Latest Two Line Shayari In Hindi | अध्याय 3


two line shayari, two line hindi shayari, two line shayari hindi, two line shayari in hindi, two line love shayari, two line shayari for love, two line shayari love, two line shayari on love, two line sad shayari, two line shayari sad, two line shayari romantic, two line shayari urdu, two line urdu shayari, two line shayari in urdu, two line shayari collections hindi, two line shayari in hindi font, two line shayari on zindagi, two line shayari on life, two line shayari of ghalib, two line shayari in punjabi, two line shayari attitude, two line shayari dp, two line shayari on nature, two line shayari in hindi on love, two line shayari on muskan
आज फिर ज़िन्दगी ने एक नया सबक दिया,
आज फिर अपनों ने मुझे गैर कर दिया.

Aaj Phir Zindagi Ne Ek Naya Sabaq Diya,
Aaj Phir Apno Ne Mujhe Gair Kar Diya.



तुम दूर..
बहुत दूर हो मुझसे..
ये तो जानता हूँ मैं…

पर तुमसे करीब मेरे कोई नही है..
बस ये बात तुम याद रखना.

Tum Door..
Bahut Door Ho Mujhase..
Ye To Jaanata Hoon Main…

Par Tumse Kareeb Mere Koee Nahee Hai..
Bas Ye Baat Tum Yaad Rakhana…



बंद कर दिए है हमने दरवाज़ें “इश्क” के…
पर तेरी याद हे की “दरारों” मे से भी आ जाती हैं

Band Kar Die Hai Hamane Daravaazen “Ishk” Ke…

Par Teree Yaad He Kee “Daraaron” Me Se Bhee Aa Jaatee Hain



यू तो खुश है,
जमाना मेरी शोहरत से..
मगर कुछ लोग हैं,
जिनका दम निकलता हैं|

Yoo To Khush Hai,
Jamaana Meree Shoharat Se..
Magar Kuchh Log Hain,
Jinaka Dam Nikalata Hain|



तोड़ कर जोड़ लो चाहे हर चीज़ दुनिया की..
सब की मरम्मत मुमकिन है एतबार के सिवा|


Tod Kar Jod Lo Chaahe Har Cheez Duniya Kee..
Sab Kee Marammat Mumakin Hai Etabaar Ke Siva|



मसला ये नहीं क तेरा हुँ 
मसला ये है क सिर्फ तेरा हो..

Masla Ye Nahi K Tera Hu 
Masla Ye Hai K Sirf Tera Hu..


कुछ तो है जो बदल गया जिन्दगी में मेरी
अब आइने में चेहरा मेरा हँसता हुआ नज़र नहीं आता…

Kuchh To Hai Jo Badal Gaya Jindagee Mein Meree

Ab Aaine Mein Chehara Mera Hansata Hua Nazar Nahin Aata…



चलो उसका नही तो खुदा का एहसान लेते हैं…
वो मिन्नत से ना माना तो मन्नत से मांग लेते हैं.

Chalo Usaka Nahee To Khuda Ka Ehasaan Lete Hain…

Vo Minnat Se Na Maana To Mannat Se Maang Lete Hain..



अब जो रूठोगे तोह हार जाउंगी..
मानाने का हुनर भूल चुकी हु

Ab Jo Roothoge Toh Haar Jaungee..
Maanaane Ka Hunar Bhool Chukee Hu|



बचपन में तो शामें भी हुआ करती थी,
अब तो बस सुबह के बाद रात हो जाती है!

Bachapan Mein To Shaamen Bhee Hua Karatee Thee,
Ab To Bas Subah Ke Baad Raat Ho Jaatee Hai!



मैंने अपने ख्वाहिशो को दिवार में चुनवा दिया,
खामखाँ जिंदगी में अनारकली बनके नाच रही थी !

Mainne Apane Khvaahisho Ko Divaar Mein Chunava Diya,
Khaamakhaan Jindagee Mein Anaarakalee Banake Naach Rahee Thee !



कभी रजामंदी,
तो कभी बगावत है इश्क..
मोहब्बत राधा की है,
तो मीरा की इबादत है इश्क..

Kabhi Rajaamandee,
To Kabhee Bagaavat Hai Ishk..
Mohabbat Raadha Kee Hai,
To Meera Kee Ibaadat Hai Ishk..



