mujhe Dar Lagta Hai


सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है,
यह मेरी मां की दुआओं का असर लगता है।

Sakht Raahon Mein Bhee Aasaan Saphar Lagata Hai,
Yah Meree Maan Kee Duaon Ka Asar Lagata Hai.


दुआ को हाथ उठाते हुए लरज़ता हूँ
कभी दुआ नहीं माँगी थी माँ के होते हुए

Dua Ko Haath Uthaate Hue Larztaa Hoon
Kabhi Dua Nahin Maangi Thi Maa Ke Hote Hue


मुद्दतों बाद मयस्सर हुआ माँ का आँचल
मुद्दतों बाद हमें नींद सुहानी आई


Muddaton Baad Mayssar Hua Maa Ka Aanchal
Muddaton Baad Hamein Neend Suhani Aai


हवा दुखों की जब आई कभी ख़िज़ाँ की तरह
मुझे छुपा लिया मिट्टी ने मेरी माँ की तरह


Hawa Dukhon Ki Jab Aai Kabhi Khijaa Ki Tarah
Mujhe Chhupa Liya Mitti Ne Meri Maa Ki Tarah


राहे मुश्किल थी रोकने की कोशिश बहुत की,
लेकिन रोक न पाए क्योंकि मैं घर से मां के पैर छू निकला था।

Raahe Mushkil Thee Rokane Kee Koshish Bahut Kee,
Lekin Rok Na Pae Kyonki Main Ghar Se Maan Ke Pair Chhoo Nikala Tha.


गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें है कितने,
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।


Gin Letee Hai Din Bagair Mere Gujaaren Hai Kitane,
Bhala Kaise Kah Doon Ki Maan Anapadh Hai Meree.


Har Jhula Jhul Ke Dekha Par, 
Maa Ke Haath Jaisa Jadu Kahi Nhi Dekha

हर झुला झूल के देखा पर,
माँ के हाथ जैसा जादू कही नही देखा।


हर झूल झूल कई दैख पर माँ के हाथ जैस जादु कही नही देख
हर झूला झूल के देखा पर,
माँ के हाथ जैसा जादू कहीं नहीं देखा.

Har Jhul Jhul Kai Daikh Par Ma Kai Haath Jais Jadu Kahi Nhi Daikh
Har Jhula Jhool Ke Dekha Par,
Maan Ke Haath Jaisa Jaadoo Kahee Nahee Dekha.


TAG:
maa kali shayari in hindi, maa ke liye shayari, maa ke shayari, maa laxmi shayari, maa laxmi shayari in hindi, maa love shayari in hindi, maa par shayari urdu, maa se judai shayari, maa shayari 2 lines, maa shayari 2 lines hindi, maa shayari bangla, maa shayari by munawwar rana, maa shayari english, maa shayari facebook, maa shayari gujarati, maa shayari hindi, maa shayari images, maa shayari in english, 

Read More