50+ Urdu Shayari in English | अध्याय 3


Ek Tum Hee Na Mil Sake
Varna..


Milane Vaale To
Bichhad Bichhad Ke Mile.


एक तुम ही न मिल सके
वरना..


मिलने वाले तो
बिछड़ बिछड़ के मिले।


Ret Par Likh Ke Mera Naam Mitaaya Na Karo,
Aankh Sach Bolatee Hai Pyaar Chhupaaya Na Karo.


रेत पर लिख के मेरा नाम मिटाया न करो,
आँख सच बोलती है प्यार छुपाया न करो।


Wo Mohabbtein Jo Tumhare Dil Mein Hain,
Usse Zubaan Par Lao Aur Bayan Kar Do,

Aaj Bas Tum Kaho Aur Kehte Hi Jao,
Hum Bas Sunein Aise Be-Zuban Kar Do.

वो मोहब्बतें जो तुम्हारे दिल में हैं,
उससे ज़ुबान पर लाओ और बयां कर दो,

आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ,
हम बस सुनें ऐसे बे-ज़ुबान कर दो.


Har Baat Pe Ranjishen Har Baat Pe Hisaab,
Goya Mainne Ishk Nahin,
Naukaree Kar Lee.


हर बात पे रंजिशें हर बात पे हिसाब,
गोया मैंने इश्क नहीं,
नौकरी कर ली।


Kareeb Itana Raho Kee Rishton Mein Pyaar Rahen,
Door Bhee Itana Raho Kee Aane Ka Intejaar Rahen,


Rakho Ummeed Rishton Ke Daramiyaan Itanee,
Kee Toot Jaayen Ummeed Magar Rishte Barakaraar Rahen!

करीब इतना रहो की रिश्तों में प्यार रहें,
दूर भी इतना रहो की आने का इंतेजार रहें,


रखो उम्मीद रिश्तों के दरमियाँ इतनी,
की टूट जायें उम्मीद मगर रिश्ते बरकरार रहें!


Koee Muntajir Hai Usaka Kitanee Shiddat Se Faraaz,
Vo Jaanata Hai Par Anajaan Bana Rahata Hai.


कोई मुन्तजिर है उसका कितनी शिद्दत से फ़राज़,
वो जानता है पर अनजान बना रहता है।


Aapase Yah Dooree Hamase Sahee Nahin Jaatee,
Juda Hoke Aapase Hamase Raha Nahin Jaata,


Ab Toh Vaapas Laut Aaeeye Hamaare Paas,
Dil Ka Haal Ab Lafzon Mein Kaha Nahin Jaata!


आपसे यह दूरी हमसे सही नहीं जाती,
जुदा होके आपसे हमसे रहा नहीं जाता,

अब तोह वापस लौट आईये हमारे पास,

दिल का हाल अब लफ़्ज़ों में कहा नहीं जाता!


Hamaaree Aankh Se Girata Jo Tere Pyaar Ka Motee,
Use Hothon Se Chun Letee Agar Tum Saamane Hotee.


हमारी आँख से गिरता जो तेरे प्यार का मोती,
उसे होठों से चुन लेती अगर तुम सामने होती।


Etibaar-I-Ishq Kee Khaana-Kharaabee Dekhana
Gair Ne Kee Aah Lekin Vo Khapha Mujh Par Huye


एतिबार-इ-इश्क़ की खाना-खराबी देखना
गैर ने की आह लेकिन वो खफा मुझ पर हुये


Tamannaon Ke Ye Die Jalate Rahenge,
Meree Aankhon Se Aansoo Nikalate Rahenge,


Aap Shamaan Banake Dil Mein Raushanee To Karo,
Ham To Mom Banakar Pighalate Rahenge.