अब लोग पूछते हैं हमसे..
तुम कुछ बदल गए होबताओ टूटे हुए पत्ते अब ..
रंग भी न बदलें क्या..

Ab Log Poochhate Hain Hamase..
Tum Kuchh Badal Gae Hobatao Toote Hue Patte Ab ..
Rang Bhee Na Badalen Kya..



अजीब रंगो में गुजरी है मेरी जिंदगी।
दिलों पर राज़ किया पर मोहब्बत को तरस गए।

Ajeeb Rango Mein Gujaree Hai Meree Jindagee.
Dilon Par Raaz Kiya Par Mohabbat Ko Taras Gae.


Mere Saamne Kar Diye Meri Tasveer K Tukde-Tukde..
Pata Chala Mere Peechhe Wo Unhe Jod Kar Bahut Roye.



मेरी आँखों में मत ढूंढा करो खुद को,
पता है ना..
दिल में रहते हो खुदा की तरह।

Meree Aankhon Mein Mat Dhoondha Karo Khud Ko,
Pata Hai Na..
Dil Mein Rahate Ho Khuda Kee Tarah.



पहले ज़मीं बाँटी फिर घर भी बँट गया..
इनसान अपने आप मे कितना सिमट गया|

Pahale Zameen Baantee Phir Ghar Bhee Bant Gaya..
Inasaan Apane Aap Me Kitana Simat Gaya|



क्या बताऊँ इस दिल का आलम 
नसीब में लिखा है इंतज़ार करना

Kya Bataoon Is Dil Ka Aalam Naseeb 

Mein Likha Hai Intazaar Karana



जो मेरे बुरे वक्त में मेरे साथ है
मे उन्हें वादा करती हूँ मेरा 
अच्छा वक्त सिर्फ उनके लिए होगा

Jo Mere Bure Vakt Mein Mere Saath Hai

me Unhen Vaada Karatee Hoon Mera 
Achchha Vakt Sirph Unake Lie Hoga



ईश्क की गहराईयो में खूब सूरत क्या है,
मैं हूं ,
तुम हो,
और कुछ की जरूरत क्या है!

Eeshk Kee Gaharaeeyo Mein Khoob Soorat Kya Hai,
Main Hoon,
Tum Ho,
Aur Kuchh Kee Jaroorat Kya Hai!



दो रास्ते जींदगी के,
दोस्ती और प्यार.!
एक जाम से भरा,
दुसरा इल्जाम से..

Do Raaste Jeendagee Ke,
Dostie Aur Pyaar.!
Ek Jaam Se Bhara,
Dusara Iljaam Se..



ख्वाहिश-ए-ज़िंदगी बस इतनी सी है अब मेरी,
कि साथ तेरा हो और ज़िंदगी कभी खत्म न हो।

Khvaahish-E-Zindagee Bas Itanee See Hai Ab Meree,
Ki Saath Tera Ho Aur Zindagee Kabhee Khatm Na Ho.



बस यही दो मसले, जिंदगीभर ना हल हुए!
ना नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुकम्मल हुए!

Bas Yahee Do Masale,
Jindageebhar Na Hal Hue!

Na Neend Pooree Huee,
Na Khvaab Mukammal Hue!



सुनो!
या तो मिल जाओ,
या बिछड जाओ,
यू सासो मे रह कर बेबस ना करो|

Suno!
Ya To Mil Jao,
Ya Bichhad Jao,
Yoo Saaso Me Rah Kar Bebas Na Karo|



जब किसी से कोई गिला रखना सामने अपने आईना रखना।

Jab Kisee Se Koee Gila Rakhana Saamane Apane Aaeena Rakhana.



बड़े अजीब से हो गए रिश्ते आजकल..
सब फुरसत में हैं पर वक़्त किसी के पास नही.


Bade Ajeeb Se Ho Gae Rishte Aajakal..
Sab Phurasat Mein Hain Par Vaqt Kisee Ke Paas Nahee.


रोने की वजह न थी हसने का बहाना न था
क्यो हो गए हम इतने बडे इससे अच्छा तो वो बचपन का जमाना था!

Rone Kee Vajah Na Thee Hasane Ka Bahaana Na Tha

kyo Ho Gae Ham Itane Bade Isase Achchha To Vo Bachapan Ka Jamaana Tha!



