Chand Shayari in Hindi Font - चाँद पर शायरी | अध्याय 3


chand shayari, shayari, hindi shayari, sad shayari, chand, love shayari, sad shayari status, shayari status, chaand shayari, chand sad shayari, chand per shayari, urdu shayari, romantic shayari, chand shayari urdu, mera chand shayari, rahat indori best shayari, chand raat shayari, chandni shayari, gnooj chand shayari, goonj chand shayari, tanha chand shayari, chand shayari 2 line, chand sher o shayari, chand shayari poetry

वो थका हुआ मेरी बाहों में ज़रा सो गया था तो क्या हुआ,
अभी मैं ने देखा है चाँद भी किसी शाख़-ए-गुल पे झुका हुआ 


Wo Thaka Hua Meri Baaho Me Jara Sa So Gaya Tha To Kya Hua,
Abhi Maine Dekha Hain Chand Bhi Kisi Shakh-E-Gul Pe Jhuka Hua..


कौन कहता है क़ि चाँद तारे तोड़ लाना ज़रूरी है,
दिल को छू जाए प्यार से दो लफ्ज़,
वही काफ़ी है…


Kaun Kehta Hai Ki Chand Taare Tod Lana Jaruri Hai,
Dil Ko Chhu Jaaye Pyar Se Do Lafz 

Wahi Kafi Hain..


चाँद मत मांग मेरे चाँद जमीं पर रहकर,
खुद को पहचान मेरी जान खुदी में रहकर


Chand Mat Mang Mere Chand Zamin Par Rahakar,
Khud Ko Pehchan Meri Jaan Khudi Me Rahkar..


चाँद के साथ कई दर्द पुराने निकले
कितने ग़म थे जो तेरे ग़म के बहाने निकले


Chand Ke Sath Kai Dard Purane Nikale,
Kitane Gam The Jo Tere Gam Ke Bahane Nikale..


दिन में चैन नहीं ना होश है रात में,
खो गया है चाँद भी देखो बादल के आगोश में..

Din Me Chain Nahi Naa Hosh Raat Me,
Kho Gaya Hain Chand Bhi Dekho,
Badal Ke Aagosh Me..


रुसवाई का डर है या अंधेरों से मुहब्बत खुदा जाने,
अब मैं चाँद को अपने आँगन में उतरने नहीं देता..

Ruswai Ka Dar Hai Ya Andhero Se Mohabbat,
Khuda Jaane,
Ab Main Chand Ko Apne Aangan Mein Utarate Nahi Dekha..


रातों में टूटी छतों से टपकता है चाँद,
बारिशों सी हरकतें भी करता है चाँद..

Raato Me Tooti Chhaton Se Tapakta Hain Chand,
Baarisho Si Harakate Karata Hai Chand..


तस्वीर बना कर तेरी आस्मां पे टांग आया हूँ ,
और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है..

Tasveer Bana Ke Teri Aasmaan Pe Tang Aaya Hu,
Aur Log Puchhate Hain Aaj Chand Itana Bedaag Kaise Hai..


रात में एक टूटता तारा देखा बिलकुल मेरे जैसा था,
चाँद को कोई फर्क नहीं पड़ा बिलकुल तेरे जैसा था..

Raat Me Tutata Tara Dekha Bilakul Mere Jaisa Tha,
Chand Ko Koi Fark Nahi pada bilakul Tere Jaisa Tha..


बेचैन इस क़दर था कि सोया न रात भर
पलकों से लिख रहा था तेरा नाम चाँद पर


Bechain Is Kadar Tha Ki Soya Na Raat Bhar,
Palako Se Likh Raha Tha Tera Naam,
Chand Par..


TAG:
chand shayari, shayari, hindi shayari, sad shayari, chand, love shayari, sad shayari status, shayari status, chaand shayari, chand sad shayari, chand per shayari, urdu shayari, romantic shayari, chand shayari urdu, mera chand shayari, rahat indori best shayari, chand raat shayari, chandni shayari, gnooj chand shayari, goonj chand shayari, tanha chand shayari, chand shayari 2 line, chand sher o shayari, chand shayari poetry