तमन्नाओं के ये दिए जलते रहेंगे,
मेरी आँखों से आँसू निकलते रहेंगे,


आप शमां बनके दिल में रौशनी तो करो,
हम तो मोम बनकर पिघलते रहेंगे।


Jisako Chaaho Use Chaahat Bata Bhee Dena,
Kitana Pyaar Hai Usase Ye Jata Bhee Dena,


Ki Dil Usaka Kaheen Aur Na Lag Jae,
Karake Izahaar Usake Dil Ko Chura Bhee Lena,

Galatee Se Roothe Kabhee To Use Mana Bhee Lena,

Ki Bahut Haseen Hota Hai Ye Pyaar Ka Rishta,
Kabhee Galatee Se Bhee Ise Tod Na Lena.,


जिसको चाहो उसे चाहत बता भी देना,
कितना प्यार है उससे ये जता भी देना,


कि दिल उसका कहीं और ना लग जाए,

करके इज़हार उसके दिल को चुरा भी लेना,
गलती से रूठे कभी तो उसे मना भी लेना,


कि बहुत हसीन होता है ये प्यार का रिश्ता,
कभी ग़लती से भी इसे तोड़ ना लेना।


Unakee Duaon Se Hame Vo Sahaara Mila,
Jo Milata Nahee Kisee Ko Vo Kinaara Mila,


Kin Lafzon Me Ham Bayaan Kare Unakee Ahamiyat,
Jaane Kitano Kee Bheed Me Koee Itana Pyaara Mila!


उनकी दुआओं से हमे वो सहारा मिला,
जो मिलता नही किसी को वो किनारा मिला,


किन लफ़्ज़ों मे हम बयान करे उनकी अहमियत,
जाने कितनो की भीड़ मे कोई इतना प्यारा मिला!


Dil Lagata Nahee Hai Ab Tumhaare Bina,
Khaamosh Se Rahane Lage Hai Tumhaare Bina,


Jaldee Laut Aao Ab Yahee Chaah Hai,
Varana Jee Na Paenge Tumhaare Bina!


दिल लगता नही है अब तुम्हारे बिना,
खामोश से रहने लगे है तुम्हारे बिना,


जल्दी लौट आओ अब यही चाह है,
वरना जी ना पाएँगे तुम्हारे बिना!


Najar Namaaj Najariya Sab Kuchh Badal Gaya,
Ek Roj Ishq Hua Aur Mera Khuda Badal Gaya.


नजर नमाज नजरिया सब कुछ बदल गया,
एक रोज इश्क़ हुआ और मेरा खुदा बदल गया।


Kitane Saalon Ke Intazaar Ka Saphar Khaak Hua . 
Usane Jab Poochha “Kaho Kaise Aana Hua”.

कितने सालों के इंतज़ार का सफर खाक हुआ ।
उसने जब पूछा “कहो कैसे आना हुआ”।


Sirf Meree Hee Nazare Ho Hamesha Unape,
Koee Aur Aankhen Unaka Deedaar Na Kare,


Meree Muhabbat Kee Ho Shiddat Itanee Gaharee,
Ke Bhool Se Bhee Vo Kisee Aur Se Ishq Na Kare!


सिर्फ़ मेरी ही नज़रे हो हमेशा उनपे,
कोई और आँखें उनका दीदार ना करे,


मेरी मुहब्बत की हो शिद्दत इतनी गहरी,
के भूल से भी वो किसी और से इश्क़ ना करे!


Kahaan Maee-Khaane Ka Daravaaja ‘Gaalib’ Aur Kahaan Vaiz
Par Itana Jaanate Hain Kal Vo Jaata Tha Kee Ham Nikale


कहाँ मई-खाने का दरवाजा ‘ग़ालिब’ और कहाँ वाइज़
पर इतना जानते हैं कल वो जाता था की हम निकले


Door Baith Rahoge,
Paas Na Aaoge Kabhee,
Aise Roothoge To Jaan Le Jaoge Kabhee.


दूर बैठ रहोगे,
पास न आओगे कभी,
ऐसे रूठोगे तो जान ले जाओगे कभी.


Kuchh Log Toot Kar Chaahate Hain,
Kuchh Log Chaah Kar Toot Jaate Hain,


Hamen Tumase Hai Kitanee Mohabbat,
Kabhee Aao Hamaare Paas Tumhen Bataate Hain.


कुछ लोग टूट कर चाहते हैं,
कुछ लोग चाह कर टूट जाते हैं,

हमें तुमसे है कितनी मोहब्बत,

कभी आओ हमारे पास तुम्हें बताते हैं.