कितने मज़बूर है हम तकदीर के हाथो..
ना तुम्हे पाने की औकात रखतेँ हैँ,
और ना तुम्हे खोने का हौसला.


Kitane Mazaboor Hai Ham Takadeer Ke Haatho..
Na Tumhe Paane Kee Aukaat Rakhaten Hain,
Aur Na Tumhe Khone Ka Hausala.



अजीब खेल है इस मोहब्बत का,
किसी को हम न मिले और न कोई हमे मिला।

Ajeeb Khel Hai Is Mohabbat Ka,
Kisee Ko Ham Na Mile Aur Na Koee Hame Mila.



Sambhaal Ke Rehna Aise Logo Se,
Jin Ke Dil Mein Bhi Dimaag Hota Hai.



Ab Dekhiye To,
Kis Ki Jaan Jaati Hai,
Maine Us Ki,
Us Ne Meri Qasam Khayi Hai!



छोटा है मुहब्बत लफ्ज,
मगर तासीर इसकी प्यारी है.इसे दिल से करोगे तुम,
तो ये सारी दुनियाँ तुम्हारी है.


Chhota Hai Muhabbat Laphj,
Magar Taaseer Isakee Pyaaree Hai.Ise Dil Se Karoge Tum,
To Ye Saaree Duniyaan Tumhaaree Hai.



शायद कुछ दिन और लगेंगे,
ज़ख़्मे-दिल के भरने में,
जो अक्सर याद आते थे वो कभी-कभी याद आते हैं।

Shaayad Kuchh Din Aur Lagenge,
Zakhme-Dil Ke Bharane Mein,
Jo Aksar Yaad Aate The Vo Kabhee-Kabhee Yaad Aate Hain.



मैं खुद भी अपने लिए अजनबी हूं ..
मुझे गैर कहने वाले..
तेरी बात मे दम है.


Main Khud Bhee Apane Lie Ajanabee Hoon ..
Mujhe Gair Kahane Vaale..
Teree Baat Me Dam Hai.



Use Hum Chor De Lekin Bus Ik Choti Si Uljhan Hai,
Suna Hai Dil Se Dharkan Ki Judai Mout Hoti Hai..



ना प्यार कम हुआ है ना ही प्यार का अहेसास,
बस उसके बिना जिन्दगी काटने की आदत हो गई है !

Na Pyaar Kam Hua Hai Na Hee Pyaar Ka Ahesaas,
Bas Usake Bina Jindagee Kaatane Kee Aadat Ho Gaee Hai !



कागज अपनी क़िस्मत से उड़ता है और पतंग अपनी काबिलियत से,
क़िस्मत साथ दे या न दे पर काबिलियत जरुर साथ देगी..

Kaagaj Apanee Qismat Se Udata Hai Aur Patang Apanee Kaabiliyat Se,
Qismat Saath De Ya Na De Par Kaabiliyat Jarur Saath Degee..



धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक।।
क्योंकि हर पत्थर हीरा नहीं होता।।

Dhokha Detee Hai Aksar Maasoom Chehare Kee Chamak..
Kyonki Har Patthar Heera Nahin Hota..



मजबूर ना करेंगे तुझे वादे निभाने के लिए।
तू एक बार वापस आ अपनी यादें ले जाने के लिए।

Majaboor Na Karenge Tujhe Vaade Nibhaane Ke Lie.

Too Ek Baar Vaapas Aa Apanee Yaaden Le Jaane Ke Lie.



देखते हैं अब क्या मुकाम आता है साहेब,
सूखे पत्ते को इश्क़ हुआ है बहती हवा से।

Dekhate Hain Ab Kya Mukaam Aata Hai Saaheb,
Sookhe Patte Ko Ishq Hua Hai Bahatee Hava Se.



मोहब्बत हमारी भी असर रखती है,
बहुत याद आएंगे ज़रा भूल कर तो देखो..!!

Mohabbat Hamari Bhi Asar Rakhti Hai,
Bahut Yaad Aayenge Zara Bhool Kar To Dekho..!!


