Nafrat Shayari | नफरत शायरी | Hate Shayari | अध्याय 2



Mere Labon Pe Aane Wali 
Muskurahat Ka Password The Tum,
Tum Ne Khud Ko Itna Kyu Badal Liya,

मेरे लबों पे आने वाली 
मुस्कुराहट का पासवर्ड थे तुम,
तुमने खुद को इतना क्यूं बदल लिया,


हक़ देंगे पूरा उसे निभाने का,
कबूल करते हैं नफरत तेरी,


खैरात में जो मिले हमें,
काबुल तो उसकी मोहब्बत भी नहीं करते हम,


Haq Denge Pura Use Nibhane Ka,
Kabul Karte Hain Nafrat Teri,


Khairat Me Jo Mile Hame,
Kabul To Uski Mohabbat Bhi Nahi Karte Hum,


न तुम कभी आ सके और 
न हम कभी जा सके,

न तुम कभी याद कर सके और 
न हम तुम्हे कभी भुला सके,

Na Tum Kabhi Aa Sake Aur 
Na Hum Kabhi Ja Sake,

Na Tum Kabhi Yaad Kar Sake Aur 
Na Hum Tumhe Kabhi Bhula Sake,


Nafrat Ishq Bhi Badi Kamal Ki Hote Hai Unse,
Unse Nafrat Dikhata Hai Aur 

Dil Hi Dil Me Pyar Karta Hai Unse,

नफरतें इश्क़ भी बड़ी की होती है उनसे,
उनसे नफरत दिखता है और 

दिल ही दिल में प्यार करता है उनसे,


Kabhi Baithenge Fursat Me Khuda Ke Samne Aur Puchenge,
Wo Kaunsi Mohabbat Thi Jo Hum Apne Yaar Ko De Na Sake,

कभी बैठेंगे फुरसत में खुदा के सामने और पूछेंगे,
वो कौनसी मोहब्बत थी जो हम अपने यार को दे ना सके,


Tum Na The Meri Kismat Me Isliye Milke Bhi Bichad Gaye,
Agar Hote Kismat Me To Bichad Ke Bhi Mil Jate,


तुम ना थे मेरी किस्मत में इसलिए मिलके भी बिछड़ गए,
अगर होते किस्मत में तो बिछड़ के भी मिल जाते,


Humne To Logon Ko Saccha Pyar Bhi Bhulate Dekha Hai,
Mujhse Tera Jhuta Pyar Bhi Nahi Bulaya Jata,


हमने तो लोगों को सच्चा प्यार भी भूलते देखा है,
मुझसे तेरा झुटा प्यार भी नहीं भुलाया जाता,


नफरतों के बाजार में प्यार बेचते है,
और कीमत में बस दुआ लेते है,

Nafraton Ke Bazar Me Pyar Bechate Hai,
Aur Kimat Me Bas Dua Lete Hai,


Dil Par Na Mere Yun Waar Kijiye,
Chodo Yeh Nafrat Thoda Pyar Kijiye,


Tadapte Hain Jis Kadar Tere Pyar Mein Hum,

Kabhi Khud Ko Bhi Us Kadar Bekarar Kijiye.

दिल पर न मेरे यूँ वार कीजिये,
छोहो ये नफरत थोड़ा प्यार कीजिये,


तड़पते हैं जिस कदर तेरे प्यार में हम,

कभी खुद को भी उस कदर बेकरार कीजिये।




Agar Hamari Ulfaton Se Tang Aa Jao To Bata Dena,
Hume Nafrat To Gawara Hai Magar Dikhawe Ki Mohabbt Nahin.

अगर हमारी उल्फतों से तंग आ जाओ तो बता देना,
हमें नफरत तो गवारा है मगर दिखावे की मोहब्बत नहीं।




Humein Barbaad Karna Hai To Humse Pyar Karo,
Nafrat Karoge To Khud Barbaad Ho Jaoge.

हमें बर्बाद करना है तो हमसे प्यार करो,
नफरत करोगे तो खुद बर्बाद हो जाओगे।




Mohabbat Karne Se Fursat Nahi Mili Yaaro,
Varna Hum Karke Batate Ke Nafrat Kisko Kehte Hain.

मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली यारो,
वरना हम करके बताते के नफरत किसको कहते हैं।




Jarurat Hai Mujhe Naye Nafrat Karne Walon Ki,
Purane To Ab Mujhe Chahne Lage Hain.

जरुरत है मुझे नए नफरत करने वालों की,
पुराने तो अब मुझे चाहने लगे हैं।


Tujhe Pta Nahi To Mujhse Aa Ke Puch Le,
Bahut Fark Hota Hai Dil Se Utarne Me Aur Dil Se Utarne Me,


तुझे पता नहीं तो मुझसे आ के पूछ ले,
बहुत फर्क होता है दिल से उतारने में दिल से उतरने में,



नफरतों के लिए यहाँ वजह ढूंढी जाती है,
बिना किसी वजह सिर्फ मोहब्बत होती है,

Nafraton Ke Liye Yaha Wajah Dhundhi Jati Hai,
Bina Kisi Wajah Sirf Mohabbat Hoti Hai,



Hum Wo Na The Jo Time Pas Ke Liye Tumhe Yaad Karte,
Hume To Apne Busy Time Se Bhi Waqt Udhar Leke Tumhe Yaad Karte The,


हम वो ना थे जो टाइम पास के लिए तुम्हे याद करते थे,
हम तो अपने बीजी टाइम से भी वक़्त उधार लेकर तुम्हे याद करते थे,


मेरे दिल ने मुझे ऐसा बना दिया,
हम तुम्हे चुरा तो सकते हैं पर भुला नाही सकते,

Mere Dil Ne Mujhe Aisa Bana Diya,
Hum Tumhe Chura To Sakte Hain Par Bhula Nahi Sakte,



TAG:
sad shayari, nafrat shayari, love shayari, nafrat, shayari, hindi shayari, dard shayari, romantic shayari, urdu shayari, heart touching shayari, nafrat bhari shayari, heart broken shayari, broken heart shayari, khud se nafrat shayari, sad shayari video, nafrat on love hindi shayari, sad shayari status, emotional shayari, nafrat shayari for boyfriend, pyar se nafrat shayari in hindi