Waqt Ne Khatm Kar Die Sab Vaseele Shauk Ke
Dil Tha Ulat Palat Gaya Aankh Thee Bujh Bujh Gaye


वक़्त ने खत्म कर दिए सब वसीले शौक के
दिल था उलट पलट गया आँख थी बुझ बुझ गई


Nazaren Mile To Pyaar Ho Jaata Hai,
Palaken Uthe To Izahaar Ho Jaata Hai,


Na Jaane Kya Kashish Hai Chaahat Mein,
Kee Koee Anjaan Bhee Hamaaree Zindagee 

Ka Haqadaar Ho Jaata Hai!

नज़रें मिले तो प्यार हो जाता है,
पलकें उठे तो इज़हार हो जाता है,


ना जाने क्या कशिश है चाहत में,
की कोई अंजान भी हमारी ज़िंदगी 

का हक़दार हो जाता है!


Tum Aao Aur Kabhee Dastak To Do Is Dil Par,
Pyaar Ummeed Se Kam Ho To Saza-E-Maut De Dena.


तुम आओ और कभी दस्तक तो दो इस दिल पर,
प्यार उम्मीद से कम हो तो सज़ा-ए-मौत दे देना।


Kuchh Is Ada Se Tode Hai Taalluk Usane,
Ek Muddat Se Dhoondh Raha Hoon Kasoor Apana.


कुछ इस अदा से तोड़े है ताल्लुक उसने,
एक मुद्दत से ढूंढ़ रहा हूँ कसूर अपना।


Udhar Vo Bad-Gumaanee Hai Idhar Ye Na-Tavaanee Hai
Na Poochha Jae Hai Us Se Na Bolai Jaaye Hai Mujh Se


उधर वो बद-गुमानी है इधर ये ना-तवानी है
न पूछा जाए है उस से न बोलै जाये है मुझ से


Roz Roz Aaina Mat Dekha Karo,
Dekhana Ho To Meree Dp Dekho,


Isamen
Tera Chehra Nazar Aayega,


रोज़ रोज़ आइना मत देखा करो,
देखना हो तो मेरी DP देखो,


इसमें
तेरा चेहरा नज़र आयेगा,


Aap Khud Nahin Jaanatee Aap Kitanee Pyaaree Ho,
Jaan Ho Hamaaree Par Jaan Se Pyaaree Ho,


Dooriyon Ka Hone Se Koee Phark Nahee Padata
Aap Kal Bhee Hamaaree Thee Aur Aaj Bee Hamaaree Ho..


आप खुद नहीं जानती आप कितनी प्यारी हो,
जान हो हमारी पर जान से प्यारी हो,


दूरियों क होने से कोई फर्क नही पड़ता
आप कल भी हमारी थी और आज बी हमारी हो..


De Mujh Ko Shikayat Kee Ijaazat Kee Sitamagar
Kuchh Tujh Ko Maza Bhee Meere Aazaar Mein Aave


दे मुझ को शिकायत की इजाज़त की सितमगर
कुछ तुझ को मज़ा भी मीरे ाज़ार में आवे


Jane Us Shakhs Ko Kaisa Ye Hunar Aata Hai,
Raat Hoti Hai To Aankhon Mein Utar Aata Hai,


Main Us Ke Khayalon Se Bach Ke Kahan Jaoon,
Vo Meree Soch Ke Har Raste Pe Najar Aata Hai.,


जाने उस शख्स को कैसा ये हुनर आता है,
रात होती है तो आँखों में उतर आता है,


मैं उस के ख्यालों से बच के कहाँ जाऊं,
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है।


Tere Haath Kee Main Vo Lakeer Ban Jaoon,
Sirf Main Hee Tera Mukkdar Teree Taqadeer Ban Jaoon,


Main Tujhe Itana Chaahoon Ka Too Bhool Jae Har Rishta
Sirf Main Hi Tere Har Rishte Ki Tasveer Ban Jaoon,


Too Aankhen Band Kare To Aaoon Main Hee Nazar,
Is Tarah Main Tere Har Khawab Ki Tadabeer Ban Jaoon!

तेरे हाथ की मैं वो लकीर बन जाऊं,
सिर्फ़ मैं ही तेरा मुक्क्दर तेरी तक़दीर बन जाऊं,


मैं तुझे इतना चाहूँ क तू भूल जाए हर रिश्ता
सिर्फ़ मैं ही तेरे हर रिश्ते की तस्वीर बन जाऊं,


तू आँखें बंद करे तो आऊं मैं ही नज़र,
इस तरह मैं तेरे हर खवाब की तदबीर बन जाऊं!


