Dooriyan Shayari अध्याय लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Doorie Shayari in Hindi | दूरियाँ शायरी – दूरी हिंदी शायरी | अध्याय 2

अक्तूबर 31, 2019


sad shayari,hindi shayari,shayari,dooriyan shayari,motivational shayari,heart touching shayari,love shayari,urdu shayari,heart broken shayari,heart touching shayari in hindi,dooriyan in love sad shayari,khamosh dooriyan sad shayari,doori shayari,duriya shayari,very sad shayari,pyar shayari,dooriyan,dooriyan song by guri,duriya shayari hindi,romantic shayari,pyar me duriya shayari,ishwar shayari,breakup shayari

कैसे बनाऊँ तेरी यादों से दूरियाँ ….
दो कदम जाकर……..
सौ कदम लौट आती हूँ……


Kaise Bataoon Teri Yaadon Se Dooriyan ….
Do Kadam Jaakar……..
Sau Kadam Laut Aati Hoon……


बहुत दूर निकल आये हैं चलते चलते
हम बहुत दूर निकल आये हैं चलते चलते
अब ठहर जाएँ कहीं शाम के ढलते ढलते
रात के बाद सहर होगी मगर किस के लिए
हम भी शायद न रहें रात के ढलते ढलते


Bahut Door Nikal Aaye Hain Chalte Chalte
Ham Bahut Door Nikal Aaye Hain Chalte Chalte
Ab Thahar Jaye Kahin Shaam Ke Dhalte Dhalte
Raat Ke Baad Sahir Hogi Magar Kis Ke Liye
Hum Bhi Shayad Na Rahe Raat Ke Dhalte Dhalte,


कुछ दूरियां तो कुछ फासले बाकी हैं
अभी कुछ दूरियां तो कुछ फासले बाकी हैं
पल पल सिमटती शाम से कुछ रौशनी बाकी हैं
हमें यकीन है वो देखा हुआ कल आएगा ज़रूर
अभी वो हौसले वो यकीन बाकी हैं


Kuchh Dooriyaan To Kuchh Phaasale Baakee Hain
Abhi Kuchh Dooriyan To Kuchh Phaasale Baki Hain
Pal Pal Simatatee Shaam Se Kuchh Roshanee Baki Hain
Hamen Yakeen Hai Vo Dekha Hua Kal Aaega Zaroor
Abhee Vo Hausale Vo Yakeen Baakee Hain,


कभी कभी मिटते नही,
चंद लम्हों के फांसले…
एहसास अगर जिन्दा हो,
मिट जाती है दूरियाँ ….


Kabhi Kabhi Milte Nahi,
Chand Lamhon Ke Phaansale…
Ehsaas Agar Zinda Ho,
Mit Jaate Hai Dooriyan ….


मुझसे दूरियाँ बनाकर तो देखो…
फिर पता चलेगा कितना नज़दीक हूँ मैं..


Mujhse Dooriyan Bana Kar To Dekho…
Phir Pata Chalega Kitana Nazdeek Hoon Main..


चले गए हो दूर
चले गए हो दूर कुछ पल के लिए
दूर रह कर भी मेरे करीब हो हर पल अप्प
फिर कैसे याद न आये आप हर एक पल के लिए
जब दिल में बसी हो आप हर पल के लिए

Chale Gaye Ho Dur
Chale Gaye Ho Dur Kuchh Pal Kai Liye
Dur Rah Kar Bhi Mere Kareeb Ho Har Pal App
Phir Kaise Yaad Na Aaye Aap Har Ek Pal Ke Liye
Jab Dil Main Basi Ho Aap Har Pal Ke Liye,


दूर हो कर भी
दूर हो कर भी करीब रहने की आदत है
याद बनकर दिल में बस जाने की आदत है
करीब न होते हुए भी करीब पाओगे तुम मुझे
एहसास बनकर रहने की आदत है मुझे


Door Hokar Bhi
Door Ho Kar Bhi Kareeb Rahane Ki Aadat Hai
Yaad Bankar Dil Mein Bas Jaane Ki Aadat Hai
Kareeb Na Hote Hue Bhi Kareeb Paoge Tum Mujhe
Ehasaas Bankar Rahane Ki Aadat Hai Mujhe


उनके दूर जाने के साथ
उनके दूर जाने के साथ आँखे नम्म थी
ज़िन्दगी उनसे शुरू उनपर ख़तम थी
वो रूठ के दूर रहने लगे हमसे
शायद हमारी मोहब्बत में ही कमी थी

Unkai Dur Janai Kai Sath
Unkai Dur Janai Kai Sath Ankhai Namm Thi
Zindagi Unsai Shuru Unpar Khatam Thi
Wo Rooth Kar Dur Rehne Lage Humse
Shayad Hamari Mohabbat Main Hi Kami Thi,


दूरियाँ बढ़ी तो दिल से भी दूर जाने लगे ।
अब तो वो हाल-ए-दिल बताने में भी कतराने लगे ।।


Dooriyaan Badhee To Dil Se Bhee Door Jaane Lage .
Ab To Vo Haal-E-Dil Bataane Mein Bhi Kataraane Lage ..


तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे
तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे हम
दूर फ़िज़ाओं में कहीं खो जायेंगे हम
हमारी यादों से लिपट कर रोते रहोगे
जब ज़मीन की मट्टी में सो जायेंगे हम


Teri Nazaron Se Ojhal Ho Jaayenge
Teri Nazaron Se Ojhal Ho Jayenge Hum
Door Fizaon Mein Kahin Kho Jayenge Hum
Hamari Yaadon Se Lipat Kar Rote Rahoge
Jab Zameen Kee Mattee Mein So Jaayenge Ham,


ये कैसा अजब सा प्यार है
जिस में ना मिलने की आस ना कोई तकरार है
दूरियाँ इतनी की सही न जाएँ
फिर भी निभाने की चाह बरक़रार है

Ye Kaisa Ajab Sa Pyaar Hai
Jis Mein Na Milne Ki Aas Na Koi Takaraar Hai
Dooriyan Itanee Kee Sahee Na Jaen
Phir Bhi Nibhane Ki Chah Beqaraar Hai


कौन कहता है कि दूरियाँ,
मिलों में नापी जाती हैं;
कभी खुद से मिलने में भी 

उम्र गुज़र जाती है.

Kaun Kehta Hai Ki Dooriyan,
Milon Mein Naapi Jaate Hain;
Kabhi Khud Se Milane Mein Bhi

Umar Guzar Jaati Hai.


जान न सके दूरियाँ क्यूँ थी
न कभी जान सके दूरियां क्यों थी
जुबान पर थे लफ़ज़ फिर मजबूरीयों क्यूँ थी
दिलों की बातें अगर हक़ीक़त होती है
हमारे दरमियान वो खामोशियाँ न होती
बुने थे हमने भी कुछ रेशमी धागों से ख्वाब
मगर हमारे हाथों में काली दूरियाँ क्यूँ थी

Jan Na Sakai Dooriyan Kyun Thi
Na Kabhi Jan Sakai Dooriyan Kyun Thi
Zuban Par Thai Lafaz Phir Majbooriyon Kyun Thi
Dilon Ki Baatein Agar Haqiqat Hoti Hai
Hamarai Darmiyan Wo Khamoshiyan Na Hoti
Bunai Thai Humne Bhi Kuchh Raishmi Dhaagon Sai Khwab
Magar Hamare Hathon Mein Kaali Dooriyan Kyun Thi,


TAG:
sad shayari,hindi shayari,shayari,dooriyan shayari,motivational shayari,heart touching shayari,love shayari,urdu shayari,heart broken shayari,heart touching shayari in hindi,dooriyan in love sad shayari,khamosh dooriyan sad shayari,doori shayari,duriya shayari,very sad shayari,pyar shayari,dooriyan,dooriyan song by guri,duriya shayari hindi,romantic shayari,pyar me duriya shayari,ishwar shayari,breakup shayari

Read More

Dooriyan Shayari in Hindi | दूरियाँ शायरी – हिंदी शायरी | अध्याय 1

अक्तूबर 29, 2019


sad shayari,hindi shayari,shayari,dooriyan shayari,motivational shayari,heart touching shayari,love shayari,urdu shayari,heart broken shayari,heart touching shayari in hindi,dooriyan in love sad shayari,khamosh dooriyan sad shayari,doori shayari,duriya shayari,very sad shayari,pyar shayari,dooriyan,dooriyan song by guri,duriya shayari hindi,romantic shayari,pyar me duriya shayari,ishwar shayari,breakup shayari

दूर निगाहों से बार बार जाया न करो
दूर निगाहों से बार बार जाया न करो
दिल को इस क़दर तड़पाया न करो
तुम बिन एक पल भी जी न सकेंगे हम
यह एहसास बार बार हमें दिलाया न करो

Dur Nigahon Sai Baar Baar Jay Na Karo
Dur Nigahon Sai Baar Baar Jay Na Karo
Dil Ko Iss Kadar Tadpaya Na Karo
Tum Bin Ek Pal Bhi Jee Na Sakenge Hum
Yeh Ihssas Baar Baar Humai Dilaya Na Karo,