तजुर्बा कहता है मोहब्बत से किनारा कर लूँ…
और दिल कहता हैं की ये तज़ुर्बा दोबारा कर लू|

Tajurba Kahata Hai Mohabbat Se Kinaara Kar Loon…

Aur Dil Kahata Hain Kee Ye Tazurba Dobaara Kar Loo|



यह इनाएतें गज़ब की यह बला की मेहेरबानी,
मेरी खेरियत भी पूछी किसी और की ज़बानी।

Yah Inaeten Gazab Kee Yah Bala Kee Meherabaanee,
Meree Kheriyat Bhee Poochhee Kisee Aur Kee Zabaanee.



सीने में धङकता जो हिस्सा है,
उसी का तो ये सारा किस्सा है !

Seene Mein Dhanakata Jo Hissa Hai,
Usee Ka To Ye Saara Kissa Hai !
Nikle Hum Duniya Ki Bhid Mein To Pata Chala,
Har Wo Shakhs Tanha Hai Jisne Pyar Kiya.



मोहब्बत की आजमाइश दे दे कर थक गया हूँ..
ऐ खुदा किस्मत मेँ कोई ऐसा लिख दे जो मौत तक वफा करे|

Mohabbat Kee Aajamaish De De Kar Thak Gaya Hoon..
Ai Khuda Kismat Men Koee Aisa Likh De Jo Maut Tak Vapha Kare



कुछ इसलिये भी ख्वाइशो को मार देता हूँ
माँ कहती है घर की जिम्मेदारी है तुझ पर

Kuchh Isaliye Bhee Khvaisho Ko Maar Deta Hoon

Maa Kahatee Hai Ghar Kee Jimmedaaree Hai Tujh Par



मोहब्बत रोग है दिल का इसे दिल पे ही छोड़ दो,
दिमाग को अगर बचा लो तो भी गनीमत हो..

Mohabbat Rog Hai Dil Ka Ise Dil Pe Hee Chhod Do,
Dimaag Ko Agar Bacha Lo To Bhee Ganeemat Ho..



थोङा ऐतबार करो मुझ परदोस्त हूँ मैं,
कोई गैर नही मुहब्बत हुई है,
गुनाह तो नही.


Thona Aitabaar Karo Mujh Par
Dost Hoon Main,
Koee Gair Naheemuhabbat Huee Hai,
Gunaah To Nahee..



तुझ से रूठने का हक है मुझ को..
पर मुझ से तुम रूठो यह अच्छा नहीं लगता|

Tujh Se Roothane Ka Hak Hai Mujh Ko..
Par Mujh Se Tum Rootho Yah Achchha Nahin Lagata|



हाल तो पूछ लू तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,
ज़ब ज़ब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।

Haal To Poochh Loo Tera Par Darata Hoon Aavaaz Se Teree,
Zab Zab Sunee Hai Kamabakht Mohabbat Hee Huee Hai.



Teri Muskurahat,
Tere Kah-Kahe Kisi Aor Ke The,
Jo Teri Ankho Se Tha Tapka,
Wo Main Tha..


नहीं अब जख़्म कोई ग़हरा चाहिये..
बस तेरी दुआओं का पहरा चाहिये।

Nahin Ab Jakhm Koee Gahara Chaahiye..
Bas Teree Duaon Ka Pahara Chaahiye.



Dilasa Dete Hein Log,
Ke Yun Har Waqt Na Roya Karo…

Mein Kaise Bataon Ke Kuch Dard Sehne Ke Qabil Nahi Hote


आज़ाद कर दूंगा तुमको अपनी मुहब्बत की क़ैद से,
करे जो हमसे बेहतर तुम्हारी क़दर पहले वो शख्स तो ढूँढो.


Aazaad Kar Doonga Tumako Apanee Muhabbat Kee Qaid Se,
Kare Jo Hamase Behatar Tumhaaree Qadar Pahale Vo Shakhs To Dhoondho..


TAG:
two line shayari, two line hindi shayari, two line shayari hindi, two line shayari in hindi, two line love shayari, two line shayari for love, two line shayari love, two line shayari on love, two line sad shayari, two line shayari sad, two line shayari romantic, two line shayari urdu, two line urdu shayari, two line shayari in urdu, two line shayari collections hindi, two line shayari in hindi font, two line shayari on zindagi, two line shayari on life, two line shayari of ghalib, two line shayari in punjabi, two line shayari attitude, two line shayari dp, two line shayari on nature, two line shayari in hindi on love, two line shayari on muskan