Surkh Aankho Se Jab Vo Dekhate Hai,
Ham Ghabra Kar Aankhe Jhuka Lete Hai,


Kyoo Milae Un Aankho Se Aankhe,
Suna Hai Vo Aankhon Se Apna Bana Lete Hai.


सुर्ख आँखो से जब वो देखते है,
हम घबराकर आँखे झुका लेते है,


क्यू मिलाए उन आँखो से आखे,
सुना है वो आखो से अपना बना लेते है।


Sukoon Milata Hai Jab Unase Baat Hotee Hai,
Hajaar Raaton Mein Vo Ek Raat Hotee Hai,


Nigaah Uthaakar Jab Dekhate Hain Vo Meree Taraph,
Mere Lie Vahee Pal Pooree Kaayanaat Hotee Hai.


सुकून मिलता है जब उनसे बात होती है,
हजार रातों में वो एक रात होती है,


निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ,
मेरे लिए वही पल पूरी कायनात होती है।


Jee Karta Hai Muft Mein Hee 
Use Apanee Jaan Bhi De Doon .

Itne Masoom Khareedadaar Se 
Kya Len – Den Karana .

जी करता है मुफ्त में ही 

उसे अपनी जान भी दे दूँ .

इतने मासूम खरीददार से 
क्या लेन – देन करना .


Mujhko Phir Wahi Suhana Nazara Mil Gaya,
Nazron Ko Jo Deedar Tumhara Mil Gaya,

Aur Kisi Cheez Ki Tamanna Kyun Karu,
Jab Mujhe Teri Baahon Mein Sahara Mil Gaya.

मुझको फिर वही सुहाना नज़ारा मिल गया,
नज़रों को जो दीदार तुम्हारा मिल गया,

और किसी चीज़ की तमन्ना क्यों करूँ,
जब मुझे तेरी बाहों में सहारा मिल गया.


Abhi To Sath Chalna Hai,
Samandar Ki Musafat Mein,


Kinaare Par Hee Dekhenge,
Kinara Kaun Karta Hai.


अभी तो साथ चलना है,
समंदर की मुसाफत में,


किनारे पर ही देखेंगे,
किनारा कौन करता है।


Ek Tu Teri Awaz Yaad Aayegi,
Teri Kahi Hui Har Baat Yaad Aayegi,

Din Dhal Jaye Raat Yaad Aayegi,
Har Lamha Pehli Mulakat Yaad Aayegi.

एक तू तेरी आवाज़ याद आएगी,
तेरी कही हुई हर बात याद आएगी,

दिन ढल जाये रात याद आएगी,

हर लम्हा पहली मुलाकात याद आएगी.


Dil Hi Dil Mein Tujhe Pyar Karte Hain,
Chup-Chap Mohabbat Ka Izhaar Karte Hai,

Ye Jante Hue Bhi Aap Meri Kismat Mein Nahi,

Par Paane Kee Koshish Baar-Baar Karate Hai.

दिल ही दिल में तुम्हें प्यार करते हैं,
चुप-चाप मोहब्बत का इजहार करते हैं,


ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं,
पर पाने की कोशिश बार-बार करते है।


Tumhen Jaroor Koee Chaahaton Se Dekhega,
Magar Vo Aankhen Hamari Kahan Se Layega.


तुम्हें जरूर कोई चाहतों से देखेगा,
मगर वो आँखें हमारी कहाँ से लायेगा।


Kal Kya Khoob Ishq Se Inteqam Liya Maine,
Kaagaz Par Likha Ishq Aur Use Zala Diya.


कल क्या खूब इश्क़ से इन्तेकाम लिया मैंने,
कागज़ पर लिखा इश्क़ और उसे ज़ला दिया।


Ishq Mohabbat to Sab Karte Hain,
Gam-ai-judai Se Sab Darte Hain,

Ham to Na Ishk Karate Hain Na Muhabbat,

Ham to Bas Aapki Ek..
Muskurahat Paane Ke Liye Taraste Hain!