कब मिटेगें फासले
न जाने कब इस दिल की हसरत पूरी होगी
कब मिटेगें फासले और दूर ये दूरी होगी
दूर रहने की कौन सी ऐसी मज़बूरी होगी
बिना उस के ज़िन्दगी यकीनन अधूरी होगी


Kab Mitenge Faasle
Na Jaane Kab Is Dil Ki Hasrat Poori Hogee
Kab Mitegen Faasle Aur Door Ye Doori Hogee
Door Rahane Kee Kaun See Aisee Mazabooree Hogee
Bina Uski Zindagi Yaqeenan Adhoori Hogee,


उनके दूर जाने के साथ
उनके दूर जाने के साथ आंखे नम थी
ज़िन्दगी उनसे शुरू उन पर खत्म थी
वो रूठ के दूर रहने लगे हमसे
शायद हमारी मोहब्बत में ही कमी थी


Unake Door Jaane Ke Saath
Unake Door Jaane Ke Saath Aankhe Nam Thee
Zindagee Unase Shuroo Un Par Khatm Thee
Vo Rooth Ke Door Rahane Lage Hamase
Shaayad Hamaaree Mohabbat Mein Hee Kamee Thee


तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे हम
तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे हम
दूर फ़िज़ाओं में कहैं खो जायेंगे हम
हमारी यादों से लिपट कर रोते रहोगे
जब जमीन की मिट्टी में सो जायेंगे हम

Teri Nazron Se Ojhal Ho Jayenge Hum
Teri Nazron Se Ojhal Ho Jayenge Hum
Dur Fizaon Mein Kahin Kho Jayenge Hum
Hamari Yaadon Se Lipat Kar Rote Rahoge
Jab Zameen Ki Mitti Mein So Jayenge Hum,


कुछ दूरियां तो कुछ फ़ासले बाकी हैं
अभी कुछ दूरियां तो कुछ फ़ासले बाकी हैं
पल पल सिमटती शाम से कुछ रौशनी बाकी हैं
हमें यकीन है वो देखा हुआ कल आएगा ज़रूर
अभी वो हौंसले वो उम्मीदें बाकी हैं

Kuchh Dooriyan To Kuchh Faaslai Baaki Hain
Abhi Kuchh Dooriyan To Kuchh Faaslay Baaki Hain
Pal Pal Simatati Sham Sai Kuchh Roshni Baaki Hain
Hamai Yakaiain Hai Wo Daikh Hu Kal Aayaig Zaroor
Abhi Wo Housale Wo Umeedein Baki Hain,


दूरी सहन नहीं होती
दूरी सहन नहीं होती अब मुझसे
इस कदर प्यार कर बैठे है तुझसे
दुआ मांगू भी तो कैसे मिलने की तुमसे
मेरा तो रब ही खफा है मुझसे

Dooree Sahan Nahi Hoti
Dooree Sahan Nahi Hoti Ab Mujhase
Is Kadar Pyaar Kar Baithe Hai Tujhse
Dua Maango Bhi To Kaise Milane Kee Tumse
Mera To Rab Hai Khafa Hai Mujhse,


इतनी दूरियाँ ना बढ़ाओ थोड़ा सा याद ही कर लिया करो,
कहीं ऐसा ना हो कि तुम-बिन जीने की आदत सी हो जाए…


Itanee Dooriyaan Na Badhao Thoda Sa Yaad Hee Kar Liya Karo,
Kahin Aisa Na Ho Ki Tum-Bin Jeene Ki Aadat Si Ho Jae…


बहुत दूर निकल आये हैं चलते चलते
हम बहुत दूर निकल आये हैं चलते चलते
अब ठहर जाएँ कहीं शाम के ढलते ढलते
रात के बाद सेहर होगी मगर किस के लिए
हम भी शायद न रहें रात के ढलते ढलते

Bahut Dur Nikal Aaye Hain Chalte Chalte
Hum Bahut Dur Nikal Aaye Hain Chalte Chalte
Ab Thahar Jaye Kahin Sham Ke Dhaltay Dhaltay
Raat Ke Baad Saihar Hogi Magar Kis Kai Liyai
Hum Bhi Shayad Na Rahe Raat Kai Dhalte Dhalte,


जान न सके दूरियां क्यों थी
न कभी जान सके दूरियां क्यों थी
ज़ुबान पर थे लफ्ज़ फिर मजबूरियाँ क्यों थी
दिलों की बातें अगर हक़ीक़त होती है
हमारे दरमियाँ वो खामोशियाँ न होती
बुने थे हमने भी कुछ रेशमी धागों से ख्वाब
मगर हमारे हाथों में काली डोरियां क्यों थी


