Nafrat Shayari in Hindi - नफरत शायरी हिंदी शायरी | अध्याय 1


sad shayari, nafrat shayari, love shayari, nafrat, shayari, hindi shayari, dard shayari, romantic shayari, urdu shayari, heart touching shayari, motivational shayari, nafrat bhari shayari, heart broken shayari, broken heart shayari, khud se nafrat shayari, motivation shayari, sad shayari video, nafrat on love hindi shayari, sad shayari status, emotional shayari, nafrat shayari for boyfriend, pyar se nafrat shayari in hindi

Yakin Bhi Rakha Sabr Bhi Kiya Intezar Ke Sab Had Bhi Paar Kiya,
Nahi To Waqt Badla Aur Nahi Khusiyan Nasib Hue,


यकीन भी रखा सबर भी किया इंतज़ार के सब हद भी पार किया,
नाही तो वक़्त बदला और नहीं खुशियां नसीब हुई,


Dil Agar Surat Hi Dekh Ke Lagani Thi 
To Pahle Bata Dete,
Cute To Kutte Bhi Bahut Hote Hain,


दिल अगर सूरत ही देख के लगानी थी 

तो पहले बता देते,
क्यूट तो कुत्ते भी बहोत होते हैं,


Kash Tum Rehte Mere Sath 
Jab Tak Hum Dono Ki Jindagi Thi,

Mere Halat Kya Badle 

Tumhe Bhi Waqt Na Laga Badalne Me,

काश तुम रहते मेरे साथ 

जब तक हम दोनों की जिंदगी थी,

मेरे हालात क्या बदले 

तुम्हे भी वक़्त ना लगा बदलने में,


Tujhse Khafa Bhi Rehte The 
Aur Wafa Bhi Karte The,

Pahle Tujhe Khona Nahi Chahte The 

Ab Tujhe Pana Nahi Chahte Hain,

तुझसे खफा भी रहते थे 

और वफा भी करते थे 

पहले तुझे खोना नहीं चाहते थे 

अब तुझे पाना नहीं चाहते हैं,


Nafrate Samundar Ko Dekh Ke 
Sikha Hai Mene Pyar Karna,

Jab Tak Mohabbat Hai Khubsurat Najara Hai 

Aur Dil Duta Ho To Har Taraf Tabahi Hai.

नफरतें समुंदर को देख के 

सीखा है मैने प्यार करना ,

जब तक मोहब्बत है खूबसूरत नजारा है 

और दिल टूटा हो तो हर तरफ तबाही है,


Jab Hum Muskurate The To 
Udashiyan Bhi Kehti This Masha Allah,

Tere Pyar Me Khuda Ko Itna Badal Diya 

Ab Duniya Kehti Hai Toba Allah,

जब हम मुस्कुराते थे तो 

उदशिया भी कहती थी मासा अल्लाह,

तेरे प्यार में खुद को इतना बदल दिया 

अब दुनिया कहती है तोबा अल्लाह,


बिन पिए शराब नफरत करना शराब से
ये जहालत(ज्ञान न होना से कम नहीं,


Bin Piye Sharab Nafrat Karna Sharab Se
Ye Jahalat(Gyan Na Hona) Se Kam Nahi,


Nafrat Chand Ki Sitaron Se Ho To Wo 
Apni Chandni Roshni Kam Kar Deta Hai.
Hum Chand To Nahi Par Apni 

Sanse Hum Bhi Kam Kar Sakte Hain,

नफरत चांद की सितारों से हो तो वो 

अपनी चांदनी रोशनी कम कर देता है,
हम चांद तो नहीं पर अपनी 

सांसे हम भी कम कर सकते हैं,


यकीन नहीं दिलाना पड़ता दुनिया को नफरत का,
पर सबूत देना पड़ता है मोहब्बत का,


Yakin Nahi Dilana Padta Duniya Ko Nafrat Ka,
Par Sabut Dena Padta Hai Mohabbat Ka,


Mujh Se Nafrat Ki Ajab Raah Nikali Usne,
Hasta Hua Mera Dil Kar Diya Khali Usne,


Mere Ghar Ki Riwayat Se Wo Khoob Tha Waqif,
Judai Maang Li Ban Ke Sawali Usne.