इश्क मुहब्बत तो सब करते हैं,
गम-ऐ-जुदाई से सब डरते हैं,

हम तो न इश्क करते हैं न मुहब्बत,
हम तो बस आपकी एक..
मुस्कुराहट पाने के लिए तरसते हैं!


Aapke Naam Ye Khula Paigaam Likhte Hain,
Aapki Yaad Mein Guzri Wo Shaam Likhte Hain,


Vo Kalam Bhi Aap Ki Deewani Ho Jaati Hai,
Jisase Ham Aapaka Naam Likhate Hain.


आपके नाम ये खुला पैगाम लिखते हैं,
आपकी याद में गुजरी वो शाम लिखते हैं,


वो कलम भी आपकी दीवानी हो जाती है,
जिससे हम आपका नाम लिखते हैं।


Mohabbat Naapane Ka Koi Paimana Nahin Hota,
Kahin Tu Badh Bhi Sakta Hai,
Kaheen Too Mujh Se Kam Hoga.


मो
हब्बत नापने का कोई पैमाना नहीं होता,
कहीं तू बढ़ भी सकता है,
कहीं तू मुझ से कम होगा।


Thee Khabar Garm Kee ‘Gaalib’ Ke Udenge Purje
Dekhne Ham Bhi Gae The P Tamasha Na Hua


थी खबर गर्म की ‘ग़ालिब’ के उड़ेंगे पुर्जे
देखने हम भी गए थे प् तमाशा न हुआ


Chalate Rahane Do Ye Silsile,
Ye Mohabbaton Ke Kaafile,


Bahut Door Ham Nikal Jaen,
Ki Laut Ke Phir Na Aa Sake.


चलते रहने दो ये सिलसिले,
ये मोहब्बतों के काफिले,


बहुत दूर हम निकल जाएँ,
कि लौट के फिर न आ सकें।


Koi Umeed Bar Nahi Aati
Koi Soorat Nazar Nahi 
Aati

कोई उम्मीद बर नहीं आती
कोई सूरत नज़र नहीं आती


Tum Jaano Tum Ko Gair Se Jo Rasm-O-Rah Ho
Mujh Ko Bhi Poochhate Raho To Kya Gunaah Ho


तुम जानो तुम को गैर से जो रस्म-ो-राह हो
मुझ को भी पूछते रहो तो क्या गुनाह हो


Vo Jaate Hue Kah Gaye Kee Ab To 
Ham Sirf Tumhaare Khvaabo Me Hee Aaege,

Koee Kah De Unase Jaake Kee Vo Vaada To 

Nibhae Hum Zindagi Bhar Ke Liye So Jayenge!

वो जाते हुए कह गये की अब तो 
हम सिर्फ़ तुम्हारे ख्वाबो मे ही आएगे,

कोई कह दे उनसे जाके की वो वादा तो

 निभाए हम ज़िंदगी भर के लिए सो जाएगे!


Sab Tujhe Chahte Honge,
Tera Saath Paane Ke Liye,


Mai Tujhe Chahta Hoon 

Tera Saath Dene Ke Liye

सब तुजे चाहते होंगे,
तेरा साथ पाने के लिये,


मै तुजे चाहता हूँ 

तेरा साथ देने के लिये


Tujhse Hi Har Subha Ho Meri,
Tujhse Hi Har Sham,

Kuch Aisa Rishta Ban Gaya Tujhse,
Ki Har Saanson Mein Sirf Tera Hi Naam.

तुझसे ही हर सुबह हो मेरी,
तुझसे ही हर शाम,

कुछ ऐसा रिश्ता बन गया तुझसे,

की हर साँसों में सिर्फ तेरा ही नाम.


Koee Hamen Block Kare*
*Ya Koi Lock Kare*


*Par Ham To Use Ke Naseeb Mein Honge*
*Jo Mere Dil Par Nochk Kare.*


कोई हमें block करे*
*या कोई lock करे*


*पर हम तो उसी के नसीब में होंगे*
*जो मेरे दिल पर nock करे.*


Agar Talash Karoge To Mil Hee Jaayega,
Magar Hamari Tarah Kaun Tujhe Chahega.


अगर तलाश करोगे तो मिल ही जायेगा,
मगर हमारी तरह कौन तुम्हें चाहेगा।