Jaan Na Sake Dooriyan Kyon Thee
Na Kabhi Jaan Sake Dooriyan Kyon Thee
Zubaan Par The Lafz Phir Majbooriyaan Kyon Thee
Dilon Kee Baaten Agar Haqeeqat Hotee Hai
Hamaare Darmiyan Vo Khamoshiyan Na Hotee
Bune The Humne Bhee Kuchh Reshamee Dhaagon Se Khvaab
Magar Hamaare Haathon Mein Kaalee Doriyaan Kyon Thee,


तू हमेशा दूरियाँ
बढ़ाने का शौक पूरा कर
पर
हमारी भी जिद है
दुआ में
तुझको ही माँगेंगें


Too Hamesha Dooriyaan
Badhaane Ka Shauk Poora Kar
Par
Hamaaree Bhee Jid Hai
Dua Mein
Tujhako Hee Maangengen


कब मिटेंगे फासले
न जाने कब इस दिल की हसरत पूरी होगी
कब मिटेगी फ़ासले और दूर ये दूरी होगी
दूर रहने की कोनसी ऐसी मज़बूरी होगी
बिना उसके ज़िन्दगी यकीनन अधूरी होगी

Kab Mitaige Faasle
Na Janai Kab Is Dil Ki Hasrat Puri Hogi
Kab Mitaigai Faaslai Aur Door Yai Doori Hogi
Door Raihnai Ki Konsi Aisi Majburi Hogi
Bin Us Kai Zindagi Yakaiainan Adhuri Hogi,


दूर हो कर भी
दूर हो कर भी करीब रहने की आदत है
याद बनकर आँखों में बसने की आदत है
करीब न होते हुए भी करीब पाओगे तुम मुझे
एहसास बनकर रहने की आदत है मुझे

Door Ho Kar Bhi
Door Ho Kar Bhi Karaiaib Raihnai Ki Aadat Hai
Yaad Bankar Aankhon Maiin Basnai Ki Aadat Hai
Karaiaib Na Hotai Huai Bhi Karaiaib Paogai Tum Mujhe
Aihsas Bankar Rahnai Ki Aadat Hai Mujhe,


दूरी सहन नहीं होती
दूरी सहन नहीं होती अब मुझसे
इस कदर प्यार कर बैठे है तुझसे
दुआ माँगे भी तो किस से मिलने की तुमसे
मेरा तो रब ही खफा है मुझसे


Dooree Sahan Nahin Hotee
Dooree Sahan Nahi Hoti Ab Mujhase
Is Kadar Pyaar Kar Baithe Hai Tujh Se
Dua Mange Bhi To Kis Se Milne Ki Tumse
Mera To Rab Hee Khafa Hai Mujhse


दूर निगाहों से बार बार जाया न करो
दूर निगाहों से बार बार जाया न करो
दिल को इस कदर तड़पाया न करो
तुम बिन एक पल भी जी न सकेंगे हम
यह एहसास बार बार हमे दिलाया न करो


Door Nigahon Se Baar Baar Jaaya Na Karo
Door Nigaahon Se Baar Baar Jaaya Na Karo
Dil Ko Is Kadar Tadpaya Na Karo
Tum Bin Ek Pal Bhi Jee Na Sakenge Ham
Yeh Ehsaas Baar Baar Hame Dilaya Na Karo,


चले गए हो दूर
चले गए हो दूर कुछ पल के लिए
दूर रह कर भी मेरे करीब हो हर पल अप्प
फिर कैसे याद न आये आप हर एक पल के लिए
जब दिल में बसे हो आप हर पल के लिए

Chale Gae Ho Door
Chale Gae Ho Door Kuchh Pal Ke Lie
Door Raah Kar Bhi Mere Kareeb Ho Har Pal App
Phir Kaise Yaad Na Aaye Aap Har Ek Pal Ke Liye
Jab Dil Mein Base Ho Aap Har Pal Ke Liye


TAG:
sad shayari,hindi shayari,shayari,dooriyan shayari,motivational shayari,heart touching shayari,love shayari,urdu shayari,heart broken shayari,heart touching shayari in hindi,dooriyan in love sad shayari,khamosh dooriyan sad shayari,doori shayari,duriya shayari,very sad shayari,pyar shayari,dooriyan,dooriyan song by guri,duriya shayari hindi,romantic shayari,pyar me duriya shayari,ishwar shayari,breakup shayari

Read More