मुझ से नफरत की अजब राह निकाली उसने,
हसता हुआ मेरा दिल कर दिया खाली उसने,


मेरे घर की रिवायत से वो खूब था वाकिफ,
जुदाई मांग ली बन के सवाली उसने।




तुझ पर कभी निखार
तू भी किसी का प्यार न पाये खुदा करे,
तुझको तेरा नसीब रुलाये खुदा करे,

Tujh Par Kabhi Nikhaar
Tu Bhi Kisi Ka Pyar Na Paye Khuda Kare,
Tujhko Tera Naseeb Rulaye Khuda Kare,




रातों में तुझको नींद न आये खुदा करे,
तू दर-बा-दर की ठोकरें खाये खुदा करे,

Raaton Mein Tujhko Neend Na Aaye Khuda Kare,
Tu Dar-Ba-Dar Ki Thokare Khaye Khuda Kare,




आये बहार तेरे गुलिस्ताँ में बार बार,
तुझ पर कभी निखार न आये खुदा करे.
नफ़रतें दिल को क़बूल

Aaye Bahar Tere Gulistaan Me Bar Bar,
Tujh Par Kabhi Nikhaar Na Aaye Khuda Kare.
Nafratein Dil Ko Qabool



Hai Khabar Achhi Ke Aaja Munh Tera Meetha Karein,
Nafratein Teri Huyi Hain Ba-Khushi Dil Ko Qabool.


है खबर अच्छी के आजा मुँह तेरा मीठा करें,
नफरतें तेरी हुई हैं बा-खुशी दिल को कबूल।




Nafrat Mat Karna Mujhse Mujhe Achha Na Lagega,
Bas Pyar Se Kah Dena Teri Ab Jaroorat Nahi Hai.


नफरत मत करना मुझसे मुझे अच्छा ना लगेगा,
बस प्यार से कह देना तेरी अब जरुरत नहीं है।




Kabhi Usne Bhi Hume Chahat Ka Paigam Likha Tha,
Sab Kuchh Usne Apna Humare Naam Likha Tha,


Suna Hai Aaj Use Humare Zikr Se Bhi Nafrat Hai,
Jisne Kabhi Apne Dil Par Humara Naam Likha Tha.


कभी उसने भी हमे चाहत का पैगाम लिखा था,
सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था,


सुना है आज उसे हमारे जिक्र से भी नफरत है,
जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था।


पाले रहें वो नफरते हम इश्क़ निभाते रहे,
जिंदगी भी ये कट गई खली ही हाथ,


Pale Rahen Wo Nafrate Hum Ishq Nibhate Rahe,
Jindagi Bhi Ye Kat Gai Khali Hi Hath,


बस तेरे एक जिद ने मुझे क्या से क्या करदिया,
दिल की किताब तो बस तेरे लिए थी तूने इसे सरे आम कर दिया,


Bas Tere Ek Jidd Ne Mujhe Kya Se Kya Kardiya,
Dil Ki Kitab To Bas Tere Liye Thi Tune Ne Ise Sare Aam Kar Diya,


Ek Nafrat Hi Hai Jise Duniya
Chand Lamho Mein Jaan Leti Hai,


Varna Chahat Ka Yakeen Dilane Mein To
Zindagi Beet Jati Hai...


एक नफरत ही है जिसे दुनिया
चंद लम्हों मैं जान लेती है,


वरना चाहत का यकीन दिलाने में तो
ज़िन्दगी बीत जाती है...


Agar Tum The Sanam Bewafa To Aankhe Milai Hi Kyou Thi,
Chod Ke Jana Hi Tha To Apni Aadat Lagai Hi Kyou Thi,


अगर तुम थे सनम बेवफा तो आंखे मिलाई ही क्यूं थी,
छोड़ के जाना ही था तो अपनी आदत लगाई ही क्यूं थी,


Jindagi Bhar Tujh Se Milne Ki Dua Ki Socha Na Tha Aisa Bhi Din Aayega,
Mujhe Aisa Bhi Dua Karni Padegi Aye Khuda Use Dil Se Nikal De,


जिन्दगी भर तुझ से मिलने की दुआ की सोचा ना था ऐसा भी दिन आएगा,
मुझे ऐसा भी दुआ करनी पड़ेगी अये खुदा उसे दिल से निकाल दे,


TAG:
sad shayari, nafrat shayari, love shayari, nafrat, shayari, hindi shayari, dard shayari, romantic shayari, urdu shayari, heart touching shayari, nafrat bhari shayari, heart broken shayari, broken heart shayari, khud se nafrat shayari, sad shayari video, nafrat on love hindi shayari, sad shayari status, emotional shayari, nafrat shayari for boyfriend, pyar se nafrat shayari in hindi